Wednesday, May 22, 2024
Homeसोशल ट्रेंडजिस 'थप्पड़' के लिए नाना पाटेकर को बताया 'बेहूदा', कहा - इसकी फिल्म मत...

जिस ‘थप्पड़’ के लिए नाना पाटेकर को बताया ‘बेहूदा’, कहा – इसकी फिल्म मत देखो; जानिए क्या है उस वायरल Video की सच्चाई

मीडिया ने भी इस वीडियो को चलाते हुए लिखा, "वाराणसी में नाना पाटेकर ने अपने फैंस को जड़ा थप्पड़। फिल्म की शूटिंग के दौरान सेल्फी लेने पहुँचा था फैन।"

फिल्म अभिनेता नाना पाटेकर हाल ही में ‘द वैक्सीन वॉर’ में दिखे थे। अब वो उत्तर प्रदेश के वाराणसी पहुँचे हैं। वहाँ का एक वीडियो भी वायरल हुआ है, जिसे लेकर उनकी खासी आलोचना की जा रही है। वीडियो के आधार पर दावा किया जा रहा है कि एक युवक नाना पाटेकर के साथ सेल्फी लेने के लिए आया, जिसे उन्होंने थप्पड़ मार कर भगा दिया। इसके बाद उनके व्यवहार की आलोचना होने लगी। इस वीडियो को धड़ल्ले से शेयर किया जाने लगा।

नाना पाटेकर ने वाराणसी में फैन को मारा थप्पड़? शेयर हो रहे वीडियो

पत्रकार नरेंद्र नाथ मिश्रा ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, “नाना पाटेकर का उनका फ़ैन के प्रति व्यवहार देखें। इन स्टार को यह समझ नहीं होती है कि इनके जो लटके झटके हैं, इनका जो स्टारडम है,इनके पास जो शोहरत-पैसा है वह इन्हीं फैंस की बदौलत है जिसे वह तुच्छ समझते हैं।”

वहीं भारत समाचार’ ने भी इस वीडियो को चलाते हुए लिखा, “वाराणसी में नाना पाटेकर ने अपने फैंस को जड़ा थप्पड़। फिल्म की शूटिंग के दौरान सेल्फी लेने पहुँचा था फैन। नाना पाटेकर ने थप्पड़ जड़कर फैंस को भगाया। सोशल मीडिया पर वायरल हुआ थप्पड़ मारने का वीडियो। वाराणसी में नाना पाटेकर कर रहे हैं फिल्म ‘जर्नी’ की शूटिंग।”

पत्रकार अभिषेक ने आपत्तिजनक शब्द का इस्तेमाल करते हुए लिखा, “नाना पाटेकर बेहूदे इंसान हैं। ऐसे लोगों की फ़िल्में देखना बंद कीजिए।”

एक अन्य पत्रकार प्रज्ञा मिश्रा ने भी वीडियो डालते हुए लिखा, “इन्हीं सेल्फी लेने वालों ने नाना पाटेकर को हीरो बनाया। इन्हीं ऑटोग्राफ लेने वालों ने नाना पाटेकर को हीरो बनाया। नाना जूस का धंधा करके हीरो नहीं बने। लोगों के प्यार की वजह से हीरो बने। बनारस में शूटिंग के दौरान सेल्फी लेने आए बच्चे को थप्पड़ जड़ दिया। बच्चे को हटाने का दूसरा तरीका भी हो सकता था। हिंसा निंदनीय है।”

इसी तरह कई अन्य हैंडलों से भी ऐसे ही दावे करते हुए इस वीडियो को शेयर किया गया और नाना पाटेकर की निंदा की गई। बता दें कि नाना पाटेकर को सीधा-सादा जीवन जीने के लिए जाना जाता है और वो बड़े-बड़े कार्यक्रमों में भी इसी सादे ड्रेस में पहुँचते हैं। जमीन पर बैठ कर भोजन करते हुए उनकी तस्वीर भी सामने आती है। साथ ही उन्हें किसानों के लिए महाराष्ट्र में कई काम करने के लिए जाना जाता है। सरकारी समाजिक कल्याण के कार्यक्रमों में वो बतौर अतिथि बुलाए जाते रहे हैं।

नाना पाटेकर केविरल वीडियो पर क्या बोले डायरेक्टर

इस वायरल वीडियो पर फिल्म निर्देशक अनिल शर्मा ने प्रतिक्रिया दी है। अनिल शर्मा ‘ग़दर’ और ‘ग़दर 2’ के अलावा ‘अपने’ जैसी सफल फिल्मों के निर्देशन के लिए जाने जाते हैं। सनी देओल के साथ उनकी जोड़ी खूब जमती है। अनिल शर्मा का कहना है कि वाराणसी का ये वीडियो उनकी ही फिल्म की शूटिंग के दौरान का है। उनकी मानें तो ये वीडियो वास्तविक नहीं है, बल्कि फिल्म की शूटिंग के दौरान का है और दृश्य ही कुछ ऐसा था।

दशाश्वमेध घाट के इस वीडियो पर ‘आज तक’ से बात करते हुए अनिल शर्मा बोले, “मुझे भी इस खबर के बारे में जानकारी मिली है। मैंने वीडियो देखा है। नाना पाटेकर ने किसी को नहीं मारा है। ये मेरी फिल्म का शॉट है। इस दृश्य में नाना पाटेकर को उनके पास आने वाले लड़के को सिर पर मारना होता है। शूटिंग चालू थी और ऐसा ही फिल्माया गया। भीड़ में मौजूद किसी व्यक्ति ने इस दृश्य को अपने फोन से शूट कर के लीक कर दिया।”

अनिल शर्मा ने कहा कि इस वीडियो के जरिए नाना पाटेकर की नकारात्मक छवि बनाई जा रही है, जो सरासर गलत है। उन्होंने लोगों से निवेदन किया कि फैंस इस वीडियो को समझें। साथ ही कहा कि ये फिल्म का शॉट है, नाना पाटेकर ने किसी को नहीं मारा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पश्चिम बंगाल में 2010 के बाद जारी हुए हैं जितने भी OBC सर्टिफिकेट, सभी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने कर दिया रद्द : ममता...

कलकत्ता हाई कोर्ट ने बुधवार 22 मई 2024 को पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को बड़ा झटका दिया। हाईकोर्ट ने 2010 के बाद से अब तक जारी किए गए करीब 5 लाख ओबीसी सर्टिफिकेट रद्द कर दिए हैं।

महाभारत, चाणक्य, मराठा, संत तिरुवल्लुवर… सबसे सीखेगी भारतीय सेना, प्राचीन ज्ञान से समृद्ध होगा भारत का रक्षा क्षेत्र: जानिए क्या है ‘प्रोजेक्ट उद्भव’

न सिर्फ वेदों-पुराणों, बल्कि कामंदकीय नीतिसार और तमिल संत तिरुवल्लुवर के तिरुक्कुरल का भी अध्ययन किया जाएगा। भारतीय जवान सीखेंगे रणनीतियाँ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -