Friday, May 24, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकराजनीति फ़ैक्ट चेक'मोदी जी किसी भी प्रकार के आरक्षण के खिलाफ हैं': कॉन्ग्रेसी नेता ने शेयर...

‘मोदी जी किसी भी प्रकार के आरक्षण के खिलाफ हैं’: कॉन्ग्रेसी नेता ने शेयर की वीडियो, फैक्ट चेक में फँस गए नेहरू

कॉन्ग्रेस पार्टी के प्रवक्ता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राज्यसभा में दिए गए भाषण की एक छोटी सी क्लिप शेयर की और दावा किया कि पीएम मोदी आरक्षण के विरोधी हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा में जोरदार भाषण दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तमाम मुद्दों पर कॉन्ग्रेस की धज्जियाँ उड़ाई और कॉन्ग्रेस के आरक्षण विरोधी रूख को सबके सामने ला दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर जैसे राज्य में लोगों को आरक्षण का लाभ न मिलने को लेकर भी कॉन्ग्रेस पर निशाना साधा, तो राज्यसभा में देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के आरक्षण विरोधी रूख को भी बेपर्दा कर दिया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जवाहरलाल नेहरू के एक पत्र को पढ़ा, जिसे उन्होंने उस समय राज्यों के मुख्यमंत्रियों को लिखा था और अपने आरक्षण विरोधी रुख को साफ किया था।

हालाँकि पीएम मोदी के इस भाषण का एक छोटा हिस्सा जान-बूझकर कॉन्ग्रेस के प्रवक्ता सुरेंद्र राजपूत ने एक्स पर शेयर किया। इस वीडियो को शेयर करते हुए सुरेंद्र राजपूत ने लिखा, “मोदी जी क्या कह रहे हैं? “ये किसी भी प्रकार के आरक्षण के ख़िलाफ़ हैं? नौकरी में तो बिलकुल नहीं”? क्या हो रहा है भाजपा में?”। सुरेंद्र राजपूत ने भ्रम फैलाने के लिए पीएम मोदी के भाषण का 33 सेकंड का हिस्सा ही शेयर किया।

हकीकत ये है कि जवाहरलाल नेहरू को लेकर पीएम मोदी ने राज्यसभा में उनका एक पत्र पढ़ा था। इस पत्र को पढ़ते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज की काॅन्ग्रेस ही नहीं, बल्कि देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू भी आरक्षण के खिलाफ थे। अगर बाबा साहब आंबेडकर नहीं होते तो देश के वंचित वर्गों को काॅन्ग्रेस कभी आरक्षण नहीं देती।

राज्यसभा में पीएम मोदी ने कहा, “मैं आदरपूर्वक नेहरू जी को बहुत याद करता हूँ। एक बार नेहरू जी ने मुख्यमंत्रियों को चिट्ठी लिखी थी। उन्होंने लिखा कि मैं किसी भी आरक्षण को पसंद नहीं करता और खासकर नौकरी में आरक्षण तो कतई ही नहीं। मैं ऐसे किसी भी कदम के खिलाफ हूँ जो अकुशलता को बढ़ावा दे, जो दोयम दर्जे की ओर ले जाएँ।”

पीएम मोदी के पत्र पढ़ते हुए वीडियो को समाचार एजेंसी एएनआई ने भी साझा किया है।

बहरहाल, कॉन्ग्रेस प्रवक्ता द्वारा ये क्लिप शेयर करने के कुछ सेंकड में ही लोगों ने उसे एक्सपोज कर दिया था। सुरेंद्र राजपूत के ट्वीट के जवाब में ही लोगों ने असली वीडियो सामने रख दिया। ऐसे में भले ही कॉन्ग्रेस प्रवक्ता की फेक न्यूज फैलाने की कोशिशें नाकाम हो गई हों, लेकिन आम लोगों को जरूर इनकी साजिशों से सावधान रहने की जरूरत है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नाम – कृष्णा मोहिनी, जगह – द्वारका, एजेंडा – प्राइड मार्च वाला: Colors के सीरियल में LGBTQIA+ प्रोपेगंडा के लिए बच्चे का इस्तेमाल, लड़का...

सीरियल में जब बच्चा पूछता है कि 'प्राइड मार्च' क्या होता है, तो एक शख्स समझाता है कि वो लड़की पैदा हुई थी लेकिन उसे लड़के जैसा रहना पसंद है तो उसने खुद को लड़का बना दिया।

पहले दोस्ती की, फिर फ्लैट में ले गई… MP अनवारुल अजीम की हत्या में शिलांती रहमान पकड़ी गई, कसाई से कटवाया फिर हल्दी लगाकर...

बांग्लादेशी सांसद की हत्या मामला में वो महिला हिरासत में ले ली गई है जिसने उन्हें हनीट्रैप में फँसाकर फ्लैट में बुलवाया था। महिला का नाम शिलांती रहमान है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -