Tuesday, August 3, 2021

विषय

Bihar election analysis

नीतीश ‘हार’ कर भी पंजाब-महाराष्ट्र के कारण बने ‘विजेता’… लेकिन सोनिया का तो ‘चिराग’ ही बुझ गया

बिहार चुनाव में माँ-बेटे की कॉन्ग्रेस पार्टी 27 में से 8 सीटें गवाँ 19 में सिमट गई। वास्तव में बिहार के नए जनादेश ने यह संदेश दे दिया कि...

नीतीश को बिहार का सीएम बनाने के पीछे भाजपा की कौन-सी मजबूरी है?

कहा जाता है कि भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा के पास भाजपा बिहार के नेता यह समस्या ले कर गए थे कि नीतीश को मुख्यमंत्री न बनाया जाए। नड्डा ने विचार करने के बाद अमित शाह से चर्चा की, अमित शाह भी सहमत दिखे। फिर बात....

बिहार विधानसभा चुनाव: गलत हो सकते हैं Exit Polls, कारण – महिला वोटिंग, अनाज वितरण और फेल होता MY समीकरण

बिहार में हुए विधानसभा चुनाव के बाद आए लगभग सभी एग्जिट पोल्स में महागठबंधन की सरकार बनती दिख रही है, लेकिन क्या ये आँकड़े गलत भी हो सकते हैं?

बिहार चुनाव: कितने सही होंगे एग्जिट पोल? Bihar election analysis

बिहार चुनाव: कितने सही होंगे एग्जिट पोल? किसकी बनेगी बिहार में सरकार? क्या एग्जिट पोल कह रहे हैं सही कहानी?

जो बिहार में सब जानते हैं वह नीतीश कुमार ने खुद क्यों कहा, PM मोदी ने उन्हें ‘जरूरत’ क्यों बताया?

यह महज संयोग नहीं, प्रयोग है। इसका असर हुआ तो एनडीए उस स्थिति में पहुँच सकती है, जिसका अनुमान कोई नहीं लगा रहा।

हिंदुत्व को मिटाने में सब लगा हुआ है: जाले विधानसभा के रुझान

जिवेश मिश्रा को पूरी उम्मीद है कि उनके क्षेत्र की जनता यह देख कर कॉन्ग्रेस को मुँहतोड़ जवाब देगी, जिसका असर 10 नवंबर को देखने को मिलेगा।

बिहार में 10 नवंबर को क्या होगा? उलझे समीकरणों के बीच जमीन के संकेत स्पष्ट हैं

इस चुनावी लड़ाई में BJP सबसे आगे दिख रही। RJD और JDU उसके पीछे। लेकिन, बिना नीतीश कुमार के कोई सरकार बनने की संभावना नहीं दिखती।

‘ईमानदार’ नेता का ईमानदार इंटरव्यू: राजद प्रत्याशी अमरनाथ गामी

हायाघाट के जदयू विधायक अमरनाथ गामी ने बगावती तेवर अपनाते हुए राजद में जाने का फैसला कर लिया है और इस बार वह बिहार के विधानसभा चुनाव में राजद के उम्मीदवार हैं।

एक मुखिया जिसने पंचायत की शक्ल बदल दी, जिन्हें विधानसभा में होना चाहिए: मिलिए मंदाकिनी चौधरी से

मंदाकिनी चौधरी का काम एक मुखिया के रूप में जमीन पर नजर आता है। उनकी बातें लक्ष्यहीन या हवा-हवाई किस्म की नहीं हैं।

आसान पिच पर लालू के माई समीकरण और तेज प्रताप का मुश्किल इम्तिहान!

2010 में जदयू के राजकुमार राय ने अन्य जातियों की गोलबंदी के सहारे ही राजद के माई समीकरण को ध्वस्त कर दिया था। 2015 में नीतीश कुमार...

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,711FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe