Saturday, July 24, 2021
Homeसोशल ट्रेंडबम ब्लास्ट में BJP कार्यकर्ता की मौत हो जाती है... और लिबरल गिरोह इस...

बम ब्लास्ट में BJP कार्यकर्ता की मौत हो जाती है… और लिबरल गिरोह इस पर जोक-Meme-इमोजी बना उड़ाते हैं मजाक

कुणाल कामरा ने इसकी तुलना माउंटेन ड्यू के उस विज्ञापन से की, जिसमें 'डर के आगे जीत है' वाला स्लोगन दिया गया था। अन्य लिबरलों ने भी मजाक बनाया।

पश्चिम बंगाल में भाजपा नेताओं पर हमले का दौर जारी है। लेकिन, सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बात ये है कि जो लिबरल गिरोह लोकतंत्र की दुहाई देते नहीं थकता है, वही गिरोह अब इन घटनाओं पर खुशियाँ मना रहा है। पश्चिम बंगाल में गुंडों द्वारा किए गए हमले के बाद भाजपा जनता युवा मोर्चा (BJYM) के अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या ने ‘नहीं डरेंगे’ का नारा लगाया, इस दौरान बमबारी होती रही। इसके बावजूद तथाकथित कॉमेडियन कुणाल कामरा ने इस घटना का मजाक उड़ाया।

कुणाल कामरा ने इसकी तुलना माउंटेन ड्यू के एडवर्टाइजमेंट से की, जिसमें ‘डर के आगे जीत है’ वाला स्लोगन दिया गया था। उन्होंने तेजस्वी सूर्या का मजाक बनाते हुए लिखा – ‘डर के आगे डर है’। इस ट्वीट का रिप्लाई करते हुए पंजाबी गायक एमी विर्क ने हँसने वाले इमोजी डाले। एमी के ट्विटर हैंडल को देखने पर पता चलता है कि वो कई दिनों से दिल्ली में चल रहे ‘किसान आंदोलन’ के समर्थन में प्रोपेगंडा फैलाने में लगे हुए हैं।

दरअसल, ट्वीट किए गए वीडियो में जब तेजस्वी सूर्या ‘नहीं डरेंगे, नहीं डरेंगे’ के नारे लगा रहे थे, तभी उनके आसपास ही फायरिंग/बम ब्लास्ट की आवाज़ आती है। इस आवाज़ को सुनने के बाद वो अपना सिर नीचे कर के रूमाल से छिपाते हैं, जिस पर लिबरल गिरोह तंज कस रहा है। चेतना नामक ट्विटर यूजर ने वीडियो में गोली चलने की आवाज़ का समय ट्वीट करते हुए लिखा कि 0:02 में तेजस्वी सूर्या डर गए।

वहीं सौरभ जैन नामक ट्विटर यूजर ने तो तेजस्वी सूर्या को ‘मीम मैटेरियल’ तक करार दिया। यानी, वामपंथियों ने हिंसा का महिमामंडन किया, जबकि वो बाकी समय लोकतंत्र की दुहाई देते हुए व्यतीत करते हैं। खुद को लेखिका बताने वाली प्रियंका सचेती ने इस वीडियो पर ‘Lol’ लिख कर कूल बनने की कोशिश की। ‘रैंडम मैन’ नामक ट्विटर यूजर ने लिखा कि जब आप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से चीन को लेकर उनकी सरकार की नीतियों के बारे में सवाल करते हैं, तो ऐसा ही होता है।

लोगों ने कुणाल कामरा से और तेजस्वी सूर्या के वीडियो का मजाक बना रहे लोगों से पूछा कि क्या वो लोकतंत्र में हिंसा का समर्थन करते हैं? भाजपा शासित राज्यों में एक पत्ता भी हिलने पर मोदी को जिम्मेदार ठहराने वाले लोग पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कॉन्ग्रेस प्रायोजित हिंसा का महिमामंडन कर रहे हैं। वहीं इस हिंसा के पीड़ितों का मजाक बनाते हुए उन्हें ‘मीम मैटेरियल’ बताया जा रहा है। पश्चिम बंगाल में 100 से अधिक भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है।

बता दें कि इस बमबारी में एक भाजपा कार्यकर्ता की मौत भी हो गई। घटना सिलीगुड़ी के तीनबत्ती की है। सोमवार (दिसंबर 7, 2020) को बीजेपी कार्यकर्ता राज्य सचिवालय की शाखा ‘उत्तरकन्या’ की ओर बढ़ने का प्रयास कर रहे थे। इस दौरान दो जगहों पर उनकी पुलिस से झड़प हुई। बीजेपी का आरोप है कि हमले में उनके कार्यकर्ता उलेन रॉय की मौत हो गई। पुलिस ने भी कार्यकर्ताओं को आगे बढ़ने से रोकने के लिए पानी की बौछारों का इस्तेमाल किया और आँसू गैस के गोले छोड़े।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हमने मोदी को जिताया की रट लगाते हो, खुद 2 बार लड़े तो क्यों नहीं जीत गए?’ महिला पत्रकार ने उतार दी राकेश टिकैत...

'इंडिया 1 न्यूज़' की गरिमा सिंह ने राकेश टिकैत के इस बयान को लेकर भी सवाल पूछा जिसमें वो बार-बार कहते हैं कि इस सरकार को 'हमने जिताया'।

UP में सपा-AIMIM का मुस्लिम डिप्टी CM, मायावती का ब्राह्मण प्रेम और राहुल गाँधी को पसंद नहीं ‘अमेठी’ के आम: 2022 की तैयारी

राहुल गाँधी ने कहा कि उन्हें यूपी के आम का स्वाद पसंद नहीं। उन्होंने कहा कि उन्हें आंध्र प्रदेश के आम पसंद हैं। ओवैसी ने सपा को दिया गठबंधन का ऑफर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,931FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe