Friday, December 9, 2022
Homeवीडियोजहरीली जिहादनों-वामपंथनों का 'हिन्दू प्रेम' | Roasting Jihadi-Leftists on Tanishq issue

जहरीली जिहादनों-वामपंथनों का ‘हिन्दू प्रेम’ | Roasting Jihadi-Leftists on Tanishq issue

इंटरनेट के दौर में तनिष्क विज्ञापन पर हुए बवाल ने यह साबित कर दिया कि जिहादी-वामपंथियों का प्रोपगेंडा अब और ज्यादा नहीं चल पाएगा। 'सेकुलर' विज्ञापन को देखने के बाद जो प्रतिक्रिया आई उसके कारण तनिष्क को माफीनामा तक जारी करना पड़ा।

इंटरनेट के दौर में तनिष्क विज्ञापन पर हुए बवाल ने यह साबित कर दिया कि जिहादी-वामपंथियों का प्रोपगेंडा अब और ज्यादा नहीं चल पाएगा। ‘सेकुलर’ विज्ञापन को देखने के बाद जो प्रतिक्रिया आई उसके कारण तनिष्क को माफीनामा तक जारी करना पड़ा।

ये बात और है कि इस माफीनामे की आखिरी पंक्तियों में भी तनिष्क ने अपनी असली ‘मंशा’ को जाहिर कर दिया। ये माफीनामा बिलकुल ऐसा है जैसे हिंदुओं ने उनके ब्रांड का बहिष्कार न किया हो, बल्कि उन पर हमले का ऐलान कर दिया हो।

एनडीटीवी तो इस कल्पना को वास्तविकता बताने पर ही आतुर हो गया और फेक खबर चला दी कि गाँधीधाम में तनिष्क स्टोर पर हमला हुआ है। खास बात देखिए खुद तनिष्क स्टोर के मैनेजर को ही नहीं मालूम था कि वहाँ हमला बोला गया है। बाद में सेकुलर पत्रकार एनडीटीवी के इस कारनामे की सफाई अपने ‘शब्दकोष’ के जरिए देते रहे।

इस बीच जहरीली जिहादनों-वामपंथनों ने भी ‘हिंदूप्रेम’ पर ज्ञान दिया और तनिष्क का बहिष्कार करने वालों के औकात की बात उठाई।

आगे पूरा वीडियो यहाँ क्लिक करके देखें

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अजीत भारती
अजीत भारती
पूर्व सम्पादक (फ़रवरी 2021 तक), ऑपइंडिया हिन्दी

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14190 औरतें, 3 शहरों में कॉल सेंटर, 300 दलाल और WhatsApp: देश भर में फैला था सेक्स रैकेट, देह के धंधे के साथ ड्रग्स...

तेलंगाना में एक बड़े स्तर के सेक्स रैकेट का पर्दाफाश हुआ है। कॉल सेंटर और व्हाट्सएप के जरिए इसका संचालन हो रहा था। देश के कई राज्यों में देह और ड्रग्स का यह धंधा फैला हुआ था।

धुआँधार प्रचार, जीत के दावे, लेकिन गुजरात में मात्र 5 सीटों पर सिमट कर रह गई AAP: केजरीवाल का ‘हिन्दू कार्ड’ भी फेल, ग्राउंड...

गुजरात विधानसभा चुनावों में AAP आई तो थी चुनाव जीतने के सपने लेकर लेकिन जा रही है कॉन्ग्रेस के वोट काट कर। जानें क्या है पार्टी का भविष्य।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
237,407FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe