Monday, October 18, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाबांदीपोरा में पिछले साल भाजपा नेता और उनके परिवार की हत्या करने वाले आतंकियों...

बांदीपोरा में पिछले साल भाजपा नेता और उनके परिवार की हत्या करने वाले आतंकियों का सुरक्षाबलों ने किया खात्मा, 2 आतंकी ढेर

इन दो आतंकियों का मारा जाना सुरक्षाबलों के लिए बड़ी सफलता है। सज्जाद युवाओं को आतंकी संगठनों में भर्ती करता था और पुलिस, नागरिकों और राजनीतिक कार्यकर्ताओं पर हमलों में शामिल था।

जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा इलाके में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में 2 आतंकियों को मार गिराया है। कश्मीर पुलिस ने रविवार (26 सितंबर, 2021) को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि उत्तरी कश्मीर के बांदीपोरा जिले में मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने उस आतंकवादी को भी मार गिराया है, जिसने पिछले साल जुलाई में भाजपा नेता के परिवार के तीन सदस्यों को गोली मार दी थी। इस ऑपरेशन में सेना की 14 राष्ट्रीय राइफल्स के जवान शामिल हुए हैं। ऑपरेशन के बाद इलाके में बड़ी संख्या में जवानों को तैनात किया गया है।

बांदीपोरा पिछले कई वर्षों से अपेक्षाकृत शांत रहा है। ऐसे में परिवार के तीनों लोगों की हत्या से सभी को बड़ा झटका लगा ​था। इससे पहले बारामूला में 17 अगस्त, 2020 को शुरू हुए मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकवादियों को ढेर किया था। इसमें लश्कर-ए-तैयबा के दो टॉप कमांडर्स सज्जाद उर्फ हैदर और उस्मान भी शामिल थे।

आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने 18 अगस्त, 2020 को बताया था कि सज्जाद हैदर बीजेपी नेताओं की हत्या का मुख्य साजिशकर्ता था, जबकि विदेशी आतंकी उस्मान ने वसीम बारी, उनके पिता और भाई की हत्या की थी। इन दो आतंकियों का मारा जाना सुरक्षाबलों के लिए बड़ी सफलता है। सज्जाद युवाओं को आतंकी संगठनों में भर्ती करता था और पुलिस, नागरिकों और राजनीतिक कार्यकर्ताओं पर हमलों में शामिल था।

गौरतलब है कि 8 जुलाई 2020 को 27 वर्षीय शेख वसीम बारी के अलावा, उनके पिता शेख बशीर अहमद और भाई शेख उमर की आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। हमला बांदीपोरा पुलिस स्टेशन के ठीक बाहर हुआ, जब तीनों अपनी दुकान पर थे। वसीम बारी बांदीपोरा जिले के पूर्व बीजेपी अध्यक्ष भी थे। उमर भाजपा की जिला युवा इकाई का सदस्य थे, जबकि उनके पिता बशीर शेख भाजपा के जिला उपाध्यक्ष रह चुके थे।

वसीम बारी की हत्या के बाद आतंकियों की तरफ से फरमान जारी किया गया था। जिसमें आतंकियों ने बीजेपी नेताओं को इस्तीफा देने के लिए कहा था। यह आतंकियों का खौफ ही था कि तब से अब तक करीब एक दर्जन बीजेपी नेता पार्टी से इस्तीफा दे चुके हैं। वहीं बीजेपी से जुड़े कई लोगों की हत्या कर दी गई है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सरदार पटेल की जिन्ना से थी साँठ-गाँठ’: सोनिया-राहुल की बैठक में कश्मीरी नेता का बयान, BJP ने बताया ‘लौह पुरुष’ का अपमान

जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर के सांसद रहे तारिक हमीद कारा पर कॉन्ग्रेस पार्टी की बैठक में सरदार पटेल पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने का आरोप।

‘मैं सिखाऊँगा दीवाली अच्छे से कैसे मनाएँ’: विराट कोहली के ‘ज्ञान’ पर लोगों ने कहा – हम सिखा सकते हैं आप कप्तानी कैसे करें?

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि वो अगले कुछ दिनों में वीडियो के जरिए लोगों को दीवाली मनाने के टिप्स देंगे। लोग हुए नाराज़।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,734FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe