Sunday, June 23, 2024
Homeवीडियोलिब्रांडू फेसबुक छोड़ रहे हैं! पर क्यों? अजीत भारती का वीडियो । Ajeet Bharti...

लिब्रांडू फेसबुक छोड़ रहे हैं! पर क्यों? अजीत भारती का वीडियो । Ajeet Bharti on Liberals leaving Facebook

लिबरल गिरोह ट्विटर पर फेसबुक डिलीट करने का कैंपेन चला रहे हैं। ऐसा वो इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि इनके हिसाब से फेसबुक, भाजपा और मोदी समर्थक है। हालाँकि ये इनकी नौटंकी से ज्यादा कुछ नहीं है, क्योंकि...

इन दिनों लिबरल गिरोह ट्विटर पर फेसबुक डिलीट करने का कैंपेन चला रहे हैं। ऐसा वो इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि इनके हिसाब से फेसबुक, भाजपा और मोदी समर्थक है। हालाँकि ये इनकी नौटंकी से ज्यादा कुछ नहीं है, क्योंकि इस दुनिया में ऐसा होना संभव नहीं है। लिबरलों ने फेसबुक अकाउंट इसलिए बंद नहीं किया कि बेंगलुरु में संप्रदाय विशेष की उग्र भीड़ ने दलित कॉन्ग्रेस विधायक के घर तोड़-फोड़ की और सामान लूटे।

दंगाइयों ने 250 गाड़ियाँ फूँक दीं और लगभग 60 पुलिसकर्मी घायल हुए। इन सबके पीछे की वजह पैगंबर मोहम्मद के संबंध में कथित फेसबुक टिप्पणी रही। लिबरलों ने अपना फेसबुक अकाउंट इसलिए बंद किया, क्योंकि वॉल स्ट्रीट जर्नल ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया कि फेसबुक के एक (बेनाम) शीर्ष अधिकारी ने कहा कि एंटी मुस्लिम (मुस्लिम विरोधी) पोस्ट को ‘हेट स्पीच’ के दायरे में नहीं रखा जाएगा।   

पूरा वीडियो इस लिंक पर क्लिक कर के देखें

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

अजीत भारती
अजीत भारती
पूर्व सम्पादक (फ़रवरी 2021 तक), ऑपइंडिया हिन्दी

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मोदी के दिए घरों में रहते हैं, 100% वोट कॉन्ग्रेस को देते हैं’: बोले असम CM सरमा – राज्य पर कब्ज़ा करना चाहते हैं...

सीएम हिमंता ने कहा कि बांग्लादेशी मूल के अल्पसंख्यकों ने कॉन्ग्रेस को इसलिए वोट दिया, क्योंकि अगले 10 सालों में वे राज्य को कब्जा चाहते हैं।

NEET पीपर लीक की जाँच अब CBI के हवाले, केंद्रीय जाँच एजेंसी ने दर्ज की FIR: PG की परीक्षा के लिए नई तारीखों का...

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की ओर से बताया गया कि विवाद की समीक्षा के बाद मंत्रालय ने मामले की व्यापक जाँच के लिए इसे सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -