Saturday, October 1, 2022

विषय

सद्गुरु

महाशिवरात्रि पर ‘अली मौला’ पर नाचते सद्गुरु, ‘बाबा फरीद’ के बारे में बताता गायक: वीडियो देख लोगों ने पूछा – ‘पीर फकीर बनने की...

वीडियो में 'अली मौला' पर नाचते सद्गुरु को देख कर लोग खुश नहीं हैं। लोगों का सवाल है कि महाशिवरात्रि में 'बाबा फरीद' और 'मस्त कलंदर' का क्या काम?

‘पशु-प्रेमी हैं तो मांस मत खाइए, हर दिन 20 करोड़ जानवरों को मारा जा रहा’: दीवाली का विरोध करने वालों को सद्गुरू का जवाब

सद्गुरु जग्गी वासुदेव ने कहा कि देश में हर दिन 200 मिलियन जानवरों को मारा जाता है। अगर आप उसे आधा करते हैं तो 100 मिलियन जानवर बचेंगे।

हिन्दू मंदिरों के सरकारी नियंत्रण से मुक्ति की मुहिम में सद्गुरु के साथ आए सहवाग, देश भर में अभियान चलाने की जरुरत

"कभी ये मंदिर था, भक्ति का, समर्पण का! अब ऐसा खंडहर है कि शराबियों और गंदगी फैलाने वालों के लिए भी सुरक्षित नहीं है। समय आ गया है कि तमिलनाडु के मंदिर मुक्त हों।"

मंदिरों की 50000 एकड़ भूमि पर कब्जा, 1200 प्राचीन प्रतिमाएँ चोरी, 12000 लगभग खत्म: जानिए क्यों जरूरी है ‘फ्री टेम्पल्स’

12000 मंदिर अस्तित्व खो रहे हैं। 25 वर्षों में 1200 प्राचीन प्रतिमाएँ चोरी हो गईं। मंदिरों की 50000 एकड़ भूमि अवैध कब्जे में चली गई। सरकार खुद को सेक्युलर कहती है तो मंदिरों पर कब्जे किए क्यों बैठी है?

शिशु के लिंग के हिसाब से बदलता है माँ के दूध का गुण: सद्गुरु का मजाक उड़ाने वालों की रिसर्च ने खोली पोल

सद्गुरु ने कहा कि मॉं के दूध की प्रकृति शिशु के लिंग के हिसाब से बदलती है। वैज्ञानिक अध्ययनों से भी इसकी पुष्टि हो चुकी है। लेकिन, पहले ऑल्टन्यूज़ की संस्थापक और फिर महिला कॉन्ग्रेस तथा अन्य वामपंथियों ने उनके इस बयान का मजाक उड़ाया।

तुम कंट्रोवर्सी चाहते हो, देश का सवाल है, ऐसा मत करो: सद्गुरु ने राहुल कँवल की ली क्लास

"मुझे एक ही बात पता चल रही है और वो ये कि तुम अभी सिर्फ़ अपने कैमरे के सामने कंट्रोवर्सी चाहते हो। ऐसा मत करो। ये हमारे देश का सवाल है। ये सिर्फ़ 'माइनॉरिटी प्रॉसिक्यूशन' नहीं बल्कि 'रिलीजियस माइनॉरिटी प्रॉसिक्यूशन' के लिए है।"

6000 साल पुराना फायर टेम्पल, Pak के हिन्दू युवक की आपबीती और जामिया हिंसा का कनेक्शन

"पुलिस ने धैर्य दिखाया और गोली नहीं चलाई। लखनऊ में 56 पुलिसकर्मियों पर गोली किसने चलाई? जो लोग कह रहे हैं कि उनके पास कोई कागज़ ही नहीं हैं, वो आख़िर हैं कौन? 6000 साल से भी ज़्यादा पुराने बाकू के फायर टेम्पल पहुँचे एक पाकिस्तानी युवक की दर्दनाक कहानी सुनिए..."

सद्गुरु के ईशा फाउंडेशन ने प्रोपेगेंडा वेबसाइट के फर्जी आरोपों का दिया करारा जवाब

ईशा फाउंडेशन ने यह भी बताया कि सद्गुरु को United Nations Convention to Combat Desertification (UNCCD) के COP14 शिखर सम्मेलन में Cauvery Calling अभियान के बारे में बोलने के लिए निमंत्रित किया गया था। वे भारत में इस अभियान की सफलता से प्रभावित हो इसे दुनिया-भर में करने के बारे में जानना चाहते थे।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,570FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe