Friday, May 24, 2024
Homeरिपोर्टये 'चौकीदारों का गाँव' है, यहाँ राहुल गाँधी का आना मना है

ये ‘चौकीदारों का गाँव’ है, यहाँ राहुल गाँधी का आना मना है

कार्तिक कश्यप नाम के युवक ने बताया कि उनके गाँव में अब सड़के हैं, साफ़-सफ़ाई है, शौचालय और बिजली है, उन्हें और क्या चाहिए? वह कहते हैं कि वो लोग ऐसे किसी भी व्यक्ति को गाँव में आकर प्रचार करने की अनुमति नहीं देंगे जो मोदी के ख़िलाफ़ होगा, उनके लिए हर जगह सिर्फ़ मोदी है।

उत्तर प्रदेश में वाराणसी के समीप ककरहिया नामक गाँव के लोगों ने पोस्टर लगाकर इस बात की ‘घोषणा‘ कर दी है कि उनके गाँव में कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी का प्रवेश निषेध है।

ग्रामीणों द्वारा लगाए गए पोस्टर में लिखा है-‘ये चौकीदारों का गाँव है, यहाँ आना मना है।‘ वाराणसी जिले में पड़ने वाले ककरहिया गाँव के निवासियों का मानना है कि यह संदेश राहुल गाँधी के लिए ही है।

आईएएनएस की ख़बर के मुताबिक, ककरहिया में रहने वाले एक ग्रामीण ने बताया है कि राहुल गाँधी द्वारा प्रधानमंत्री पर की गई टिप्पणी- ‘चौकीदार चोर है’ ने देश के गौरव को आहत किया है। उनके मुताबिक वो नहीं चाहते कि उन्हें (नरेंद्र मोदी) चोर कहने वाला इंसान उनके गाँव में कदम रखे, इसलिए उन्होंने ये पोस्टर लगाए हैं।

ककरहिया गाँव के बारे में बता दें कि इस गाँव को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आदर्श ग्राम योजना के तहत 23 अक्टूबर 2017 को गोद लिया गया था। इसके बाद गाँव में हुए विकास ने वहाँ के लोगों का जीवन बदल कर रख दिया।

द स्टेट्समैन में प्रकाशित ख़बर के मुताबिक, कार्तिक कश्यप नाम के युवक ने बताया है कि उनके गाँव में अब सड़के हैं, साफ़-सफ़ाई है, शौचालय और बिजली है, उन्हें और क्या चाहिए? वह कहते हैं कि वो लोग ऐसे किसी भी व्यक्ति को गाँव में आकर प्रचार करने की अनुमति नहीं देंगे जो मोदी के ख़िलाफ़ होगा।

मीडिया ख़बरों के मुताबिक ककरहिया गाँव की भाँति ही जयापुर (प्रधानमंत्री द्वारा गोद लिया गया पहला गाँव) जैसे गाँव भी ऐसे पोस्टर लगाने का विचार बना रहे हैं। बता दें कि विपक्षी दलों ने भी अभी तक इन गाँवों में किसी प्रकार की जनसभा और बैठक करने की घोषणा नहीं की हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -