Monday, April 22, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअफगानिस्तान में तालिबान को सत्ता, राष्ट्रपति अशरफ गनी के इस्तीफे की खबर: 129 लोगों...

अफगानिस्तान में तालिबान को सत्ता, राष्ट्रपति अशरफ गनी के इस्तीफे की खबर: 129 लोगों को लेकर भारत चला विमान

सुलह के लिए बनाई गई काउंसिल के अध्यक्ष अब्दुल्ला अब्दुल्ला सत्ता हस्तांतरण की प्रक्रिया में मध्यस्थ की भूमिका निभा रहे हैं। वहीं, अली अहमद जलाली अफगानिस्तान के वर्तमान राष्ट्रपति अशरफ गनी के इस्तीफा देने के बाद तालिबान के नेतृत्व में बनने वाली अंतरिम सरकार के प्रमुख हो सकते हैं।

अफगानिस्तान की सरकार ने आखिरकार तालिबान के आगे आत्मसमर्पण कर ही दिया। रविवार (15 अगस्त 2021) को तालिबानी आतंकियों ने राजधानी काबुल को चारों ओर से घेर लिया। इसके बाद अफगान प्रेसिडेंसियल पैलेस (ARG) में तालिबान को सत्ता हस्तांतरण की प्रक्रिया पर बातचीत की प्रक्रिया शुरू हो गई। सूत्रों के मुताबिक, अली अहमद जलाली अंतरिम सरकार के प्रमुख हो सकते हैं।

खामा प्रेस न्यूज एजेंसी के मुताबिक, सुलह के लिए बनाई गई हाई काउंसिल के अध्यक्ष अब्दुल्ला अब्दुल्ला सत्ता हस्तांतरण की प्रक्रिया में मध्यस्थ की भूमिका निभा रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक, अली अहमद जलाली अफगानिस्तान के वर्तमान राष्ट्रपति अशरफ गनी के इस्तीफा देने के बाद तालिबान के नेतृत्व में बनने वाली अंतरिम सरकार के प्रमुख हो सकते हैं।

हालाँकि, अफगानिस्तान के विदेश एवं आतंरिक मामलों के कार्यवाहक मंत्री अब्दुल सत्तार मिर्जाकवाल ने एक वीडियो जारी करके काबुल के निवासियों को आश्वासन दिया कि उनकी रक्षा की जाएगी और अंतरराष्ट्रीय सहयोगियों की सहायता से काबुल पर होने वाले हमलों से बचाया जाएगा।

अपने बयान में तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने कहा कि अल्लाह के कारण और लोगों के सहयोग से तालिबान ने देश के लगभग सभी हिस्सों को अपने कब्जे में ले लिया है। हालाँकि, तालिबानी लड़ाके काबुल के गेट तक पहुँच चुके हैं लेकिन काबुल एक घनी जनसंख्या वाला शहर है, इसलिए किसी भी तरह के विरोध की आशंका के चलते आतंकी हिंसा नहीं करना चाहते हैं। तालिबान के प्रवक्ता ने यह भी कहा कि सत्ता हस्तांतरण की प्रक्रिया चल रही है और वो (तालिबानी आतंकी) किसी भी तरह की हिंसा नहीं करना चाहते हैं, बल्कि काबुल के लोगों के हितों को ध्यान में रखते हुए शांतिपूर्वक तरीके से सत्ता पर स्थापित होना चाहते हैं।

कई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, तालिबानी कमांडर मुल्ला अब्दुल गनी बरादार के अफगानिस्तान के राष्ट्रपति बनने की खबर भी आई है। काबुल में तालिबान के प्रवेश करने के बाद मुल्ला बरादार के प्रतिनिधित्व में तालिबानी प्रतिनिधिमंडल सत्ता हस्तांतरण के लिए प्रेसिडेंसियल पैलेस के लिए पहुँचा।

हालाँकि, भारत सरकार ने फिलहाल काबुल में अपना दूतावास बंद करने की संभावनाओं से इंकार किया है, लेकिन वहाँ से भारतीयों को बाहर निकालने की योजनाओं पर काम किया जा रहा है। काबुल से एअर इंडिया का विमान 129 यात्रियों को लेकर रवाना हो गया है और रात तक दिल्ली पहुँच जाएगा।

इससे पहले आज काबुल पहुँचने वाली दिल्ली-काबुल एअर इंडिया की फ्लाइट को तनावपूर्ण हालात के कारण काबुल के आसमान में एक घंटे तक चक्कर लगाना पड़ा, इसके बाद जहाज को लैंड करने के लिए हरी झंडी मिली। रिपोर्ट के मुताबिक, जब विमान काबुल हवाईअड्डे के आसमान पर पहुँचा तो काबुल के हवाई नियंत्रण अधिकारी प्लेन को लैंड कराने के लिए मौजूद नहीं थे। किसी प्रकार की दुर्घटना न हो इसके लिए विमान के राडार को भी बंद करना पड़ा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मुस्लिमों के लिए आरक्षण माँग रही हैं माधवी लता’: News24 ने चलाई खबर, BJP प्रत्याशी ने खोली पोल तो डिलीट कर माँगी माफ़ी

"अरब, सैयद और शिया मुस्लिमों को आरक्षण का लाभ नहीं मिलता है। हम तो सभी मुस्लिमों के लिए रिजर्वेशन माँग रहे हैं।" - माधवी लता का बयान फर्जी, News24 ने डिलीट की फेक खबर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe