Saturday, April 13, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकराजनीति फ़ैक्ट चेक7 सितारा सुख-सुविधाओं वाले विमान में यात्रा करते हैं PM मोदी, कॉन्ग्रेसी नेता ने...

7 सितारा सुख-सुविधाओं वाले विमान में यात्रा करते हैं PM मोदी, कॉन्ग्रेसी नेता ने शेयर की फोटो: Fact Check

यह जेट 17 घंटे बिना रुके उड़ान भर सकता है। ये एक सात सितारा प्राइवेट जेट है, जिसमें सारी सुख-सुविधाएँ तो उपलब्ध है ही, साथ ही इसे चलाने के लिए पायलट्स का भी चुनाव अलग तरीके से होता है। PM मोदी का इस जेट से...

जीतू पटवारी ने एक विमान का फोटो शेयर करते हुए लिखा, “रेल बिक गई, चाय का क्या? अरे भाई! पीएम साहब चाय वाली पृष्ठभूमि से आते हैं तो क्या हुआ, हम जब उन्हें ज्यादा सुविधाएँ देंगे, तभी तो वो भारत को विश्वगुरु बनाएँगे। प्रधानमंत्री के विमान के अंदर के दर्शन।” साथ ही उन्होंने जिस विमान की तस्वीर शेयर की, उसमें अंदर सोफे-टेबल, टीवी और कई अन्य महँगी वस्तुएँ रखी दिख रही हैं।

इस ट्वीट के माध्यम से जीतू पटवारी का आरोप था कि देश की जनता के रुपयों से पीएम मोदी अपनी सुविधाएँ बढ़ा रहे हैं और वो भोग-विलास की वस्तुओं से लैस विमान में ही यात्रा करते हैं। हालाँकि, सोशल मीडिया में कई लोगों ने उनका झूठ पकड़ लिया। ‘स्ट्रेटेजिक स्पामिंदर भारती’ ने जीतू पटवारी के इन दावों की सबूतों के साथ पोल खोली। दरअसल, वो प्रधानमंत्री मोदी के विमान की तस्वीर थी ही नहीं।

दरअसल, जीतू पटवारी ने जिस 787 जेट की तस्वीर शेयर की, वो प्राइवेट है, पीएम मोदी की नहीं है। उसे दुनिया का पहला ‘787 ड्रीम जेट’ बताया गया है, जिसका प्रबंधन सितम्बर 2016 से ही डियर जेट नामक कम्पनी करती आ रही है। इस एयरक्राफ्ट को हॉन्गकॉन्ग स्थित डियर जेट के बड़े में शामिल किया गया है। इसका डिजाइन फ़्रांस के मशहूर इंटीरियर डिजाइनर जैक्स प्लेरेजियन ने किया है।

उन्होंने एयरक्राफ्ट कंप्लीशन सेंटर के साथ मिल कर 2.5 साल में क्राफ्टिंग के इस नमूने को तैयार किया, जो ऐरोस्पेस में अलग ही स्थान रखता है। यह जेट 17 घंटे बिना रुके उड़ान भर सकता है। ये एक सात सितारा प्राइवेट जेट है, जिसमें सारी सुख-सुविधाएँ तो उपलब्ध है ही, साथ ही इसे चलाने के लिए पायलट्स का भी चुनाव अलग तरीके से होता है। ये जेट भारत की है ही नहीं। इसीलिए इसका पीएम मोदी का होने का तो सवाल ही नहीं उठता।

इससे पहले जीतू पटवारी ने नरेंद्र मोदी की केंद्र सरकार पर ये कहते हुए निशाना साधा था कि केंद्र का प्रयास था कि एक बेटा यानी ‘विकास’ हो। लेकिन उसके बदले 5 बेटियाँ यानी ‘नोटबंदी’, ‘जीएसटी’, ‘महंगाई’, ‘बेरोजगारी’ और ‘मंदी’ पैदा हो गई। राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने भी संबित पात्रा की शिकायत पर जीतू के ट्वीट पे संज्ञान लिया था। भाजपा नेता शिवराज सिंह चौहान ने इसे कॉन्ग्रेस की निकृष्टतम विचारधारा करार दिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों को MSP की कानूनी गारंटी देने का कॉन्ग्रेसी वादा हवा-हवाई! वायर के इंटरव्यू में खुली पार्टी की पोल: घोषणा पत्र में जगह मिली,...

कॉन्ग्रेस के पास एमएसपी की गारंटी को लेकर न कोई योजना है और न ही उसके पास कोई आँकड़ा है, जबकि राहुल गाँधी गारंटी देकर बैठे हैं।

जज की टिप्पणी ही नहीं, IMA की मंशा पर भी उठ रहे सवाल: पतंजलि पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, ईसाई बनाने वाले पादरियों के ‘इलाज’...

यूजर्स पूछ रहे हैं कि जैसी सख्ती पतंजलि पर दिखाई जा रही है, वैसी उन ईसाई पादरियों पर क्यों नहीं, जो दावा करते हैं कि तमाम बीमारी ठीक करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe