Wednesday, August 4, 2021
Homeसोशल ट्रेंड'नाइट चार्ज पर भेजो रं$* सा*$ को': दरगाह परिसर में 'बेपर्दा' डांस करना महिलाओं...

‘नाइट चार्ज पर भेजो रं$* सा*$ को’: दरगाह परिसर में ‘बेपर्दा’ डांस करना महिलाओं को पड़ा महंगा, कट्टरपंथियों ने दी गाली

“हम लोग शाहदरा शरीफ गए थे। वहाँ हमसे एक वीडियो बन गई। इस वीडियो के लिए मैं आपसे माफी माँगती हूँ। पहले अपने अल्लाह से माफी माँगती हूँ। फिर बुजुर्गों से माफी माँगती हूँ।"

जम्मू कश्मीर की एक दरगाह के सामने खुशी से झूमना 4 महिलाओं को इतना महंगा पड़ा कि उन्हें अब सोशल मीडिया पर सबके सामने आकर अपने डांस के लिए माफी माँगनी पड़ी। चारों महिलाओं की वीडियो हाल ही में सोशल मीडिया पर सामने आई थी। इसके बाद कट्टरपंथियों ने उनका इतना विरोध किया कि उनके ख़िलाफ़ शिकायतें दर्ज हुईं, उन्हें गालियाँ दी गईं, लानत भेजी गई, अंत में उन्हें हिजाब पहनकर सबसे माफी माँगनी पड़ी।

महिलाओं को माफी वाली वीडियो में कहते सुना जा सकता है, “हम लोग शाहदरा शरीफ गए थे। वहाँ हमसे एक वीडियो बन गई। इस वीडियो के लिए मैं आपसे माफी माँगती हूँ। पहले अपने अल्लाह से माफी माँगती हूँ। फिर बुजुर्गों से माफी माँगती हूँ। फिर जम्मू कश्मीर के अपने सारे भाई बहनों से माफी माँगती हूँ। अगर किसी के दिल को ठेस पहुँची है। तो हमें माफ किया जाए। अल्लाह का वास्ता है हमें माफ किया जाए। हमें इस वीडियो की माफी दी जाए। हमारा किसी का दिल दुखाने का इरादा नहीं था।”

वीडियो में आगे महिलाएँ कहती हैं, “हमारा बच्चा 2 मंजिल छत से नीचे गिर गया था। हमने दुआ की थी कि हमारा बच्चा बच जाए तो हमारा बच्चा बच गया, 2-3 लाख रुपए लग गए। हम उसे बाहर लेकर गए थे। वो ठीक हुआ तो हम बाबा के पास आए। हमसे गलती हो गई। हमें गलती का पछतावा है। हमें माफ किया जाए।”

गौरतलब है कि यूट्यूब पर इस संबंध में कई वीडियोज हैं। लोगों ने महिलाओं के ख़िलाफ़ नाराजगी जाहिर करते हुए वीडियो बनाई हुई है। मेंधर न्यूज डायरी नाम के यूट्यूब चैनल पर नजीम खतना नाम के व्यक्ति ने इस संबंध में वीडियो बनाई और बताया, “घटना रजौरी की है। जहाँ जियारत बाबा गुलाम शाह बादशाह, शाहदरा शरीफ की दरगाह में 4 जाहिल लड़कियों की डांस करती वीडियो वायरल हुई।”

नजीम का कहना है कि इस तरह से डांस करके चारों लड़कियों ने इंसानियत को शर्मसार किया। इसका दुख न केवल मुस्लिम बल्कि हर मजहब के शख्स को है। वीडियो में नजीम को ये बताते भी देखा जा सकता है कि इस घटना के उजागर होने के बाद प्रशासन ने लड़कियों के विरुद्ध मात्र 20 मिनट में एफआईआर कर दी। आगे वह माँग करते हैं कि चारों महिलाओं पर सख्त कार्रवाई हो और कम से कम 2 साल की सबको सजा मिले ताकि ये जाहिल लोग ऐसा दोबारा न करें।

इसके अलावा सोशल मीडिया पर महिलाओं को गाली देने का काम भी बहुत धड़ल्ले से हुआ है। एक यूजर ने कमेंट इकट्ठा करके इन्हें शेयर किया है। नीरज ब्लोरिया नाम के व्यक्ति का कहना है कि रजौरी में दरगाह परिसर में 30 सेकेंड की वीडियो बनाने पर केस हो गया और इस तरह ये लोग (कट्टरपंथी ) उसका जश्न मना रहे हैं।

एक जगह इकट्ठा करके पेस्ट किए गए कमेंट्स में देख सकते हैं कि महिलाओं के लिए गंदी गाली लिखी है। किसी ने इन्हें बेशर्म माँ बाप की बेशर्म औलाद कहा है। किसी का कहना है कि आखिर दरगाह में बेपर्दा इन्हें आने की इजाजत कैसे मिली। सदाकत मलिक लिखते हैं, “इनका मुँह काला कराकर बाजार में घुमाओ। ताकि बाकी आने वाली लड़कियों को भी पता चले।” मलिक एजाज ने लिखा, “नाइट चार्ज पर भेजो रं& सा*$ को।”

द इंट्रिपिड नाम के यूजर ने मामले में कट्टरपंथियों पर निशाना साधते हुए पूछा है कि ये लोग दरगाह में डांस भी बर्दाश्त नहीं कर सकते और चाहते हैं कि मंदिर में किसिंग सीन हो। 

अल्लाह के नाम पर मस्जिद में गाना… फिर भी गिरफ्तार

24 साल की किन्नर नानू विश्वास गिरफ्तार करवा दी जाती हैं। क्यों? क्योंकि उन्होंने मस्जिद में वीडियो शूट किया था और उसमें गाना लगा कर सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया था।

कट्टरपंथियों ने इतना भी नहीं देखा कि किन्नर नानू ने जिस गाने पर डांस किया, वो 2009 में आई फिल्म ‘कुर्बान’ का गाना ‘शुक्रान अल्लाह’ है, जिसमें सैफ अली खान और करीना कपूर नजर आए थे। जबकि यह फिल्मी गाना दिल्ली स्थित हुमायूँ के मकबरे में शूट किया गया था। शायद कट्टरपंथियों को तब फिल्म के हीरो के नाम से प्यार रहा होगा!

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

राहुल गाँधी ने POCSO एक्ट का किया उल्लंघन, NCPCR ने ट्वीट हटाने के दिए निर्देश: दिल्ली की पीड़िता के माता-पिता की फोटो शेयर की...

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने राहुल गाँधी के ट्वीट पर संज्ञान लिया है और ट्विटर से इसके खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,975FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe