Wednesday, July 28, 2021
Homeसोशल ट्रेंडबालों से दुखी सागिरका घोष ने माँगा बार्बर, केजरीवाल ने खोल दिए सैलून, ट्विटर...

बालों से दुखी सागिरका घोष ने माँगा बार्बर, केजरीवाल ने खोल दिए सैलून, ट्विटर पर बताया भी- जाइए कटवा लीजिए

"पत्रकार का पॉवर! एक दिन पहले सैलून खोलने का ट्वीट दूसरे दिन सैलून खुल भी गया। खास बात कि ट्वीट कर के मुख्यमंत्री बता भी दिए जाइए सैलून खुल गया। यह फैसला उस वक़्त जब दिल्ली की सीमा सील की जा रही है। काश मज़दूरों के ट्वीट पर इसी तरह फौरन एक्टिव होते मुख्यमंत्री जी।"

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार (जून 1, 2020) को राज्य में कोरोना वायरस की स्थिति को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के बॉर्डर एक हफ्ते के लिए सील होंगे। इस दौरान केवल पास के जरिए जरूरी सेवाओं से जुड़े लोग आवाजाही कर सकेंगे।

इस दौरान मुख्यमंत्री केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में सैलून खोलने की अनुमति है। केजरीवाल के इस फैसले से खुश महिला पत्रकार सागरिका घोष ने ट्वीट करते हुए लिखा कि ये उनके बालों की समस्या को लेकर लगाई गई गुहार का ही नतीजा है कि सीएम अरविंद केजरीवाल ने नाई की दुकान और सैलून खोलने की इजाजत दी। सागरिका ने इसके लिए सीएम को धन्यवाद कहा।

सीएम केजरीवाल ने इसका जवाब देते हुए लिखा, “जाइए कटवा लीजिए।” दिल्ली बीजेपी के मीडिया प्रभारी प्रत्यूष कंठ का कहना है कि सीएम केजरीवाल ने महज 60 सेंकेंड के अंदर सागरिका के ट्वीट का जवाब दे दिया। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि दिल्ली बीजेपी चीफ मनोज तिवारी लगातार सीएम से पूछ रहे हैं कि उन्होंने टीवी और प्रिंट विज्ञापनों, नए हॉस्पिटल बेड और वेंटीलेटर आदि पर कितने खर्च किए, मगर वो जवाब नहीं दे रहे हैं। उन्होंने सागरिका घोष से मदद माँगी है, क्योंकि सीएम केजरीवाल ने उन्हें तुरंत जवाब दिया।

वहीं सोशल मीडिया पर भी इस ट्वीट को लेकर दिलचस्प प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। वोक श्री सनीचर नाम के एक यूजर ने लिखा, “बालों से दुखी महिला पत्रकार ने लगाई गुहार, केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा – ‘कटवा लीजिए”

एक यूजर ने लिखा, “आप स्वयं जाकर काटोगे?”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “सेठजी को आम जनता की सुखकारी के आलावा सब कुछ मालूम है। सेठ एक खास बिरादरी के हेयर कट तक की सेवा कर देंगे। दंगाई बलात्कारी के लिए पैसे हैं। पैसे नहीं है तो सिर्फ आम नागरिक और दिल्ली के कर्मचारी के लिए। वरना 12 मिनट की कोरोना की समझ देनी हो पेपर में तीन-तीन पन्ने की ऐड पैसे तो हैं।”

आशीष सिंह माही नाम के यूजर लिखता है, “दिल्ली में कोरोना विस्फोट हुआ है और मुख्यमंत्री कह रहे हैं एन्जॉय करिए, इतनी संवेदनहीनता लाते कहाँ से हैं अरविंद केजरीवाल?”

एक ने लिखा, “दिल्ली में लाश के ऊपर लाश रखी हुई है। अस्पतालों में मरीजों के इलाज की जगह नहीं है। पूरी दिल्ली खुल गई है। अब ऑटो में भी चार सवारी बैठ सकती है। आने वाला समय किस कदर होने वाला है। इसका अंदाजा लगाना मुश्किल है। लेकिन यह धूर्त बाल कटवाने की वकालत कर रहा है।”

एक यूजर लिखता है, “दिल्ली वालों के लिए साफ पानी सप्लाई के लिए भी कोई खास वर्ग आगे आकर इसी तरह माँग करे तो उनकी भी माँग पूरी हो सकती है।”

इकबाल अहमद नाम के शख्स ने लिखा, “पत्रकार का पॉवर! एक दिन पहले सैलून खोलने का ट्वीट दूसरे दिन सैलून खुल भी गया। खास बात कि ट्वीट कर के मुख्यमंत्री बता भी दिए जाइए सैलून खुल गया। यह फैसला उस वक़्त जब दिल्ली की सीमा सील की जा रही है। काश मज़दूरों के ट्वीट पर इसी तरह फौरन एक्टिव होते मुख्यमंत्री जी।”

बता दें कि सागरिका घोष ने 30 मई को एक ट्वीट करते हुए सीएम केजरीवाल से गुहार लगाई थी कि दिल्ली में हेयर कट सर्विस को चालू कर दिया जाए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बद्रीनाथ नहीं, वो बदरुद्दीन शाह हैं…मुस्लिमों का तीर्थ स्थल’: देवबंदी मौलाना पर उत्तराखंड में FIR, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मौलाना के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 153ए, 505, और आईटी एक्ट की धारा 66F के तहत केस किया गया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके बयान से हिंदू भावनाएँ आहत हुईं।

बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री: पिता भी थे CM, राजीव गाँधी के जमाने में गवर्नर ने छीन ली थी कुर्सी

बसवराज बोम्मई के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जबकि बसवराज ने भाजपा 2008 में ज्वाइन की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,571FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe