Friday, June 14, 2024
Homeरिपोर्ट'भाजपा कार्यकर्ता अभिजीत सरकार की ऑप्टोसी और DNA रिपोर्ट CBI को सौंपें': मना करने...

‘भाजपा कार्यकर्ता अभिजीत सरकार की ऑप्टोसी और DNA रिपोर्ट CBI को सौंपें’: मना करने पर कलकत्ता हाईकोर्ट ने पुलिस को दिया आदेश

कलकत्ता हाईकोर्ट ने जुलाई 2021 में चुनाव बाद हुई हिंसा में मारे गए भाजपा कार्यकर्ता अभिजीत सरकार का डीएनए टेस्ट कमांड अस्पताल में कराने का आदेश दिया था। इसके साथ ही प्रशासन को इसकी जाँच रिपोर्ट 7 दिन के अंदर कोर्ट में जमा करने का आदेश भी दिया था।

कलकत्ता हाईकोर्ट से पश्चिम बंगाल सरकार को बड़ा झटका लगा है। कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजेश बिंदल की पीठ ने पुलिस और प्रशासन को फटकार लगाते हुए पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हुई हिंसा मामले में सरकार की दूसरी ऑटोप्सी रिपोर्ट और डीएनए रिपोर्ट सीबीआई (CBI) को सौंपने का आदेश दिया है।

इससे पहले हाईकोर्ट की पाँच जजों की बेंच ने इस मामले पर सुनवाई करते हुए भाजपा कार्यकर्ता अभिजीत सरकार की नृशंस हत्या को लेकर पुलिस और प्रशासन को दूसरी ऑटोप्सी रिपोर्ट और डीएनए (DNA) टेस्ट कराने का आदेश दिया था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, हाईकोर्ट ने चुनाव बाद हिंसा के मामलों में हत्या और बलात्कार सहित महिलाओं के खिलाफ अपराधों की अदालत की निगरानी में सीबीआई जाँच का आदेश दिया है। इसके साथ ही अदालत ने अन्य सभी मामलों की जाँच एसआईटी को सौंपी है। आईपीएस अधिकारी सुमन बाला साहू, सौमेन मित्रा और रणबीर कुमार के नेतृत्व में SIT का गठन किया जाएगा। इसकी निगरानी सुप्रीम कोर्ट के एक सेवानिवृत्त न्यायाधीश करेंगे।

गौरतलब है कि कलकत्ता हाईकोर्ट ने जुलाई 2021 में चुनाव बाद हुई हिंसा में मारे गए भाजपा कार्यकर्ता अभिजीत सरकार का डीएनए टेस्ट कमांड अस्पताल में कराने का आदेश दिया था। इसके साथ ही प्रशासन को इसकी जाँच रिपोर्ट 7 दिन के अंदर कोर्ट में जमा करने का आदेश भी दिया था।

बता दें कि पश्चिम बंगाल में 2 मई 2021 को चुनावी नतीजों में तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) की जीत सुनिश्चित होने के बाद हिंसा भड़क उठी थी। विपक्ष खासकर बीजेपी समर्थक इस दौरान उनके निशाने पर थे। बीजेपी से जुड़े जिन लोगों की हत्या की गई, उनमें अभिजीत सरकार और हारन अधिकारी शामिल थे। हिंसा की सीबीआई जाँच व विशेष जाँच दल (SIT) के गठन को लेकर इनके परिजनों की ओर से दाखिल याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने बंगाल सरकार को नोटिस भी जारी किया था।

याचिका पर सुनवाई के दौरान यह तथ्य भी सामने आया कि किस बेरहमी से अभिजीत सरकार की हत्या की गई थी। सरकार की पत्नी जो इस घटना की चश्मदीद भी हैं उन्होंने बताया, “भीड़ ने उनके गले में सीसीटीवी कैमरे का तार बाँध दिया और उससे उनका गला दबाया। उन्हें ईंट और डंडों से पीटा। सिर फाड़ दिया और माँ के सामने उनकी बेरहमी से हत्या कर दी। आँखों के सामने बेटे की हत्या होते देख उनकी माँ बेहोश होकर मौके पर ही गिर गईं।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NSA, तीनों सेनाओं के प्रमुख, अर्धसैनिक बलों के निदेशक, LG, IB, R&AW – अमित शाह ने सबको बुलाया: कश्मीर में ‘एक्शन’ की तैयारी में...

NSA अजीत डोभाल के अलावा उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा, तीनों सेनाओं के प्रमुख के अलावा IB-R&AW के मुखिया व अर्धसैनिक बलों के निदेशक भी मौजूद रहेंगे।

अब तक की सबसे अधिक ऊँचाई पर पहुँचा भारत का विदेशी मुद्रा भंडार, उधर कंगाली की ओर बढ़ा पाकिस्तान: सिर्फ 2 महीने का बचा...

एक तरफ पाकिस्तान लगातार बर्बादी की कगार पर पहुँच रहा है, तो दूसरी तरफ भारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगातार बढ़ता जा रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -