Monday, May 16, 2022
Homeराजनीतिउत्तर प्रदेश चुनाव: 10 जिले, 57 सीटें और 676 उम्मीदवार, छठें चरण में हुए...

उत्तर प्रदेश चुनाव: 10 जिले, 57 सीटें और 676 उम्मीदवार, छठें चरण में हुए 56.52 फीसदी मतदान; सीएम योगी समेत कई दिग्गज मैदान में

इस चरण में कुल 56.52 फीसदी मतदान हुआ है। इस दौरान सबसे अधिक अंबेडकरनगर जिले में 58.50 प्रतिशत मतदान हुआ है। अब इस चरण में 676 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होना है।

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में जारी विधानसभा (Assembly Eelection 2022) चुनाव के लिए छठें चरण का मतदान संपन्न हो गया है। इस चरण में यूपी के 10 जिलों की 57 सीटों पर मतदान हुए हैं। इस चरण में कुल 56.52 फीसदी मतदान हुआ है। इस दौरान सबसे अधिक अंबेडकरनगर जिले में 58.50 प्रतिशत मतदान हुआ है। अब इस चरण में 676 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होना है।

हालाँकि, खबर लिखे जाने तक चुनाव आयोग की ओर से आधिकारिक आँकड़े जारी नहीं किए गए थे। इस चरण में सबसे कम मतदान 48.53 फीसदी वोटिंग बलरामपुर जिले में हुई। उल्लेखनीय है कि छठा चरण इसलिए भी बहुत ही महत्वपूर्ण रहा है, क्योंकि इसी चरण में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Aaditynath) खुद भी गोरखपुर की सदर सीट से चुनावी मैदान में हैं। इसके अलावा भाजपा छोड़ सपा में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य फाजिलनगर सीट से चुनावी मैदान में हैं।

इन सब के अलावा लालजी वर्मा (कटेहरी सीट), रामचल राजभर (अकबरपुर सीट), योगी कैबिनेट के मंत्री जय प्रताप सिंह (बांसी सीट), यूपी के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश चंद्र द्विवेदी (इटवा सीट), प्रदेश कॉन्ग्रेस अध्‍यक्ष अजय कुमार लल्‍लू (तमकुहीराज सीट), योगी कैबिनेट के मंत्री सूर्य प्रताप शाही (पथरदेवा सीट), यूपी के राज्य मंत्री श्रीराम चौहान (खजनी) और राज्‍य मंत्री जयप्रकाश निषाद (रुद्रपुर) समेत कई अन्य दिग्गजों की किस्मत ईवीएम में कैद हो गई है।

इन जिलों में हुआ मतदान

जिन 10 जिलों में मतदान हुआ है, उसमें अंबेडकरनगर की पाँच सीटें, बलरामपुर की चार, सिद्धार्थनगर की चार, बस्ती की पाँच, संतकबीर नगर की तीन, कुशीनगर की 7, गोरखपुर की 9, महाराजगंज की 5 व देवरिया औऱ बलिया जिले की 7-7 विधानसभा सीटों पर मतदान हुए हैं। गौरतलब है कि अब उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव का आखिरी चरण का मतदान बचा है जो 7 मार्च 2022 को होगा। इसके बाद 10 मार्च को नतीजे आएँगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेपाल बिना तो हमारे राम भी अधूरे हैं: प्रधानमंत्री मोदी ने ‘बुद्ध की धरती’ पर समझाई भारत से दोस्ती की अहमियत, कहा- यही मानवता...

अपनी नेपाल यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किए मायादेवी मंदिर के दर्शन और भारत और नेपाल को एक दूसरे के बिना अधूरा बताया।

CRPF करेगी ज्ञानवापी में मिले शिवलिंग की सुरक्षा, अदालत ने सील की जगह, वजू पर मनाही: जैसे ही दिखे बाबा, ‘हर-हर महादेव’ से गूँजा...

सर्वे के तीसरे दिन हिन्दू पक्ष की तरफ से सोमवार को करीब 12 फीट 8 इंच लंबा शिवलिंग नंदी के सामने विवादित ढाँचे के वजूखाने में मिलने का दावा किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,091FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe