Monday, June 24, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षायुवकों को पढ़ाया जा रहा कट्टरपंथ, हो रही स्टिकी बम की सप्लाई: G-20 बैठक...

युवकों को पढ़ाया जा रहा कट्टरपंथ, हो रही स्टिकी बम की सप्लाई: G-20 बैठक से पहले NIA ने जम्मू-कश्मीर के 7 जिलों में मारी रेड, 20 दिन में 70 ठिकानों पर छापेमारी

टेरर फंडिंग केस में NIA की टीमें 15 अलग-अलग लोकेशन पर रेड मारने पहुँचीं। ये लोकेशन अवंतीपुरा, पुँछ, अनंतनाग, श्रीनगर और कुपवाड़ा आदि स्थानों पर हैं। टेरर फंडिंग केस में NIA द्वारा पहले से ही FIR दर्ज है जिसमें पहले भी गिरफ्तारियाँ की गईं हैं।

कश्मीर के श्रीनगर में होने वाले G- 20 सम्मेलन से पहले राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) ने पुलवामा और हंदवाड़ा सहित कुल 7 जिलों में छापेमारी की है। यह छापेमारी आतंकी नेटवर्क से जुड़े लोगों के ठिकानों पर की गई है। जाँच एजेंसी को इनपुट मिले थे कि आतंकी संगठनों से जुड़े कुछ ओवर ग्राउंड संदिग्ध युवाओं को कट्टरपंथ का पाठ पढ़ा रहे हैं और उन्हें स्टिकी बम सप्लाई कर रहे हैं। NIA की यह कार्रवाई टेरर फंडिग से जुड़े लोगों पर भी है। यह छापा शनिवार (20 मई 2023) को पड़ा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक NIA ने दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में कई गाँवों में एक साथ दबिश दी है। NIA को जमात ए इस्लामी से जुड़े उन लोगों की तलाश है जो घाटी में आतंकी गतिविधियों के लिए आने वाली फंडिंग में किसी न किसी रूप में शामिल हैं। NIA के साथ कश्मीर पुलिस बल और CRPF के जवान मौजूद हैं। बताया जा रहा है कि NIA की टीमें 15 अलग-अलग लोकेशन पर पहुँची हैं। ये लोकेशन अवंतीपुरा, पुँछ, अनंतनाग, श्रीनगर और कुपवाड़ा आदि स्थानों पर हैं। टेरर फंडिंग केस में NIA द्वारा पहले से ही FIR दर्ज है जिसमें पहले भी गिरफ्तारियाँ की गईं हैं।

हालाँकि इस छापेमारी में हुई गिरफ्तारी या बरामद सामान आदि की जानकारी अभी सार्वजानिक नहीं हुई है। बताते चलें कि जाँच और सुरक्षा एजेंसियाँ पिछले 20 दिनों में जम्मू और कश्मीर मिला कर कुल 70 जगहों पर छापेमारी कर चुकी हैं। इस कार्रवाई में आतंकी संगठनों से जुड़े कई ओवरग्राउंड और अंडरग्राउंड संदिग्ध पकड़े गए है। इसी के साथ NIA ने आतंकियों को की जाने वाली कई फंडिंग सोर्स को भी ट्रेस किया है।

गौरतलब है कि G 20 सम्मेलन के दौरान 22 से 24 मई 2023 के बीच एक मीटिंग कश्मीर के श्रीनगर में भी प्रस्तावित है। यह मीटिंग श्रीनगर के शेर ए कश्मीर इंटरनेशनल कांफ्रेस सेंटर में आयोजित होगी। इस मीटिंग में G 20 टूरिज़्म ग्रुप के लोग हिस्सेदारी करेंगे। इस आयोजन के लिए सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चौबंद किया गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों के आंदोलन से तंग आ गए स्थानीय लोग: शंभू बॉर्डर खुलवाने पहुँची भीड़, अब गीदड़-भभकी दे रहे प्रदर्शनकारी

किसान नेताओं ने अंबाला शहर अनाज मंडी में मीडिया बुलाई, जिसमें साफ शब्दों में कहा कि आंदोलन खराब नहीं होना चाहिए। आंदोलन खराब करने वाला खुद भुगतेगा।

‘PM मोदी ने किया जी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उद्घाटन, गिर गई उसकी दीवार’: News24 ने फेक न्यूज़ परोस कर डिलीट की ट्वीट,...

अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन से जुड़े जिस दीवार के दिसंबर 2023 में बने होने का दावा किया जा रहा है, वो दावा पूरी तरह से गलत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -