Tuesday, June 18, 2024
Homeसोशल ट्रेंडकिसानों के सम्मान में पॉर्न स्टार भी मैदान में: मिया खलीफा ने कहा- इंटरनेट...

किसानों के सम्मान में पॉर्न स्टार भी मैदान में: मिया खलीफा ने कहा- इंटरनेट मत बंद करो

मिया खलीफा ने दिल्ली में चल रहे 'किसान आंदोलन' को लेकर मोदी सरकार पर मानवाधिकार उल्लंघन का आरोप लगाया है।

अब पूर्व पोर्न स्टार मिया खलीफा (Mia Khalifa) ने भी दिल्ली में चल रहे ‘किसान आंदोलन’ में अपने हाजिरी दर्ज की है। पॉर्न इंडस्ट्री में कई वर्षों तक काम कर के लोकप्रियता बटोर चुकीं अमेरिकी-लेबनानी मिया खलीफा ने 2014 में पॉर्न फिल्मों में एक्टिंग शुरू की थी और 2 महीने में ही सबसे ज्यादा देखी जाने वाली पॉर्न अभिनेत्री बन गईं। अब उन्होंने दिल्ली में चल रहे ‘किसान आंदोलन’ को लेकर मोदी सरकार पर मानवाधिकार उल्लंघन का आरोप लगाया है।

मिया खलीफा ने दावा किया कि केंद्र की मोदी सरकार ने दिल्ली में इंटरनेट भी बंद कर दिया है। साथ ही उन्होंने आंदोलन में शामिल बुजुर्ग महिलाओं की एक तस्वीर भी शेयर की, जिसमें लहराए जा रहे पोस्टर पर लिखा है – ‘किसानों की हत्या करना बंद करो’। बता दें कि इससे पहले, रिहाना ने भी CNN की जिस खबर को शेयर कर के मोदी सरकार पर निशाना साधा था, उसमें भी इंटरनेट बंद किए जाने का जिक्र किया गया था।

हालाँकि, कुछ लोगों ने मिया खलीफा के इस ट्वीट पर चुटकी भी ली। ‘पूनम चौधरी’ यूजरनेम वाली महिला ने लिखा कि इंटरनेट बंद होना दुर्भाग्यपूर्ण है, क्योंकि अब प्रदर्शनकारी मिया खलीफा के वीडियो कैसे देख पाएँगे? एक व्यक्ति ने संजय राउत की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा – ‘अगला पेड ट्वीट शिवसेना से होगा’। मिया खलीफा के ट्विटर हैंडल पर 34 लाख फॉलोवर्स हैं। एक ने जॉनी सीन्स की तस्वीर शेयर करते हुए पूछा कि ये भी किसान हैं क्या?

उधर पूर्व भारतीय क्रिकेटर प्रज्ञान ओझा सहित कई हस्तियों ने रिहाना और ग्रेटा थनबर्ग जैसों को जवाब दिया है। प्रज्ञान ओझा ने लिखा, “हमारा देश अपने किसानों को लेकर गर्व की अनुभूति करता है और जानता है कि वो कितने महत्वपूर्ण हैं। मुझे पूरा विश्वास है कि उनकी समस्याओं का समाधान हो जाएगा। लेकिन, हमें दूसरों के मामलों में टाँग अड़ाने वाले किसी बाहरी की ज़रूरत नहीं है। ये हमारा आंतरिक मसला है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

खालिस्तानी चरमपंथ के खतरे को किया नजरअंदाज, भारत-ऑस्ट्रेलिया संबंधों को बिगाड़ने की कोशिश, हिंदुस्तान से नफरत: मोदी सरकार के खिलाफ दुष्प्रचार में जुटी ABC...

एबीसी न्यूज ने भारत पर एक और हमला किया और मोदी सरकार पर ऑस्ट्रेलिया में रहने वाले खालिस्तानियों की हत्या की योजना बनाने का आरोप लगाया।

न दुख-न पश्चाताप… पवित्रा का यह मुस्कुराता चेहरा बताता है कि पर्दे के सितारों में ‘नायक’ का दर्शन न करें, हर फैन के लिए...

'फैन हत्याकांड' मामले से लोगों को सबक लेने की जरूरत है कि पर्दे पर दिखने वाले लोग जरूरी नहीं जैसा फिल्मों में दिखाए जाते हैं वैसे ही हों।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -