Wednesday, May 25, 2022
Homeसोशल ट्रेंड'गद्दारों का गुणगान करती थीं लता मंगेशकर, जहन्नुम भी नसीब नहीं होगा': इस्लामी कट्टरपंथियों...

‘गद्दारों का गुणगान करती थीं लता मंगेशकर, जहन्नुम भी नसीब नहीं होगा’: इस्लामी कट्टरपंथियों ने बताया ‘स्वार्थी और मौकापरस्त’

एक इस्लामी कट्टरपंथी ने लिखा, "मौकापरस्त और स्वार्थी चरित्र वाली थीं। ये वही हैं, जब इनके घर के सामने फ्लाईओवर बन रहा था तो इन्होंने देश छोड़ने की धमकी दे डाली थी।"

जहाँ सुर साम्राज्ञी लता मंगेशकर के निधन के बाद पूरा देश और दुनिया में भर संगीत प्रेमी लोग शोक में हैं, वहीं कुछ असामाजिक तत्व ऐसे हैं जो सोशल मीडिया पर इसका जश्न मना रहे हैं। ‘HaHa’ के रिएक्शंस भी दे रहे हैं। ऐसे ही लोगों में से एक है हमदान अंसारी। एक ट्विटर हैंडल ने जब लता मंगेशकर की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की, तब हमदान अंसारी ने हँसी वाली 5 इमोजी शेयर कर के मजाक बनाया। उक्त ट्विटर यूजर ने यूपी पुलिस से इस मामले में कार्र्रवाई की माँग की है।

हमदान अंसारी ने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “अल्लाह से दुआ करो जहन्नुम जगह दे दे, लेकिन उसका तो वहाँ का भी नसीब नहीं लगता।” इसके बाद उसने ‘नेता जी’ नाम के उस ट्विटर यूजर को भी धमकाया, जिसने लता मंगेशकर को श्रद्धांजलि दी थी। उसने लिखा, “निकल ले वरना तेरा भी इंतकाल कर दूँगा।” हालाँकि, यूपी पुलिस को टैग किए जाने के बाद डर के मारे उसने अपनी ट्वीट्स को डिलीट कर दिया। लोगों ने उस पर कार्रवाई की माँग की है।

वहीं मोहम्मद शाह आलम नाम के एक व्यक्ति ने लता मंगेशकर से जुडी NDTV की एक खबर पर टिप्पणी करते हुए लिखा, “अच्छी गायिका थीं, लेकिन ये भी विवादों से घिरी रहती थीं। मौकापरस्त और स्वार्थी चरित्र वाली थीं। ये वही हैं, जब इनके घर के सामने फ्लाईओवर बन रहा था तो इन्होंने देश छोड़ने की धमकी दे डाली थी। ये वही हैं, जिन्होंने कई गायकों का करियर ख़त्म करा दिया। इन्होंने गद्दारों को महान बताया। गद्दारों को महान बताने वाला भला ‘भारत रत्न’ कैसे हो सकता है?”

NDTV की खबर पर मोहम्मद शाह आलम का कमेंट

इन सबके अलावा इस्लामी कट्टरपंथी फेसबुक पर भी रिएक्शंस देकर महान गायिका के निधन का जश्न मनाते हुए नजर आए। लता मंगेशकर का नजरिया राष्ट्रवादी रहा था और उन्होंने कभी इसे छिपाया भी नहीं। पीएम मोदी उनके चहेते नेता थे, यह भी समय-समय पर सबको बताया। बस यही वजह है कि उनके निधन पर जहरीले लोग हँस रहे हैं, सोशल मीडिया पर ‘हाहा’ रिएक्शन दे रहे। लता मंगेशकर ने अपने राष्ट्रवादी नजरिए को लेकर हमेशा से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का साथ दिया। आरएसएस की कार्यशैली से वो सदैव अपने आप को जोड़ती थीं। लता मंगेशकर देश की सम्मान थीं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काशी के बाद अब मंगलुरु में मस्जिद के नीचे मिला हिन्दू मंदिर! हिन्दुओं ने किया पूजा-पाठ: ASI सर्वे की माँग, धारा-144 लागू

कर्नाटक के मंगलुरू में मंदिर जैसी संरचना मिली, जिसके बाद VHP और बजरंग दल ने इलाके में 'तंबुला प्रश्ने' अनुष्ठान किया। भाजपा MLA ने कहा कि...

‘मुस्लिम छात्रों के झूठे आरोपों पर अजीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी ने किया निलंबित’: हिन्दू छात्र का आरोप – मिली धर्म ने समझौता न करने की...

तिवारी और उनके दोस्तों को कॉलेज में सार्वजनिक रूप से संघी, भाजपा के प्रवक्ता और भाजपा आईटी सेल का सदस्य कहा जाता था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
188,790FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe