Thursday, April 25, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'तैमूर की अम्मी नहीं हैं माँ सीता के रोल के लायक... शूर्पणखा बन सकती...

‘तैमूर की अम्मी नहीं हैं माँ सीता के रोल के लायक… शूर्पणखा बन सकती हैं’: ट्विटर पर ट्रेंड हुआ #BoycottKareenaKhan

ट्विटर पर आज #BoycottKareenaKhan ट्रेंड हो रहा है। यूजर्स का कहना है कि वह तैमूर की अम्मी को माँ सीता के रोल में नहीं देखना चाहते और इसलिए फिल्म मेकर्स को करीना के अलावा दूसरी अभिनेत्रियों को ये रोल असाइन करना चाहिए।

बॉलीवुड एक्ट्रेस करीना कपूर खान अपनी आने वाली फिल्म ‘सीता’ को लेकर सुर्खियों में हैं। फिल्म में सीता का किरदार निभाने के लिए जब से उन्होंने 12 करोड़ रुपए माँगे है तभी से न केवल फिल्म के डायरेक्टर-प्रोड्यूसर सोच में पड़े हुए हैं बल्कि सोशल मीडिया यूजर्स भी इस पर जमकर रिएक्शन दे रहे हैं।

ट्विटर पर आज #BoycottKareenaKhan ट्रेंड हो रहा है। यूजर्स का कहना है कि वह तैमूर की अम्मी को माँ सीता के रोल में नहीं देखना चाहते और इसलिए फिल्म मेकर्स को करीना के अलावा दूसरी अभिनेत्रियों को ये रोल असाइन करना चाहिए।

कुछ लोग इस रोल के लिए कंगना रनौत को सबसे सटीक बताते हुए कह रहे हैं कि करीना पर शूर्पणखा का रोल सूट करता है न कि सीता का। कुछ का कहना है कि पहले करीना के शौहर सैफ अली खान ने तांडव में हिंदू भावनाओं को आहत किया और अब करीना वही करने आ रही हैं।

भाजपा हरियाणा के आईटी व सोशल मीडिया हेड अरुण यादव ने संदेश जारी कर कहा है,

“जय श्रीराम साथियों! मुझे अभी तक यह समझ में नहीं आया है कि बॉलीवुड के लोग खान गैंग हिंदू आस्थाओं के साथ खेलना कब बंद करेंगी। मुझको तो ऐसा लगता है कि इनको हमारा मजाक बनाने में मजा आने लगा है। तुम सोच भी कैसे सकते हो कि करीना कपूर खान, तैमूर की माँ, सैफ अली खान की बीवी कैसे माँ सीता का रोल कर सकती है। उसको तुम 13 करोड़ रुपए भी दोगे। इसमें क्या गुण है। ये क्यो निभाएगी माँ सीता का रोल। शर्म करो। जो हमारी सनातन संस्कृति को समझते हैं उन्हें इस रोल के लिए लो। अगर तुमने इस खान गैंग को, करीना कपूर खान को माँ सीता के रोल में लिया तो इसका विरोध होगा और ये फिल्म रिलीज होने नहीं दी जाएगी।”

कुणाल सिंह नाम के यूजर लिखते हैं, “त्रेतायुग में भी शूर्पणका जगतजननी माता ‘सीता’ का स्थान लेना चाहती थी और आज कलयुग में भी एक ‘शूर्पणका’ माता ‘सीता’ का स्थान लेना चाहती है।”

देबारूपा पालित कहती हैं, “हमें 12 करोड़ से मतलब नहीं है। प्वाइंट ये हैं कि करीना बेगम…नशेड़ी किसी भी तरह से माँ सीता के रोल में फिट नहीं बैठती हैं।”

एंटी लिबरल गाय ने लिखा है, “करीना कपूरा खान हिंदू देवी माँ सीता का किरदार निभाकर करोड़ो कमाती हैं और वही करीना कपूर खान कभी भी हिंदू धर्म को मलीन करने में कोई कसर नहीं छोड़ती। और हम बेवकूफ जो एक हिंदूफोबिक कलाकारों की मूवी देखते हैं।”

लोगों का इस ट्रेंड में ट्वीट कर करके पूछना है कि आखिर बॉलीवुड को हो क्या गया है। क्यों सीता माँ के रोल में वह करीना को लेना चाहते हैं जो एक ड्रग एडिक्ट हैं और धर्म को बदनाम करती है। इन्हें रोका क्यों नहीं जाता।

गौरतलब है कि करीना कपूर खान अका बेबो बॉलीवुड की उन एक्ट्रेस में से हैं, जो सबसे अधिक कमाई के लिए जानी जाती हैं। यही कारण है कि वह आमतौर पर फिल्म साइन करने से पहले अपनी फीस को लेकर डिस्कस करती हैं।

बॉलीवुड हंगामा की एक रिपोर्ट में इस संबंध में लिखा है, “वह (करीना) अपनी एक फिल्म के लिए 6 से 8 करोड़ रुपए चार्ज करती हैं। ऐसे में इस फिल्म के लिए करीना ने 12 करोड़ रुपए माँग कर फिल्ममेकर को बड़ा झटका दिया है। फिलहाल वे (फिल्ममेकर) अपने फैसले पर एक बार फिर से विचार कर रहे हैं। इसलिए हो सकता है कि फिल्म में वह किसी यंग एक्ट्रेस को भी कास्ट कर सकते हैं, इसको लेकर बातचीत अभी भी जारी है। लेकिन, बेबो अब भी फिल्ममेकर की पहली पसंद बनी हुई हैं।”

बता दें कि ‘बाहुबली’ फिल्म के मशहूर लेखक केवी विजेंद्र प्रसाद ने ‘सीता- द इनकार्नेशन’ फिल्म की कहानी लिखी है और इसका निर्देशन अलौकिक देसाई करेंगे।  बताया जा रहा है कि फिल्म में सीता के दृष्टिकोण से रामायण की कहानी को फिल्माया जाएगा। फिल्म को अस्थायी रूप से ‘सीता- द इनकार्नेशन’ (Sita– The Incarnation) टाइटल दिया गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कॉन्ग्रेस ही लेकर आई थी कर्नाटक में मुस्लिम आरक्षण, BJP ने खत्म किया तो दोबारा ले आए: जानिए वो इतिहास, जिसे देवगौड़ा सरकार की...

कॉन्ग्रेस का प्रचार तंत्र फैला रहा है कि मुस्लिम आरक्षण देवगौड़ा सरकार लाई थी लेकिन सच यह है कि कॉन्ग्रेस ही इसे 30 साल पहले लेकर आई थी।

मुंबई के मशहूर सोमैया स्कूल की प्रिंसिपल परवीन शेख को हिंदुओं से नफरत, PM मोदी की तुलना कुत्ते से… पसंद है हमास और इस्लामी...

परवीन शेख मुंबई के मशहूर स्कूल द सोमैया स्कूल की प्रिंसिपल हैं। ये स्कूल मुंबई के घाटकोपर-ईस्ट इलाके में आने वाले विद्या विहार में स्थित है। परवीन शेख 12 साल से स्कूल से जुड़ी हुई हैं, जिनमें से 7 साल वो बतौर प्रिंसिपल काम कर चुकी हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe