Wednesday, May 18, 2022
Homeफ़ैक्ट चेकमीडिया फ़ैक्ट चेक'दक्षिण अफ्रीका ने भारत को वापस भेज दी कोरोना वैक्सीन की 10 लाख डोज,...

‘दक्षिण अफ्रीका ने भारत को वापस भेज दी कोरोना वैक्सीन की 10 लाख डोज, कारगर नहीं है, हो रही बीमारी’ – Fact Check

सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने भी 'द हिन्दू' की खबर शेयर कर इसे आगे बढ़ाया। NDTV ने भी रिपोर्ट्स के हवाले से इस खबर को लपक लिया। फिर पाकिस्तान ने भी कहा कि भारत पूरी दुनिया को खतरे में डाल रहा है। - लेकिन सच यह है कि...

कई मीडिया संस्थानों ने खबर चलाई है कि दक्षिण अफ्रीका ने भारत से ली गई वैक्सीन की डोज लौटाने का फैसला किया है। इन ख़बरों में कहा गया कि पुणे के ‘सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (SII)’ से ली गई कोरोना वैक्सीन की 1 मिलियन डोज दक्षिण अफ्रीका अब उसे वापस लौटा देगा। बताया गया कि वायरस के नए म्युटेंट पर ये कारगर नहीं है और इससे बीमारी हो रही है, इसलिए ऐसा फैसला लिया गया।

पाकिस्तान की सत्ताधारी पार्टी ‘तहरीक-ए-इंसाफ (PTI)’ ने भी फ़ोर्ब्स की खबर शेयर कर के दावा किया कि भारत पूरी दुनिया को खतरे में डाल रहा है। सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने भी ‘द हिन्दू’ की खबर शेयर कर इसे आगे बढ़ाया। NDTV ने भी रिपोर्ट्स के हवाले से इस खबर को लपक लिया और दक्षिण अफ्रीका के स्वास्थ्य मंत्री के हवाले से इस खबर को आगे बढ़ाया। ‘इकनोमिक टाइम्स’ और ‘आउटलुक’ ने भी इस बारे में खबर प्रकाशित की।

पोर्टल ‘VCCircle’ ने भी अपनी खबर में कहा कि AstraZeneca के शॉट्स तैयार करने वाली SII को दक्षिण अफ्रीका की सरकार ने कह दिया है कि वो अपने दिए 10 लाख वैक्सीन की डोज वापस ले ले। कई अन्य मीडिया पोर्टल्स ने भी इस खबर को प्रकाशित किया। सोशल मीडिया पर इसे शेयर कर के भाजपा विरोधियों ने अपने वही पुराने राग को अलापा, जिसमें इस वैक्सीन को खतरनाक बताया गया था।

अब आपको बताते हैं कि इस खबर की सच्चाई क्या है। दक्षिण अफ्रीका के स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर ज़्वेली मखीज़ ने मंगलवार (फरवरी 16, 2021) को स्पष्ट किया कि उनके देश ने SII को वैक्सीन वापस नहीं किया है। ‘स्टेट ऑफ द नेशन एड्रेस डिबेट’ के दौरान संसद में उन्होंने साफ़ किया कि मीडिया रिपोर्ट्स में जैसा कहा जा रहा है, ऐसा कुछ भी नहीं है। ‘Wion News’ ने मंत्री के इस बयान को प्रकाशित किया है।

दक्षिण अफ्रीका के स्वास्थ्य मंत्री ने इस पर सफाई देते हुए आगे कहा, “मैं फिर से ये साफ़ कर देना चाहता हूँ कि वैक्सीन एक्सपायर नहीं हुए हैं और हमने खुद से परीक्षण कर के 31 अप्रैल की एक्सपायरी तारीख तय की है। गलत अफवाह फैलाई गई कि वैक्सीन एक्सपायर हो गए हैं। हमने जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन की भी 90 लाख डोज ऑर्डर की है। कई अंतरराष्ट्रीय चैनलों से वैक्सीन निर्माताओं से बातचीत जारी है।”

बता दें कि भारत अब तक 15 से अभी अधिक देशों को वैक्सीन की खेप भेज कर उनकी मदद कर चुका है। भारत इसी महीने कनाडा को कोरोना वैक्सीन ‘कोविशील्ड’ की पाँच लाख खुराक भेजेगा। भारत सरकार ने इसकी मंजूरी दे दी। कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच फोन पर हुई बातचीत के बाद ये मंजूरी दी गई। इसी तरह पाकिस्तान के अलावा सभी पड़ोसी मुल्कों को भी वैक्सीन दी गई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सबा नकवी ने एटॉमिक रिएक्टर को बता दिया शिवलिंग, विरोध होने पर डिलीट कर माँगी माफ़ी: लोग बोल रहे – FIR करो

सबा नकवी ने मजाक उड़ाते हुए कहा कि भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर में सबसे बड़े शिवलिंग की खोज हुई। व्हाट्सएप्प फॉरवर्ड बता कर किया शेयर।

गुजरात में बुरी तरह फेल हुई AAP की ‘परिवर्तन यात्रा’, पंजाब से बुलाई गाड़ियाँ और लोग: खाली जगह की ओर हाथ हिलाते रहे नेता

AAP नेता और पूर्व पत्रकार इसुदान गढ़वी रैली में हाथ दिखाकर थक चुके थे लेकिन सामने कोई उनकी बात का जवाब नहीं दे रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,677FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe