Monday, July 22, 2024
Homeराजनीति'शिवाजी महाराज की धरती पर टीपू सुल्तान का नाम बर्दाश्त नहीं': महाराष्ट्र सरकार बदलेगी...

‘शिवाजी महाराज की धरती पर टीपू सुल्तान का नाम बर्दाश्त नहीं’: महाराष्ट्र सरकार बदलेगी पार्क का नाम, सपा के अबू आजमी बोले- ये इतिहास मिटाने की कोशिश

इस मामले में शिवसेना उद्धव ग्रुप ने भी इंट्री की है। उद्धव गुट का कहना है कि टीपू सुल्तान पार्क का नाम उनकी सरकार में बदला गया था। शिवसेना उद्धव प्रवक्ता आनंद दुबे ने कहा कि वो बाला साहब ठाकरे के आदर्शों पर चलने वाले लोग हैं और कोई भी उन्हें मराठी अस्मिता का पाठ न पढ़ाए।

महाराष्ट्र (Mumbai, Maharashtra) की भाजपा से गठबंधन वाली एकनाथ शिंदे सरकार (CM Eknath Shide) ने राजधानी मुंबई में स्थित टीपू सुल्तान पार्क (Tipu Sultan Park) का नाम बदलने का ऐलान किया है। इस घोषणा के बाद सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच विवाद खड़ा होता दिखाई दे रहा है।

सत्ताधारी भाजपा छत्रपति शिवाजी महाराज की जमीन पर किसी भी हाल में टीपू सुल्तान के नाम पर पार्क बर्दाश्त करने को तैयार नहीं है। वहीं, विपक्ष इसका विरोध करते हुए इसे वोटों के ध्रुवीकरण की राजनीति और इतिहास मिटाने की साजिश बताया है। हालाँकि, शिवसेना के उद्धव गुट का दावा यह भी है कि पार्क का नाम पहले ही क्रांतिकारी अशफाक उल्लाह खान के नाम पर किया जा चुका है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह पार्क मुंबई के मलाड इलाके में स्थित है। महाराष्ट्र के पर्यटन मंत्री मंगल प्रभात लोढ़ा ने शुक्रवार (27 जनवरी 2023) को टीपू सुल्तान पार्क का नाम बदलने का एलान किया था। उन्होंने कहा था कि छत्रपति शिवाजी महाराज की धरती पर टीपू सुल्तान के नाम पर पार्क किसी भी हाल में स्वीकार नहीं किया जाएगा। भाजपा नेता मंगल प्रभात ने पार्क का नाम बदलना दक्षिणपंथियों की जीत बताते हुए कहा था कि यह निर्णय सकल हिन्दू समाज के विरोध और सांसद गोपाल शेट्टी की माँग के बाद लिया गया है।

भाजपा-शिवसेना (शिंदे गुट) गठबंधन सरकार के इस फैसले का विपक्ष ने विरोध किया। विपक्ष के कुछ नेताओं ने तो इसे आने वाले BMC चुनावों में वोटों का ध्रुवीकरण करने की चाल कहा। महाराष्ट्र के सपा नेता अबू आज़मी ने इसे इतिहास मिटाने की साजिश बताते हुए टीपू सुल्तान की शान में कसीदे पढ़े। आज़मी ने टीपू सुल्तान को आज़ादी की लड़ाई लड़ने वाला योद्धा बताते हुए ‘हजरत रहमतुल्लाह अलैहि’ जैसे शब्दों से भी नवाजा।

इस मामले में शिवसेना उद्धव ग्रुप ने भी इंट्री की है। उद्धव गुट का कहना है कि टीपू सुल्तान पार्क का नाम उनकी सरकार में बदला गया था। शिवसेना उद्धव प्रवक्ता आनंद दुबे ने कहा कि वो बाला साहब ठाकरे के आदर्शों पर चलने वाले लोग हैं और कोई भी उन्हें मराठी अस्मिता का पाठ न पढ़ाए।

ABP न्यूज़ का दावा है कि उनकी ग्राउंड रिपोर्ट में पार्क में गेट पर पहले से ही अशफाक उल्लाह खान का नाम दर्ज है। इस नाम के साथ वहाँ महाराष्ट्र के पूर्व कैबिनेट मंत्री और कॉन्ग्रेस के नेता असलम शेख की फोटो भी लगी है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -