Saturday, July 31, 2021
Homeबड़ी ख़बरPM ने कार्यकर्ताओं को दी कड़ी मेहनत की हिदायत- बोले अकेले क्या करेगा मोदी

PM ने कार्यकर्ताओं को दी कड़ी मेहनत की हिदायत- बोले अकेले क्या करेगा मोदी

“आप सबका विश्वास सुनने में अच्छा लगता है कि एक हवा फैलेगी, मोदी आएगा सब ठीक हो जाएगा, सब जीत जाएँगे, बाजी पलट देगा।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी के राष्ट्रीय अधिवेशन को संबोधित करते हुए 2019 के लिए बीजेपी कार्यकर्ताओं को कड़ी मेहनत करने की हिदायत दे दी। पीएम ने कहा कि 2019 का चुनाव कड़ी मेहनत से जीतना है। केवल मोदी पर ही आश्रित नहीं रहना है। सबकी मेहनत ही रंग लाएगी। उन्होंने कहा, “आप सबका विश्वास सुनने में अच्छा लगता है कि एक हवा फैलेगी, मोदी आएगा सब ठीक हो जाएगा, सब जीत जाएँगे, बाज़ी पलट देगा।” उन्होंने संगठन पर बल देते हुए कहा कि मैं भी इसी संगठन का एक बच्चा हूँ और आपको भी संगठन के लिए मेहनत करनी होगी।

पीएम ने अपने 80 मिनट के भाषण में कहा कि चुनाव मज़बूत और मज़बूर सरकार के बीच है, लेकिन हमें तैयारी करके रखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जिस तरह से अच्छी फसल के लिए अच्छे बीज और बारिश की जरूरत होती है, ठीक वैसे ही राजनीतिक ज़मीन को भी तैयार करना पड़ता है। ‘मेरा बूथ सबसे मजबूत हो, यही जीतने का मंत्र है’।

पीएम ने विपक्ष को बताया असहाय

पीएम मोदी ने न सिर्फ कार्यकर्ताओं को 2019 के लिए सजग किया, बल्कि विपक्ष और गठबंधन को लेकर भी उन्होंने खूब तंज कसा। पीएम ने कहा कि चुनाव ‘मज़बूत सरकार और मज़बूर सरकार’ के बीच है। वहीं महागठबंधन पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि सभी पार्टियों ने कॉन्ग्रेस के सामने सरेंडर कर दिया है। अब विपक्ष के पास केवल भाई-भतीजावाद के साथ भ्रष्टाचार बचा हुआ है। विपक्ष के पास ऐसा कोई नेता नहीं है, जो ‘एनडीए’ का विकल्प हो।

पीएम ने कहा, “महागठबंधन टिकने वाला नहीं है, हमने तेलंगाना में इसका ट्रेलर देखा था।” उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने खुद कहा था कि उनका दर्जा किसी क्लर्क से भी बदतर है।

उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि राजनीति एक विचारधारा की तरह होती है। यहाँ सभी लोग एक शख्स के खिलाफ एकजुट हो रहे हैं। हमें इसे समझना चाहिए और इसपर मंथन करने की आवश्यकता है।

सामान्य नागरिक के हित में बदल सकता है देश

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि बीजेपी सरकार ने ये साबित किया है कि देश नागरिकों का है, और देश नागरिकों के लिए बदल भी सकता है। उन्होंने कहा कि सरकार बिना भ्रष्टाचार के कैसे चलाई जा सकती है, लोगों को हमारी सरकार से सीखने की जरूरत है। सरकार ने सत्ता के गलियारों से दलालों को बाहर करने का काम किया है। हमारा मूल मंत्र है, ‘सबका साथ-सबका विकास’ और ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ब्रेअकप के बाद भी मेडिकल छात्रा का पीछा करता था राखिल, केस नहीं दर्ज कराना चाहता था परिवार: सिर व छाती में गोली मार...

हत्यारा राखिल और मृतक छात्रा मनसा 1 साल तक रिलेशनशिप में थे। इसके बाद मनसा ने राखिल से दूरी बनाने का मन बना लिया था। केरल में हत्या की घटना।

‘छोटी काशी’ का श्री ग्यारह रुद्री मंदिर: भारत का इकलौता जहाँ विराजमान हैं 11 रुद्र, श्रीकृष्ण ने की थी स्थापना

हरियाणा के कैथल में स्थित इस शिव मंदिर को भगवान श्री कृष्ण ने बनवाया था और यहाँ स्थापित किए थे 11 रुद्र। यही कारण है कि मंदिर को...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,104FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe