Sunday, May 29, 2022
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षास्टिकी बम से वैष्णो देवी जाने वाले बस में आतंकियों ने लगाई आग, J&K...

स्टिकी बम से वैष्णो देवी जाने वाले बस में आतंकियों ने लगाई आग, J&K फ्रीडम फाइटर्स आतंकी समूह ने ली जिम्मेदारी: रिपोर्ट

बस में आग लगाने के लिए आतंकियों ने स्टिकी बम (ऐसा बम जिसे आसानी से चिपकाया जा सकता है) का प्रयोग किया। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार "जे एंड के फ्रीडम फाइटर्स" नाम के आतंकी समूह ने इस घटना को अंजाम देने की जिम्मेदारी ली है।

जम्मू कश्मीर में माँ वैष्णो देवी के श्रद्धालुओं से भरी एक बस में 13 मई 2022 (शुक्रवार) को आग लग गई थी। इस यह बस कटरा से जम्मू की तरफ जा रही थी। इस अग्निकांड में 4 लोगों की मौत हो गई थी। 20 अन्य लोग झुलस गए थे। इस घटना को लेकर सुरक्षा विशेषज्ञ रिटायर्ड ब्रिगेडियर हेमंत महाजन ने आतंकी एंगल होने का दावा किया है। इस बीच NIA की टीम ने घटनास्थल पर जा कर जाँच की है।

14 मई 2022 (शनिवार) को रिपब्लिक न्यूज़ पर उन्होंने कहा, “अगर आप अमरनाथ यात्रा या अन्य धर्मिक यात्राओं का इतिहास देखें तो पाएँगे कि आतंकियों ने अलग-अलग मौकों पर हमले के कई तरीके अपनाए हैं। आज के समय में आतंकी सीधे सेना से मुकाबला करने की स्थिति में नहीं हैं। इसलिए उन्होंने सॉफ्ट टारगेट तलाशने शुरू कर दिए हैं। इसी कड़ी में उन्होंने पहले राहुल भट को मारा। इसके बाद नए ज्वाइन किए पुलिस कॉन्स्टेबल को मारा।”

ब्रिगेडियर हेमंत (रिटायर्ड) ने आगे कहा, “शत-प्रतिशत सुरक्षा देना आसान काम नहीं है। बस में बारूद भरना आतंकियों के लिए कोई मुश्किल काम नहीं है। ये तो तय है कि आतंकी हमले के हर तरीके आजमाएँगे। लेकिन बड़ा सवाल ये है कि इससे बचाव के लिए हमने कदम क्या उठाए हैं? ऐसे मामले में समय रहते ख़ुफ़िया जानकारियाँ जुटाना पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। इसी के साथ देश भर के अलग-अलग हिस्सों से आने वाले तीर्थयात्रियों को यह सिखाना होगा कि किसी आपात स्थिति में आपको क्या करना है।”

ब्रिगेडियर (रिटायर्ड) महाजन ने आगे कहा, “लोगों को पता होना चहिए कि बस में आग लगने, किसी अन्य के द्वारा गोली चलाने, किसी का ब्लड प्रेशर बिगड़ने या किसी अन्य प्रकार की अनहोनी होने पर उनको क्या करना है। हर वो यात्री जो जम्मू रेलवे स्टेशन, जम्मू एयरपोर्ट या जम्मू बस अड्डे से बाहर निकल कर कहीं के लिए आगे बढ़ रहा है तो वो इन हालातों से निबटने के लिए अपनी तैयारी रखे। वो ध्यान रखे कि आगे किस प्रकार के खतरे मिल सकते हैं और उनका उपाय क्या है। सुरक्षाकर्मियों को भी चाहिए कि हर संदिग्ध पर नजर रखें और हर बस को अच्छे से चेक करें।”

NIA की टीम ने घटनास्थल का दौरा किया है। इस दौरान टीम ने सैम्पल जुटाए हैं। मीडिया रिपोर्ट की मानें तो बस में आग लगाने के लिए आतंकियों ने स्टिकी बम (ऐसा बम जिसे आसानी से चिपकाया जा सकता है) का प्रयोग किया। कई सारे मीडिया ने अपने सूत्र के हवाले से यह जानकारी दी है। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार “जे एंड के फ्रीडम फाइटर्स” नाम के आतंकी समूह ने इस घटना को अंजाम देने की जिम्मेदारी ली है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जम्मू कश्मीर पुलिस के ADG मुकेश सिंह के मुताबिक प्रारम्भिक जाँच में विस्फोटक जैसा कुछ नहीं मिला है लेकिन घटना में जीवित बचे व घटनास्थल के आस-पास रहने वाले लोगों ने बस में विस्फोट की आवाज सुनने की बात कही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘शरिया लॉ में बदलाव कबूल नहीं’: UCC के विरोध में देवबंद के मौलवियों की बैठक, कहा – ‘सब सह कर हम 10 साल से...

देवबंद में आयोजित 'जमीयत उलेमा ए हिन्द' की बैठक में UCC का विरोध किया गया। मौलवियों ने सरकार पर डराने का आरोप लगाया। कहा - ये देश हमारा है।

‘कब्ज़ा कर के बनाई गई मस्जिद को गिरा दो’: मंदिरों को ध्वस्त कर बनाए गए मस्जिदों पर बोले थे गाँधी – मुस्लिम खुद सौंप...

गाँधी जी ने लिखा था, "अगर ‘अ’ (हिन्दू) का कब्जा अपनी जमीन पर है और कोई शख्स उसपर कोई इमारत बनाता है, चाहे वह मस्जिद ही हो, तो ‘अ’ को यह अख्तियार है कि वह उसे गिरा दे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,861FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe