Saturday, November 28, 2020
Home फ़ैक्ट चेक राजनीति फ़ैक्ट चेक TMC नेता ने फैलाई फेक न्यूज़, 5 साल पुरानी तस्वीर ट्वीट कर पूछा- हम...

TMC नेता ने फैलाई फेक न्यूज़, 5 साल पुरानी तस्वीर ट्वीट कर पूछा- हम कोरोना से ऐसे लड़ेंगे?

दिनेश त्रिवेदी ने दादर रेलवे स्टेशन की एक पुरानी फोटो शेयर की। उन्होंने इसे ताज़ा तस्वीर बताते हुए सवाल किया कि तस्वीर में दिख रही भीड़ अगर गाँवों तक आ पहुँची, फिर देश कोरोना वायरस से कैसे लड़ पाएगा? उन्होंने जो तस्वीर शेयर की वह मार्च 3, 2015 को क्लिक की गई थी।

तृणमूल कॉन्ग्रेस के नेता दिनेश त्रिवेदी ने कोरोना वायरस को लेकर अफवाह फैलाई है। इसके लिए उन्होंने उसी रेलवे का सहारा लिया, जिसके वो कभी मंत्री हुआ करते थे। पूर्व रेलमंत्री ने एक पुरानी तस्वीर शेयर कर मोदी सरकार पर आरोप लगाए। बता दें कि दुनिया भर में कोरोना वायरस से अब तक 3 लाख से भी अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं और लगभग 13 हज़ार लोगों ने इस संक्रमण से अपनी जान गँवाई है। जहाँ एक तरह पीएम मोदी जनता कर्फ्यू की अपील कर के लोगों को इससे बचाव के उपायों पर अमल करने को कह रहे हैं, कुछ नेता लगातार अफवाह फैलाने में लगे हैं। त्रिवेदी उनमें से ही एक हैं।

दिनेश त्रिवेदी ने दादर रेलवे स्टेशन की एक पुरानी फोटो शेयर की। उन्होंने इसे ताज़ा तस्वीर बताते हुए सवाल किया कि तस्वीर में दिख रही भीड़ अगर गाँवों तक आ पहुँची, फिर देश कोरोना वायरस से कैसे लड़ पाएगा? त्रिवेदी ने जो तस्वीर शेयर की, वो ‘अलामी स्टॉक’ की थी। उन्होंने सरकारी तैयारियों पर निशाना साधते हुए इसे बेहूदापन करार दिया। उन्होंने पूछा कि क्या इसी तरीके से हम कोरोना से लड़ने के दावे कर रहे हैं?

जब हमने ‘अलामी स्टॉक’ पर जाकर इस फोटो के बारे में छानबीन की तो पता लगा कि ये फोटो मार्च 3, 2015 को क्लिक की गई थी। यानी दिनेश त्रिवेदी ने 5 साल पुरानी तस्वीर को शेयर कर मोदी सरकार पर कोरोना से निपटने की तैयारी न होने के आरोप लगाए। पल्लवी घोष जैसे ‘दरबारी’ पत्रकारों ने उनके इस ट्वीट को आगे बढ़ाया और सरकार पर निशाना साधा। कॉन्ग्रेस की पत्रकार के रूप में जानी जाने वाली पल्लवी ने इस फोटो को आगे शेयर किया और लिखा- “ओह गॉड!

पल्लवी घोष ने दिनेश त्रिवेदी की ट्वीट को आगे बढ़ाया

दिनेश त्रिवेदी तृणमूल कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में से एक हैं। वो बैरकपुर से लोकसभा सांसद रहे हैं। हाल ही में वे राज्यसभा के लिए चुने गए हैं। जहाँ ऐसे नेताओं से इस समय जिम्मेदारी से बयान देने की उम्मीद की जा रही है, दिनेश त्रिवेदी ने इसके एकदम उलट काम किया है।

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में टीएमसी की ही सरकार है। राज्य में संक्रमण के 3 मामले सामने आ चुके हैं। बावजूद इसके मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इसे लेकर असंवेदनशीलता दिखा रही हैं। कुछ दिनों पहले उन्होंने कहा था कि मोदी सरकार दिल्ली दंगों से ध्यान भटकाने के लिए कोरोना वायरस को बढ़ा-चढ़ा कर पेश कर रही है। इतना ही नहीं रविवार (मार्च 22, 2020) को जनता कर्फ्यू को धता बताते हुए सरकारी स्कूलों में चावल और आलू बाँटने का कार्यक्रम रखने का ऐलान किया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Searched termsदिनेश त्रिवेदी फेक न्यूज, फेक न्यूज कोरोना, बंगाल न्यूज, बंगाल कोरोना, corona death bihar, कोरोना से अब तक मौत, कोरोना बिहार, कोरोना से बिहार में मौत, shaheen bagh petrol bomb, shaheen bagh protest, shaheen bagh corona, shaheen bagh janta curfew, शाहीन बाग पेट्रोल बम, शाहीन बाग प्रदर्शन, शाहीन बाग कोरोना, शाहीन बाग जनता कर्फ्यू, कोरोना कनिका कपूर, कनिका कपूर sanjay gandhi pgims, sanjay gandhi pgims, Janta Curfew, Corona Updates In India, lockdown rajsthan, lock down gujarat, lockdown odisha, lockdown corona, janta curfew delhi, Covid-19, Coronavirus, coronavirus india, coronavirus news, coronavirus symptoms, coronavirus update, PM Modi, modi corona, लॉकडाउन ओडिशा, लॉकडाउन राजस्थान, लॉकडाउन गुजरात, मोदी कोरोना, जनता कर्फ्यू, जनता कर्फ्यू 22 मार्च, जनता कर्फ्यू दिल्ली, जनता कर्फ्यू का हाल, कोरोना अपडेट, जनता कर्फ्यू की खबरें
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोरोना संक्रमण पर लगातार चेताते रहे, लेकिन दिल्ली सरकार ने कदम नहीं उठाए: सुप्रीम कोर्ट से केंद्र

दिल्ली में कोरोना क्यों बना काल? सुप्रीम कोर्ट को केंद्र सरकार ने बताया है कि रोकथाम के लिए केजरीवाल सरकार ने प्रभावी कदम नहीं उठाए।

क्या घुसपैठ करने वाले रोहिंग्या मुसलमानों को RAW में बहाल करने जा रही है भारत सरकार?

एक वायरल मैसेज में दावा किया जा रहा है कि सरकार रोहिंग्या मुसलमानों को रॉ में बहाल करने जा रही है। जानिए, क्या है इस दावे की सच्चाई?

‘नॉटी, दो टके के लोग’: कंगना पर फट पड़ीं मुंबई की मेयर, ऑफिस तोड़ने पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने लगाई थी फटकार

मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने कंगना रनौत के लिए 'नॉटी' का इस्तेमाल किया है। शिवसेना सांसद संजय राउत के लिए इस शब्द का अर्थ 'हरामखोर' है।

जहाँ ममता बनर्जी ने खोदी थी वामपंथ की कब्र, वहीं उनकी सियासत को दफनाने की तैयारी में शुभेंदु अधिकारी

सिंगूर और नंदीग्राम के आंदोलन से ममता बनर्जी को सत्ता मिली। अब नंदीग्राम के शुभेंदु अधिकारी के बागी तेवरों ने उन्हें मुश्किल में डाल दिया है।

कॉन्ग्रेस का कोढ़ है धर्मांतरण, रोकने को देर से बने कानून कितने दुरुस्त?

जिस विषय में संविधान निर्माताओं को 1949 से पता था, उस पर कानून बनाने में इतनी देर आखिर क्यों? नियम बनने शुरू भी हुए हैं तो क्या ये काफी हैं, या हमें बहुत देर से और बहुत थोड़ा देकर बहलाया जा रहा है?

FIR में अर्णब पर लगाए आरोप साबित नहीं कर पाई मुंबई पुलिस: SC ने बॉम्बे हाई कोर्ट को भी लगाई फटकार

सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए यह भी कहा कि आपराधिक कानून, उत्पीड़न का औजार नहीं बनना चाहिए, जमानत मानवता की अभिव्यक्ति है।

प्रचलित ख़बरें

मैं नपुंसक नहीं.. हिंदुत्व का मतलब पूजा-पाठ या मंदिर का घंटा बजाना नहीं, फ़ोर्स किया तो हाथ धोकर पीछे पड़ जाऊँगा: उद्धव ठाकरे

साक्षत्कार में उद्धव ठाकरे ने कहा कि उन्हें विरोधियों के पीछे पड़ने को मजबूर ना किया जाए। इसके साथ ही ठाकरे ने कहा कि हिंदुत्व का मतलब मंदिर का घंटा बजाना नहीं है।

‘उसे मत मारो, वही तो सबूत है’: हिंदुओं संजय गोविलकर का एहसान मानो वरना 26/11 तुम्हारे सिर डाला जाता

जब कसाब ने तुकाराम को गोलियों से छलनी कर दिया तो साथी पुलिसकर्मी आवेश में आ गए। वे कसाब को मार गिराना चाहते थे। लेकिन, इंस्पेक्टर गोविलकर ने ऐसा नहीं करने की सलाह दी। यदि गोविलकर ने उस दिन ऐसा नहीं किया होता तो दुनिया कसाब को समीर चौधरी के नाम से जानती।

‘कबीर असली अल्लाह, रामपाल अंतिम पैगंबर और मुस्लिम असल इस्लाम से अनजान’: फॉलोवरों के अजीब दावों से पटा सोशल मीडिया

साल 2006 में रामपाल के भक्तों और पुलिसकर्मियों के बीच हिंसक झड़प हुई थी जिसमें 5 महिलाओं और 1 बच्चे की मृत्यु हुई थी और लगभग 200 लोग घायल हुए थे। इसके बाद नवंबर 2014 में उसे गिरफ्तार किया गया था।

ये कौन से किसान हैं जो कह रहे ‘इंदिरा को ठोका, मोदी को भी ठोक देंगे’, मिले खालिस्तानी समर्थन के प्रमाण

मीटिंग 3 दिसंबर को तय की गई है और हम तब तक यहीं पर रहने वाले हैं। अगर उस मीटिंग में कुछ हल नहीं निकला तो बैरिकेड तो क्या हम तो इनको (शासन प्रशासन) ऐसे ही मिटा देंगे।

दिल्ली के बेगमपुर में शिवशक्ति मंदिर में दर्जनों मूर्तियों का सिर कलम, लोगों ने कहते सुना- ‘सिर काट दिया, सिर काट दिया’

"शिव शक्ति मंदिर में लगभग दर्जन भर देवी-देवताओं का सर कलम करने वाले विधर्मी दुष्ट का दूसरे दिन भी कोई अता-पता नहीं। हिंदुओं की सहिष्णुता की कृपया और परीक्षा ना लें।”

’26/11 RSS की साजिश’: जानें कैसे कॉन्ग्रेस के चहेते पत्रकार ने PAK को क्लिन चिट देकर हमले का आरोप मढ़ा था भारतीय सेना पर

साल 2007 में तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अजीज़ को उसके उर्दू भाषा अखबार रोजनामा राष्ट्रीय सहारा के लिए उत्कृष्ट अवार्ड दिया था। कॉन्ग्रेस में अजीज़ को सेकुलरिज्म का चमचमाता प्रतीक माना जाता था।

कोरोना संक्रमण पर लगातार चेताते रहे, लेकिन दिल्ली सरकार ने कदम नहीं उठाए: सुप्रीम कोर्ट से केंद्र

दिल्ली में कोरोना क्यों बना काल? सुप्रीम कोर्ट को केंद्र सरकार ने बताया है कि रोकथाम के लिए केजरीवाल सरकार ने प्रभावी कदम नहीं उठाए।

क्या घुसपैठ करने वाले रोहिंग्या मुसलमानों को RAW में बहाल करने जा रही है भारत सरकार?

एक वायरल मैसेज में दावा किया जा रहा है कि सरकार रोहिंग्या मुसलमानों को रॉ में बहाल करने जा रही है। जानिए, क्या है इस दावे की सच्चाई?

‘नॉटी, दो टके के लोग’: कंगना पर फट पड़ीं मुंबई की मेयर, ऑफिस तोड़ने पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने लगाई थी फटकार

मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने कंगना रनौत के लिए 'नॉटी' का इस्तेमाल किया है। शिवसेना सांसद संजय राउत के लिए इस शब्द का अर्थ 'हरामखोर' है।

गाजीपुर में सड़क पर पड़े मिले गायों के कटे सिर: लोगों का आरोप- पहले डेयरी फार्म से गायब होती हैं गायें, फिर काट कर...

गाजीपुर की सड़कों पर गायों के कटे हुए सिर मिलने के बाद स्थानीय लोग काफी गुस्से में हैं। उन्होंने पुलिस पर मिलीभगत का आरोप लगाया है।

बंगाल: ममता के MLA मिहिर गोस्वामी बीजेपी में शामिल, शनिवार को शुभेंदु अधिकारी के आने की अटकलें

TMC के असंतुष्ट विधायक मिहिर गोस्वामी बीजेपी में शामिल हो गए हैं। शुभेंदु अधिकारी के भी शनिवार को बीजेपी में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही है।

जहाँ ममता बनर्जी ने खोदी थी वामपंथ की कब्र, वहीं उनकी सियासत को दफनाने की तैयारी में शुभेंदु अधिकारी

सिंगूर और नंदीग्राम के आंदोलन से ममता बनर्जी को सत्ता मिली। अब नंदीग्राम के शुभेंदु अधिकारी के बागी तेवरों ने उन्हें मुश्किल में डाल दिया है।

गरीब कल्याण रोजगार अभियान: प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने में UP की योगी सरकार सबसे आगे

प्रवासी श्रमिकों को काम मुहैया कराने के लिए केंद्र सरकार ने गरीब कल्याण रोजगार अभियान शुरू किया था। उत्तर प्रदेश ने उल्लेखनीय प्रदर्शन किया है।

12वीं शताब्दी में विष्णुवर्धन के शासनकाल में बनी महाकाली की मूर्ति को मिला पुन: आकार, पिछले हफ्ते की गई थी खंडित

मंदिर में जब प्रतिमा को तोड़ा गया तब हालात देखकर ये अंदाजा लगाया गया था कि उपद्रवी मंदिर में छिपे खजाने की तलाश में आए थे और उन्होंने कम सुरक्षा व्यवस्था देखते हुए मूर्ति तोड़ डाली।

कॉन्ग्रेस का कोढ़ है धर्मांतरण, रोकने को देर से बने कानून कितने दुरुस्त?

जिस विषय में संविधान निर्माताओं को 1949 से पता था, उस पर कानून बनाने में इतनी देर आखिर क्यों? नियम बनने शुरू भी हुए हैं तो क्या ये काफी हैं, या हमें बहुत देर से और बहुत थोड़ा देकर बहलाया जा रहा है?

FIR में अर्णब पर लगाए आरोप साबित नहीं कर पाई मुंबई पुलिस: SC ने बॉम्बे हाई कोर्ट को भी लगाई फटकार

सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए यह भी कहा कि आपराधिक कानून, उत्पीड़न का औजार नहीं बनना चाहिए, जमानत मानवता की अभिव्यक्ति है।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,437FollowersFollow
358,000SubscribersSubscribe