Friday, June 21, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाराहुल भट के बाद आतंकियों ने पुलिसकर्मी को घर में घुसकर मारी गोली: कश्मीरी...

राहुल भट के बाद आतंकियों ने पुलिसकर्मी को घर में घुसकर मारी गोली: कश्मीरी पंडित बोले- सुरक्षा दो, वरना नौकरियों से देंगे इस्तीफा

कश्मीरी पंडित और राजस्व विभाग के कर्मचारी राहुल भट की हत्या करने के बाद 13 मई 2022 की सुबह दहशतगर्दों ने एक पुलिसकर्मी के घर में घुसकर उन्हें गोली मार दी। 15 घंटों के भीतर ये दूसरी आतंकी घटना है।

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के पुलवामा में आतंकियों ने 15 घंटे के भीतर दूसरी घटना को अंजाम दिया है। गुरुवार (12 मई 2022) दोपहर को कश्मीरी पंडित और राजस्व विभाग के कर्मचारी राहुल भट की हत्या करने के बाद शुक्रवार (13 मई 2022) सुबह दहशतगर्दों ने एक पुलिसकर्मी के घर में घुसकर उन्हें गोली मार दी। स्थानीय पुलिस अधिकारी ने बताया कि रियाज अहमद ठोकर अपने घर गुदूरा में मौजूद थे। इस बीच कुछ आतंकियों ने उन पर फायरिंग कर दी। इसमें वह गंभीर रूप से जख्मी हो गए हैं। उन्हें तुरंत अस्पताल भर्ती कराया गया, जहाँ उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।

वहीं, चदूरा तहसील कार्यालय के कर्मचारी राहुल भट की आतंकवादियों द्वारा हत्या किए जाने के खिलाफ कश्मीरी पंडितों ने शेखपोरा और बडगाम में विरोध प्रदर्शन किया। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, कश्मीरी पंडित अमित कहते हैं, “एलजी प्रशासन हमें सुरक्षा मुहैया कराए, नहीं तो हम अपने-अपने पदों से सामूहिक इस्तीफे दे देंगे।”

आतंकवादियों की तलाश में सुरक्षाबलों ने अभियान शुरू कर दिया है। इससे पहले बडगाम में गुरुवार को दफ्तर में घुसकर आतंकियों ने कश्मीरी पंडित राहुल भट की हत्या कर दी थी। कश्मीर जोन पुलिस ने ट्वीट किया था, “तहसीलदार कार्यालय चदूरा, बडगाम में आतंकवादियों ने अल्पसंख्यक समुदाय के एक कर्मचारी राहुल भट पर गोलियाँ चलाईं। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।” हालाँकि, अस्पताल में भर्ती कराने के थोड़ी देर बाद ही उन्होंने दम तोड़ दिया था। इससे पहले जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में शनिवार (7 मई 2022) को आतंकवादियों ने एक पुलिसकर्मी गुलाम हसन को गोली मारकर घायल कर दिया था। इसके तुरंत बाद घायल कांस्टेबल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में हसनपोरा के बिजबेहरा में 29 जनवरी 2022 को संदिग्ध आतंकवादियों (Terrorist Attack) ने प्रदेश पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल अली मोहम्मद गनी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। वह कुलगाम थाने में तैनात थे। आतंकियों द्वारा हमला किए जाने के बाद गनी को अस्पताल ले जाया जा रहा था, लेकिन रास्ते में ही उनकी मौत हो गई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -