Saturday, May 18, 2024
Homeसोशल ट्रेंड'बच्चा हो रहा हो, फिर भी शौहर के दिल की आग बुझाने जाना ही...

‘बच्चा हो रहा हो, फिर भी शौहर के दिल की आग बुझाने जाना ही पड़ेगा’: मौलवी की औरतों को सलाह, ईद से पहले वीडियो वायरल

"यदि उसके आग को तूने नहीं बुझाया तो तेरा शौहर गलत काम में पड़ सकता है। इधर-उधर जा सकता है, उसके चिलमन में आग लग सकती है। वो गलत राह पर जा सकता है। फ़रमाया कि औरत को इस हाल में भी अपने शौहर के पास आना होगा।"

ईद से पहले सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें मुस्लिम औरतों को अपने शौहर के जिस्म की आग बुझाने की बात कही जा रही है। हालाँकि, थोड़ी सी पड़ताल के बाद हमने पाया कि यह वीडियो पुराना है। यह वीडियो सोशल मीडिया पर कहीं-कहीं सितम्बर 2021 में भी अपलोड किया गया है। वक्ता के रूप में मजलिस को सम्बोधित करने वाला कोई और नहीं बल्कि मौलाना जरजिस अंसारी है। जिसके इससे पहले भी कई विवादास्पद वीडियो वायरल हो चुके हैं।

अभी के वायरल वीडियो में जिसे किसी प्रोफेसर साहब नाम के यूजर ने ट्वीट किया है। इस वीडियो में मौलाना जरजिस को कहते सुना जा सकता है, “यदि बीवी को बच्चा हो रहा हो और ऊँटनी पर भी बैठी हो तो भी जचगी के वक्त, बच्चे की पैदाइश का वक्त करीब हो, तो भी अल्लाह के नबी ने फ़रमाया है कि उस वक़्त भी यदि तुम्हारा शौहर हमबिस्तरी को बुलाए, तुम्हारा फायदा उठाना चाहे तो उस वक़्त भी अपने शौहर के पास जाना पड़ेगा। इसलिए कि उसके दिल में लगी आग को तेरे अलावा कोई बुझा नहीं सकती।”

मौलाना ने इसी वायरल वीडियो में आगे कहा, “यदि उसके आग को तूने नहीं बुझाया तो तेरा शौहर गलत काम में पड़ सकता है। इधर-उधर जा सकता है, उसके चिलमन में आग लग सकती है। वो गलत राह पर जा सकता है। फ़रमाया कि औरत को इस हाल में भी अपने शौहर के पास आना होगा। और इस पोज़िशन में भी वह अपने शौहर को जिस्म का फायदा उठाने से नहीं रोक सकती। उसके अरमान को पूरा करोगी, उसके मकसद को पूरा करोगी इसमें ना-नू नहीं होना चाहिए।”

हालाँकि, यह वीडियो 2021 का बताया जा रहा है, क्योंकि फेसबुक के कई इस्लामिक पेजों पर इसे सितम्बर 2021 में अपलोड किया गया था। यहाँ वो पूरा वीडियो भी देख सकते हैं। जिसका एक हिस्सा एक बार फिर अब 2022 में ईद के मौके पर वायरल हो रहा है।

बता दें कि यह पहली बार नहीं जब मौलाना जरजिस का कोई वीडियो या फ़तवा वायरल हुआ है। इससे पहले भी कई विवादित वीडियो वायरल हो चुके हैं। जहाँ साल 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को लेकर भी मौलाना ने विवादित बयान दिया था। वहीं मार्च 2021 के वायरल वीडियो में मौलाना लिपस्टिक लगाने वाली व कार्यक्रमों में चुस्त कपड़े पहनने वाली महिलाओं पर अपना गुस्सा उतार रहा है। वह लड़कियों के बेपर्दा घूमने पर पूरी कौम को मरा हुआ और आईसीयू में पड़ा बता रहा है।

मौलाना जरजिस का यह वीडियो यूट्यूब पर राजधानी चैनल पर 24 मार्च 2021 को अपलोड हुई थी। इस वीडियो में वह लड़कियों पर अपना गुस्सा उतार रहा था। मौलाना कहता है कि जलसों में लड़कियाँ ऐसे सज के आती हैं, जैसे इनकी शादी हो और लड़के इसलिए आते हैं कि पसंद कर सकें किससे शादी करेंगे। मौलाना के मुताबिक ये सब देख उसे ऐसा लगता है, जैसे एक कु%$ के पीछे दस दस कु%& लगे हों।

वीडियो में मौलाना कहता है, “जलसों में लिपस्टिक लगाकर आने का क्या मामला है। बताइए किसको दिखा रही हो। चिपके हुए कपड़े और चिपकी हुई लैगी… पैरों से चिपकी हुई लैगी किसके लिए? हमारी बहनें हैं, हमारी बेटियाँ और हमारी बीवीयाँ हैं… कितनी बार बताया जाए कि जिसकी बेटी, जिसकी बहन जिसकी माँ बेपर्दा घूमती है वह भड़** है। नहीं बोलूँगा दय्यूस। भड़** बोलूँगा क्या कर लेंगे आप? जिसकी बहन बेपर्दा घूम रही है वो भाई भड़** है। जिसकी बेटी बेपर्दा घूम रही है वो बाप भड़** है। जिसकी बीवी बेपर्दा घूम रही है उसका शौहर भड़** है। दय्यूस। अगर योगी हमसे पूछें कि दय्यूस क्या होता है तो बताना पड़ेगा कि दय्यूस भड़** होता है। उन्हें क्या पता। कल मोदी जी पूछेंगे कि दय्यूस किसको कहते हैं तो बताना पड़ेगा। दय्यूस को भड़** कहते हैं। ”

गौरतलब है कि इससे पहले मौलाना जरजिस ने साल 2019 में कहा था, “अगर मोदी या शाह उन्हें देश से बाहर फेंकने की कोशिश कर रहे हैं तो वह भारत के कोने-कोने में ‘जिहाद’ करेंगे।” वीडियो में मौलाना को यह कहते हुए सुना गया था, “इनके बाप के बाप के बाप की भी ताक़त नहीं हैं कि हमें बाहर निकाल दें। हमें निकाल के तो दिखा मोदी, हम भी जिहाद करने से पीछे नहीं हटेंगे।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -