Wednesday, May 18, 2022
Homeसोशल ट्रेंड'मेरे को ऐसे धक-धक होरेला है': PM मोदी के सम्बोधन से पहले लोगों को...

‘मेरे को ऐसे धक-धक होरेला है’: PM मोदी के सम्बोधन से पहले लोगों को याद आए बाबू भइया, विपक्ष के लिए अंडरग्राउंड होने का समय?

एक यूजर ने रणवीर कपूर की फिल्म 'रॉकस्टार' के गाने की पंक्ति शेयर करते हुए लिखा कि जब भी पीएम मोदी के सम्बोधन की खबर आती है, उन्हें ऐसा ही लगता है - "मेरी रूह का परिंदा फड़फड़ाए।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार (जून 7, 2021) को शाम 5 बजे राष्ट्र को सम्बोधित करने वाले हैं, ऐसे में कयास लगने शुरू हो गए हैं कि वो किस मुद्दे पर बात करेंगे। किसी का कहना है कि वो कोरोना को लेकर बात करेंगे तो कोई कयास लगा रहा है कि मंत्रिमंडल विस्तार पर बात होगी। लेकिन, सोशल मीडिया में मीम्स की बौछाड़ हो गई है और लोग अपने-अपने अंदाज़ से पीएम मोदी के इस सम्बोधन को लेकर माहौल हल्का कर रहे हैं।

एक यूजर ने ‘कृष’ फिल्म से ह्रितिक रोशन का डायलॉग शेयर किया, जिसमें वो कहते हैं – “मेरी शक्तियों का गलत इस्तेमाल किया गया है माँ”। ‘रोफ़ल स्टालिन’ नामक हैंडल ने लिखा कि टेलीविजन सेट अभी यही सोच रहा होगा।

एक यूजर ने रणवीर कपूर की फिल्म ‘रॉकस्टार’ के गाने की पंक्ति शेयर करते हुए लिखा कि जब भी पीएम मोदी के सम्बोधन की खबर आती है, उन्हें ऐसा ही लगता है – “मेरी रूह का परिंदा फड़फड़ाए।”

एक यूजर ने लिखा कि पीएम मोदी के सम्बोधन से पहले ही लिबरलों और विपक्ष की हालत कुछ ऐसी हो गई है –

एक यूजर ने लिखा, “अब भारतीयों की यही इच्छा है कि लॉकडाउन हमेशा के लिए ख़त्म होने की घोषणा की जाए और वो मोदीजी से यही चाहते हैं”

एक यूजर ने ‘हेरा फेरी’ फिल्म से परेश रावल का डायलॉग शेयर किया, जिसमें वो कहते हैं – “मेरे को ऐसे धक्-धक् हो रैला है।”

एक यूजर ने ‘बाहुबली’ फिल्म से ‘स्वामी देना साथ हमारा’ वाले गाने का दृश्य शेयर किया –

एक यूजर ने ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ से शॉल ओढ़े मनोज वाजपेयी की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा कि जब भी पीएम मोदी देश को सम्बोधित करते हैं, विपक्ष यही सोचता है कि अब अंडरग्राउंड होने का समय आ गया है।

वहीं एक यूजर ने आशंका जताई कि पीएम मोदी कहीं फिर से लोगों को टास्क न दे दें। कुछ लोगों ने नोटेबंदी वाले फैसले को याद करते हुए सलाह दी कि अब लोगों को अपने-अपने सीट बेल्ट कस के बाँध लेने चाहिए। वहीं कुछ लोग उन्हें ही टैग कर के पूछ रहे हैं कि वो आज क्या घोषणा करेंगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मंदिर तोड़ा, खजाना लूटा पर हिला नहीं सके शिवलिंग: औरंगजेब के दरबारी लेखक ने भी कबूला था, शिव महापुराण में छिपा है इसका राज़

मंदिर के तोड़े जाने का एक महत्वपूर्ण प्रमाण 'मा-असीर-ए-आलमगीरी’ नाम की पुस्तक भी है। यह पुस्तक औरंगज़ेब के दरबारी लेखक सकी मुस्तईद ख़ान ने 1710 में लिखी थी।

हनुमान चालीसा के टुकड़े-टुकड़े किए, फिर जला कर फेंक दिया: पंजाब में बेअदबी की घटना, AAP सरकार निशाने पर

पंजाब में हनुमान चालीसा की बेअदबी का मामला। बठिंडा जिले हनुमान चालीसा के जले हुए पन्ने मिलने के बाद से हिन्दू संगठनों में काफी आक्रोश है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,629FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe