Saturday, June 22, 2024
Homeरिपोर्टमीडिया'तबरेज़ के अब्बू विवाद में मारे गए थे, उनकी लिंचिंग नहीं हुई थी -...

‘तबरेज़ के अब्बू विवाद में मारे गए थे, उनकी लिंचिंग नहीं हुई थी – मीडिया फैला रहा भ्रम’

तबरेज़ के पिता मस्कुर की हत्या उनके दोस्तों के साथ विवाद के कारण की गई थी। परिवार को एक सप्ताह बाद उनका शव मिला था। उनकी हत्या को मॉब लिंचिंग दिखा कर मीडिया भ्रम फैला रही है: तबरेज़ के चाचा

चोरी के संदेह में झारखंड में भीड़ के हमले में चौबीस वर्षीय तबरेज़ अंसारी की मौत की दुर्भाग्यपूर्ण घटना ने मुख्यधारा की मीडिया में नए विवादों को जन्म दे दिया है। इसमें पीड़ित के पिता की मृत्यु के बारे में असत्यापित और झूठे दावों आधार पर प्रोपेगेंडा भी शामिल है।

कई मीडिया समूह द्वारा तबरेज़ अंसारी की मौत की खबर मिलने के तुरंत बाद, उनके पिता मस्कुर अंसारी को भी उनके बेटे तबरेज़ अंसारी की तरह ही ‘मॉब लिंचिंग’ में मार डाला गया था। ऐसी खबरें चलाई गई।

टाइम्स ऑफ इंडिया ने अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया था कि तबरेज़ अंसारी के पिता मस्कुर अंसारी की भी लगभग 15 साल पहले इसी तरह से मॉब लिंचिंग में हत्या कर दी गई थी। रिपोर्ट में कहा गया है कि जमशेदपुर के बागबेड़ा इलाके में कथित रूप से चोरी करते हुए मस्कुर को भीड़ ने पकड़ लिया और उन्हें भी भीड़ ने लिंच किया था।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट जिसमें दावा किया गया है कि तबरेज़ के अब्बू की भी लिंचिंग की गई थी

हालाँकि, तबरेज अंसारी के चाचा मरसूद आलम ने तबरेज के पिता मस्कुर की लिंचिंग के बारे में इस तरह के किसी भी दावे का खंडन किया है। मस्कुर की मौत के संबंध में मीडिया रिपोर्टों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, मरसूद आलम ने कहा कि उनकी अपने दोस्तों के साथ विवाद के कारण हत्या कर दी गई थी और परिवार को एक सप्ताह बाद ही मस्कुर का शव मिला। मरसूद आलम ने मॉब लिंचिंग से जुड़ी ऐसी किसी भी रिपोर्ट को स्पष्ट रूप से खारिज कर दिया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET पेपरलीक का मास्टरमाइंड निकाल बिहार का लूटन मुखिया, डॉक्टर बेटा भी जेल में: पत्नी लड़ चुकी है विधानसभा चुनाव, नौकरी छोड़ खुद बना...

नीट पेपर लीक के मास्टरमाइंड में से एक संजीव उर्फ लूटन मुखिया। वह BPSC शिक्षक बहाली पेपर लीक कांड में जेल जा चुका है। बेटा भी जेल में है।

व्यभिचारी वैष्णव आचार्य, पत्रकार ने खोली पोल, अंग्रेजों के कोर्ट में मुकदमा… आमिर खान के बेटे को लेकर YRF-Netflix की बनाई फिल्म बहस का...

माँ भवानी का अपमान करने वाले को जवाब देने कारण हकीकत राय नामक बच्चे का खुलेआम सिर कलम कर दिया गया था। इस पर फिल्म बनाएगा बॉलीवुड? या सिर्फ वही 'वास्तविक कहानियाँ' चुनी जाती हैं जिनमें गुंडा कोई साधु-संत हो?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -