Thursday, June 13, 2024
Homeसोशल ट्रेंडQraa Men ब्रांड ने महिलाओं की नग्न तस्वीरों के साथ किया पुरुष प्रॉडक्ट का...

Qraa Men ब्रांड ने महिलाओं की नग्न तस्वीरों के साथ किया पुरुष प्रॉडक्ट का प्रचार, सोशल मीडिया पर भड़के लोग, किया विरोध

सौंदर्य उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए बिना कपड़ों की महिलाओं को प्रदर्शित करते हुए लिखा था, "ओह, हीरो! सिर्फ देखते रहने से कुछ नहीं मिलना। देखने लायक बना, बियर्ड को और खुद को, Qraa बियर्ड आयल के साथ। "क्या यह किसी तरह का भद्दा मजाक है या सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर बुशफायर की तरह फैला हुआ विज्ञापन है…...."

पुरुषों को सजाने और सवारने वाले प्रॉडक्ट ब्रांड Qraa Men को अपने हालिया विज्ञापनों को लेकर तीखी आलोचना का सामना करना पड़ा। दरअसल, ब्रांड ने अपने उत्पादों के प्रचार के महिलाओं के ऐसी चित्रों का इस्तेमाल किया था। जिसमें उन्होंने सौंदर्य उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए बिना कपड़ों की महिलाओं को प्रदर्शित करते हुए लिखा था, “ओह, हीरो! सिर्फ देखते रहने से कुछ नहीं मिलना। देखने लायक बना, बियर्ड को और खुद को, Qraa बियर्ड आयल के साथ।

जैसे ही उन्होंने अपने अपने विज्ञापनों को सोशल मीडिया पर पोस्ट किया लोगों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया। सिर्फ इंस्टाग्राम प्रोफाइल पर ही नहीं बल्कि लोगों ने ट्विटर और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी इसकी तीखी आलोचना की। वहीं रवलीन सभरवाल नाम की एक यूजर ने डिलीट किए गए पोस्ट के स्क्रीनशॉट डालते हुए कहा, “क्या यह किसी तरह का भद्दा मजाक है या सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर बुशफायर की तरह फैला हुआ विज्ञापन है… इस तरह की मार्केटिंग करके वे सीधे महिलाओं को लक्षित कर रहे हैं।” इसके साथ ही उन्होंने अपने पोस्ट में NCW की चेयरपर्सन रेखा शर्मा को भी टैग किया।

ब्रांड ने एक समय के बाद उन सभी टिप्पणियों को अपने कमेंट बॉक्स से डिलीट करना शुरू कर दिया जिसमें लोगों ने ब्रांड और उसके विज्ञापनों की आलोचना की थी।

हालाँकि, लोगों की कड़ी प्रतिक्रियाओं को देखते हुए Qraa Men हालही में पोस्ट किए विज्ञापन सामग्री को हटा दिया है, जिसमें उन्होंने सीधे तौर पर महिलाओं ऑब्जेक्टिफाई किया था। बता दें कई पॉपुलर महिलाओं और पुरूष इंफ्लुएंसर्स ने अतीत में Qraa Men ब्रांड के लिए प्रचार किया हैं। जिसमें फ्लाइंगबीस्ट भी शामिल है, जो सुरक्षा चिंताओं पर सवाल उठाने के बाद एयर एशिया में अपनी नौकरी से हाथ धो बैठे थे।

गौरतलब है कि इस ब्रांड ने महिलाओं के ऐसी तस्वीरों को कुछ पुरुषों के दृष्टिकोण को देखते हुए चुना जो महिलाओं को उत्पाद बेचने के लिए वासना की वस्तु मानते है। जहाँ अभी तक ब्रांड के लिए यह तरीका काफ़ी काम आया था। लेकिन, इस बार सोशल मीडिया यूज़र्स द्वारा भेजे गए कठोर टिप्पणियों के चलते उन्हें अपने विज्ञापनों को हटाना पड़ा। जो उनके लिए एक गहरा सबक है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -