Friday, February 26, 2021
Home सोशल ट्रेंड तेज प्रताप ने अर्नब को कहा 'वायरस', लोगों ने पूछा- 'तुम्हारे अब्बा किस प्रकार...

तेज प्रताप ने अर्नब को कहा ‘वायरस’, लोगों ने पूछा- ‘तुम्हारे अब्बा किस प्रकार के वायरस थे, जो उन्हें वैक्सिंग की जरूरत पड़ी है’

किसी ने लिखा "गलत समझ रहे हो आप। वो वायरस नहीं, खुद वैक्सीन है।" तो किसी ने कहा- "हे मंदबुद्धि, जिनके पिता खुद बेज़ुबानो को ठग चुके हो। उनके मुँह से ऐसे विचार अच्छे नही लगते। ये तो वही बात कर दी। 100 चूहे खा के बिल्ली हज को चली।"

महाराष्ट्र के पालघर में भीड़ द्वारा तीन साधुओं की पीट-पीट कर हत्या के संदर्भ में कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी के खिलाफ टिप्पणी करने को लेकर रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्नब गोस्वामी से मुंबई पुलिस ने सोमवार (अप्रैल 27, 2020) को लगभग 12:30 घंटों तक लगातार पूछताछ की। इसी कड़ी में सोशल मीडिया पर चर्चा में हैं तेज प्रताप जिन्होंने अर्नब को ‘वायरस’ कह दिया।

पूछताछ की वजह से सोमवार (अप्रैल 27, 2020) को दोनों चैनलों पर आने वाले अपने नियमित कार्यक्रमों में भी अर्नब उपस्थित नहीं हो सके। हालाँकि, पूछताछ के बाद वो फिर से चैनल पर दिखे और सोनिया गाँधी से सवाल पूछे। पूछताछ के बाद अर्नब गोस्वामी ने कहा कि वो अपने बयान पर अब भी कायम हैं।

इस बीच राष्ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे ने अर्नब गोस्वामी को ‘वायरस’ कहा है। उन्होंने अर्नब गोस्वामी को निशाने पर लेते हुए ट्विटर पर लिखा, “उस ‘वायरस’ को उसी प्रकार के ‘वैक्सीन’ की जरूरत थी। मैं मुंबई पुलिस के साथ हूँ।”

हालाँकि, लोगों ने उन्हें असली तरह से समझा दिया कि वायरस कौन है और वैक्सीन कौन है। इंदौर से भाजपा विधायक रमेश मेंडोला ने लिखा, “गलत समझ रहे हो आप। वो वायरस नहीं, खुद वैक्सीन है।”

एक यूजर ने लिखा, “तुम्हारे अब्बा किस प्रकार के वायरस थे, जो उन्हें वैक्सिंग की जरूरत पड़ी है, चोर जेल में है।”

राजेन्द्र सिंह विशेन नाम के एक यूजर ने लिखा, “चोर की औलाद और किसके साथ हो सकती थी। पर कौन सी वाली पुलिस वही जिसने दो संन्यासियों का हाथ पकड़ हत्यारों को सौंप के सो गई।”

प्रभात कुशवाहा ने लिखा, फिर तो लालू नाम के वायरस के साथ जो हो रहा, उससे भी सहमत होगे?

एक ने लिखा, “देखो देखो कौन भौंक रहा है, जिसका खुद का बाप जेल में सड़ रहा है।”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “हे मंदबुद्धि, जिनके पिता खुद बेज़ुबानो को ठग चुके हो। उनके मुँह से ऐसे विचार अच्छे नही लगते। ये तो वही बात कर दी। 100 चूहे खा के बिल्ली हज को चली।”

काजल सिंह नाम की एक यूजर लिखती हैं, “मैं भी तिहाड़ जेल की पुलिस के साथ हूँ, जिन्होंने एक चारा चोर को बाँध कर रखा हुआ है।”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “मैं आपके विरोध में हूँ। आपके परिवार ने बिहार को लूटा है, बस यह याद रखिएगा। बाकी मिस यू पापा बोलने से काम नहीं चलेगा गुनाह की सजा मिली है उन्हें।”

एक ने लिखा, “लगता है चरसी को चरस का डोज #AntonioMaino ने भिजवा दिया है इस लॉकडाऊन में। मैं अर्नब के साथ हूँ।”

रितेश कुमार सिंह ने इस पर गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि जितनी पूछताछ अर्नब गोस्वामी से की, अगर इतनी पूछताछ पालघर में साधुओं की नृशंस हत्या करने वालों से कर लेते तो अब तक असली कातिल देश के सामने आ जाते।

सुनील कुमार ने लिखा, “कुछ वायरस तो ऐसे थे जो जानवरों का चारा खा गए, लेकिन खुशी है की उस वायरस का इलाज हो गया।”

बता दें कि अर्नब ने पूछताछ के बाद कहा कि उन्होंने पुलिस का पूरा सहयोग किया है और अगर उन्हें फिर से बुलाया जाता है तो भी वो जाएँगे। साथ ही उन्होंने कहा कि उन्हें गिरफ़्तार होने का भी डर नहीं है। अर्नब गोस्वामी ने कहा कि मुद्दा वो नहीं हैं बल्कि असली मुद्दा पालघर में दो साधुओं सहित तीन लोगों की भीड़ द्वारा निर्मम हत्या का है। अर्नब गोस्वामी ने आरोप लगाया था कि मुंबई पुलिस उन पर हुए हमलों के मामले में कॉन्ग्रेस की साज़िश को कवर-अप करने में जुट गई है। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कुरान की आयतें करती हैं सीमित परिवार की पैरवी: पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त कुरैशी ने बताया इस्लाम को परिवार नियोजन का समर्थक

“1,400 साल पहले, जब दुनिया में कहीं भी जनसंख्या का दबाव नहीं था, कुरान में नियोजित परिवारों के बारे में बात हो रही थी"

‘अंकित शर्मा ने किया हिंसक भीड़ का नेतृत्व, ताहिर हुसैन कर रहा था खुद का बचाव’: ‘द लल्लनटॉप’ ने जमकर परोसा प्रोपेगेंडा

हमारे पास अंकित के परिवार के कुछ शब्द हैं, जिन्हें पढ़कर आज लगता है कि उन्हें पहले से पता था कि आखिर में न्याय तो मिलेगा नहीं लेकिन उसके बदले अंकित को दंगाई घोषित जरूर कर दिया जाएगा।

आमिर खान की बेटी इरा अपने संघी हिन्दू नौकर के साथ फरार.. अब होगा न्याय: Fact Check से जानिए क्या है हकीकत

सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि आमिर खान की बेटी इरा अपने हिन्दू नौकर के साथ भाग गई हैं। तस्वीर में इरा एक तिलक लगाए हुए युवक के साथ देखी जा सकती हैं।

‘ज्यादा गर्मी ना दिखाएँ, जो जिस भाषा को समझेगा, उसे उस भाषा में जवाब मिलेगा’: CM योगी ने सपाइयों को लताड़ा

"आप लोग सदन की गरिमा को सीखिए, मैं जानता हूँ कि आप किस प्रकार की भाषा और किस प्रकार की बात सुनते हैं, और उसी प्रकार का डोज भी समय-समय पर देता हूँ।"

‘लियाकत और रियासत के रिश्तेदार अब भी देते हैं जान से मारने की धमकी’: दिल्ली दंगा में भारी तबाही झेलने वाले ने सुनाया अपना...

प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि चाँदबाग में स्थित दंगा का प्रमुख केंद्र ताहिर हुसैन के घर को सील कर दिया गया था, लेकिन 5-6 महीने पहले ही उसका सील खोला जा चुका है।

3 महीनों के भीतर लागू होगी सोशल, डिजिटल मीडिया और OTT की नियमावली: मोदी सरकार ने जारी की गाइडलाइन्स

आपत्तिजनक विषयवस्तु की शिकायत मिलने पर न्यायालय या सरकार जानकारी माँगती है तो वह भी अनिवार्य रूप से प्रदान करनी होगी। मिलने वाली शिकायत को 24 घंटे के भीतर दर्ज करना होगा और 15 दिन के अंदर निराकरण करना होगा।

प्रचलित ख़बरें

आमिर खान की बेटी इरा अपने संघी हिन्दू नौकर के साथ फरार.. अब होगा न्याय: Fact Check से जानिए क्या है हकीकत

सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि आमिर खान की बेटी इरा अपने हिन्दू नौकर के साथ भाग गई हैं। तस्वीर में इरा एक तिलक लगाए हुए युवक के साथ देखी जा सकती हैं।

UP पुलिस की गाड़ी में बैठने से साफ मुकर गया हाथरस में दंगे भड़काने की साजिश रचने वाला PFI सदस्य रऊफ शरीफ

PFI मेंबर रऊफ शरीफ ने मेडिकल जाँच कराने के लिए ले जा रही UP STF टीम से उनकी गाड़ी में बैठने से साफ मना कर दिया।

कला में दक्ष, युद्ध में महान, वीर और वीरांगनाएँ भी: कौन थे सिनौली के वो लोग, वेदों पर आधारित था जिनका साम्राज्य

वो कौन से योद्धा थे तो आज से 5000 वर्ष पूर्व भी उन्नत किस्म के रथों से चलते थे। कला में दक्ष, युद्ध में महान। वीरांगनाएँ पुरुषों से कम नहीं। रीति-रिवाज वैदिक। आइए, रहस्य में गोते लगाएँ।

शैतान की आजादी के लिए पड़ोसी के दिल को आलू के साथ पकाया, खिलाने के बाद अंकल-ऑन्टी को भी बेरहमी से मारा

मृत पड़ोसी के दिल को लेकर एंडरसन अपने अंकल के घर गया जहाँ उसने इस दिल को पकाया। फिर अपने अंकल और उनकी पत्नी को इसे सर्व किया।

‘अंकित शर्मा ने किया हिंसक भीड़ का नेतृत्व, ताहिर हुसैन कर रहा था खुद का बचाव’: ‘द लल्लनटॉप’ ने जमकर परोसा प्रोपेगेंडा

हमारे पास अंकित के परिवार के कुछ शब्द हैं, जिन्हें पढ़कर आज लगता है कि उन्हें पहले से पता था कि आखिर में न्याय तो मिलेगा नहीं लेकिन उसके बदले अंकित को दंगाई घोषित जरूर कर दिया जाएगा।

केरल में RSS कार्यकर्ता की हत्या: योगी आदित्यनाथ की रैली को लेकर SDPI द्वारा लगाए गए भड़काऊ नारों का किया था विरोध

SDPI की रैली में कुछ आपत्तिजनक टिप्पणी की गई थी, जिसके खिलाफ हिन्दू कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे थे। मृतक नंदू के एक साथी पर भी चाकू से वार किया गया, जिनका इलाज चल रहा है।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,062FansLike
81,844FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe