Sunday, June 26, 2022
Homeसोशल ट्रेंडकट्टरपंथियों से प्यार, हिंदुत्व से चिढ़: विदेशों तक भारत विरोधी प्रोपेगेंडा फैलाने वाले सीजे...

कट्टरपंथियों से प्यार, हिंदुत्व से चिढ़: विदेशों तक भारत विरोधी प्रोपेगेंडा फैलाने वाले सीजे वर्लमैन का ट्विटर इंडिया में बैन, मोदी सरकार पर मढ़ा इल्जाम

ट्विटर अकॉउंट पर हुई कार्रवाई के बाद वर्लमैन ने कहा, "ये एक और सबूत है इस बात का कि ट्विटर भारत सरकार के विरुद्ध प्रोटेक्शन रैकेट चला रहा है। मेरा अकॉउंट भारत में प्रतिबंधित किया गया क्योंकि दक्षिणपंथी, नरेंद्र मोदी शासन के हिंदू फासीवादी इसकी माँग कर रहे थे।"

इस्लामी कट्टरपंथियों को पीड़ित दिखाने वाले और झूठी खबरों से हिंदूफोबिया फैलाने वाला ऑस्ट्रेलियाई लेखक व पत्रकार सीजे वर्लमैन का ट्विटर हैंडल भारत में प्रतिबंधित कर दिया गया है। @cjwerleman के ट्विटर हैंडल पर क्लिक करके देख सकते हैं कि उसका कोई ट्वीट अब नहीं दिख रहा। ट्विटर ने ये कदम अकॉउंट के विरुद्ध हुई लीगल डिमांड की प्रतिक्रिया में उठाया है।

@cjwerleman के अकॉउंट के विरुद्ध उठाए गए इस कदम को भारतीयों द्वारा सराहनीय माना जा रहा है। वहीं कट्टरपंथी सीजे वर्लमैन का ट्विटर रिस्टोर करने की बात कह रहे हैं।

इस संंबंध में वर्लमैन की प्रतिक्रिया भी आई है। द सीजे वर्लमैन अकॉउंट से इस प्रतिक्रिया का स्क्रीनशॉट शेयर हुआ है। इसमें वर्लमैन ने जैक, एलन मस्क को टैग कर कहा, “ये एक और सबूत है इस बात का कि ट्विटर भारत सरकार के विरुद्ध प्रोटेक्शन रैकेट चला रहा है। मेरा अकॉउंट भारत में प्रतिबंधित किया गया क्योंकि दक्षिणपंथी, नरेंद्र मोदी शासन के हिंदू फासीवादी इसकी माँग कर रहे थे।”

मालूम हो कि सीजे वर्लमैन अपने ट्वीट से लगातार हिंदूघृणा फैलाने का काम करता था। हाल में उसने 2 साल पुरानी एक वीडियो शेयर करके हिंदुत्व को कोसा था। वीडियो पुलिस लाठी चार्ज की थी। इसे शेयर करकते वर्लमैन ने लिखा था- “देखो कैसे हिंदू कट्टरपंथ से ग्रसित पुलिस एक बुजुर्ग मुस्लिम आदमी को मार रहे हैं।” वीडियो को देखने के बाद कट्टरपंथियों ने धमकी दी थी कि मुंबई में फिर से 1992 जैसे मुंबई ब्लास्ट करने की जरूरत है।

वर्लमैन ने जदयू कार्यकर्ता मोहम्मद खलील आलम रिजवी की हत्या पर भी ऐसा प्रोपेगेंडा फैलाया था। वर्लमैन खलील से जुड़ी वीडियो शेयर करके लिखा था, “एक मुस्लिम व्यक्ति अपनी जान की भीख माँगता रहा और ‘हिन्दू भीड़ ने उसकी हत्या के बाद उसे जला डाला।” जब ऑपइंडिया ने इस संबंध में समस्तीपुर पुलिस अधीक्षक से बात की तो मामले में सांप्रदायिक एंगल का खंडन किया गया था।

उन्होंने कहा, “इसमें कोई सांप्रदायिक दृष्टिकोण नहीं है। गोमांस-गोहत्या को लेकर वायरल एक वीडियो आपको मिला होगा। इस वीडियो को वायरल करने के पीछे उनका मकसद यह था कि अगर पुलिस उन्हें पकड़ लेती है और कांड का खुलासा कर देती है तो हमलोग उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर देंगे। जिससे पुलिस का ध्यान उनकी तरफ से हट जाएगा और लोगों को भी उनकी सहानुभूति मिलेगी।”

इसके अलावा वर्लमैन के कई ट्वीट में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए अपशब्द कहे जाते थे। उसने योगी आदित्यनाथ को ‘हिंदुत्व आतंकी’ तक कहा था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘गुवाहाटी से आएँगी 40 लाशें, पोस्टमॉर्टम के लिए भेजेंगे’: संजय राउत ने कामाख्या मंदिर और छठ पूजा को भी नहीं छोड़ा, कहा – मोदी-शाह...

संजय राउत ने कहा "हम शिवसेना हैं, हमारा डर ऐसा है कि हमें देख कर मोदी-शाह भी रास्ता बदल लेते हैं।" कामाख्या मंदिर और छठ पर्व का भी अपमान।

‘हाऊ कैन यू रोक’ : आजमगढ़ में निरहुआ से चुनाव हार कर अखिलेश यादव के भाई भूल गए अंग्रेजी, Video देख नहीं रुकेगी हँसी

आजमगढ़ उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के कैंडिडेट और अखिलेश यादव के भाई धर्मेंद्र यादव ने पुलिस अधिकारियों से की तू-तू, मैं-मैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,523FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe