Saturday, September 25, 2021
104 कुल लेख

ओम द्विवेदी

Writer. Part time poet and photographer.

तीन बीघा कॉरिडोर: बांग्लादेशियों को आने-जाने के लिए भारत ने दी जमीन… लेकिन स्थानीय भारतीय मनाते हैं शहीद दिवस

‘तीन बीघा कॉरिडोर’ ही वह जमीन का एक भाग है, जो बांग्लादेश को अपने एन्क्लेव से जोड़ता है। संविधान संशोधन के माध्यम से...

इस्लामी आक्रान्ताओं ने लूटा, भूकंप से हुआ तबाह… कांगड़ा में माता बज्रेश्वरी मंदिर का वैभव फिर भी नहीं हुआ कम

गजनवी ने माता बज्रेश्वरी देवी के इस मंदिर को 5 बार लूटा और नष्ट किया। मोहम्मद बिन तुगलक और सिकंदर लोधी ने भी इस मंदिर को लूटा और...

चित्रकूट का पर्वत जो श्री राम के वरदान से बना कामदगिरि, यहाँ विराजमान कामतानाथ करते हैं भक्तों की हर इच्छा पूरी

भगवान राम ने अपने वनवास के दौरान लगभग 11 वर्ष मंदाकिनी नदी के किनारे स्थित चित्रकूट में गुजारे। चित्रकूट एक प्रमुख तीर्थ स्थल माना जाता है...

सीढ़ियों पर चलने से संगीत की ध्वनि… आस्था और रहस्य का अद्भुत मेल: कुंभकोणम का 800 साल पुराना ऐरावतेश्वर मंदिर

‘द ग्रेट लिविंग टेंपल्स’ में से एक है ऐरावतेश्वर मंदिर। 12वीं शताब्दी में राजराजा चोल द्वितीय द्वारा बनवाया गया यह मंदिर तमिलनाडु के...

खीर भवानी माता मंदिर: शुभ-अशुभ से पहले बदल जाता है कुंड के जल का रंग, अनुच्छेद-370 पर दिया था खुशहाली का संकेत

हनुमान जी लंका से माता खीर भवानी की प्रतिमा को ले आए और उन्हें जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से 14 किमी दूर तुलमुल गाँव में स्थापित कर दिया।

दो समुद्री तटों और चार पहाड़ियों के बीच स्थित रायगढ़ का हरिहरेश्वर मंदिर, जहाँ विराजमान हैं पेशवाओं के कुलदेवता

अक्सर कालभैरव की प्रतिमा दक्षिण की ओर मुख किए हुए मिलती है लेकिन हरिहरेश्वर में स्थित मंदिर में कालभैरव की प्रतिमा उत्तरमुखी है।

जाखू मंदिर: जानिए क्यों पहुँचे थे हनुमान जी शिमला के जाखू पहाड़ पर, स्थापित है 108 फुट की प्रतिमा

यह विशालकाय प्रतिमा स्थित है जाखू मंदिर में जो समुद्र तल से 8040 फुट की ऊँचाई पर जाखू पहाड़ पर स्थित है।

विराजमान भगवान विष्णु, प्रसिद्धि माता पार्वती और भगवान शिव को लेकर: त्रियुगीनारायण मंदिर की कहानी

मान्यता है कि रुद्रप्रयाग का त्रियुगीनारायण मंदिर वह जगह है जहाँ भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह संपन्न हुआ था।

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,228FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe