Monday, May 16, 2022
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेक'मोदी रैली के कारण एंबुलेंस में हो गई मरीज की मौत' - सोशल मीडिया...

‘मोदी रैली के कारण एंबुलेंस में हो गई मरीज की मौत’ – सोशल मीडिया पर दावा वायरल, UP पुलिस ने बताया सच

सोशल मीडिया पर दावा किया गया कि पीएम मोदी के काफिले (सहारनपुर रैली के दौरान) के कारण एक व्यक्ति की एंबुलेंस में ही मौत हो गई। यूपी पुलिस ने इस दावे पर...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (10 फरवरी 2022) को उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में जनसभा को संबोधित किया। इसमें पीएम मोदी ने सपा, कॉन्ग्रेस पर निशाना साधा। साथ ही कहा कि जनता ने उनको जितना प्यार दिया है, उसे वह विकास करके ब्याज समेत लौटाएँगे। इस बीच सोशल मीडिया पर दावा किया गया कि पीएम मोदी के काफिले के कारण एक व्यक्ति की एंबुलेंस में ही मौत हो गई।

सोशल मीडिया पर किया गया दावा

एक ट्वीट में दावा किया गया, “आज सहारनपुर में मोदी जी के कारण एक व्यक्ति की एंबुलेंस में ही मौत हो गई। उसकी बेटी चीखती-चिल्लाती रही, पुलिस के आगे मिन्नतें करती रही, मगर एंबुलेंस को जाने नहीं दिया और मरीज ने एंबुलेंस में ही तड़प-तड़प कर जान दे दी।”

यूपी पुलिस ने किया खंडन

यूपी पुलिस ने इसका खंडन करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के सहारनपुर दौरे के दौरान एंबुलेंस में एक व्यक्ति की मौत का आरोप लगाने वाला ट्वीट निराधार है। एक लड़की ने ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों को एम्बुलेंस में अपनी माँ के डेड बॉडी की सूचना दी और इसके लिए रास्ता देने का अनुरोध किया, जिसे तुरंत सुविधा प्रदान की गई।

यूपी पुलिस ने जारी किया बयान

पुलिस ने ट्वीट का फैक्ट चेक करते हुए बयान जारी किया। इसमें कहा गया, “अवगत कराना है कि माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सहारनपुर आगमन पर उनकी सुरक्षा हेतु लॉ एंड ऑर्डर ड्यूटी देहरादून चौक पर लगी थी। तभी एक लड़की एंबुलेंस से उतर कर आई और उसने बताया कि उसकी माँ की अस्पताल में इलाज के दौरान मृत्यु हो गई है, उसको जाना है। इस पर तत्काल मौके पर उपस्थित पुलिस बल द्वारा भीड़ से उसकी एंबुलेंस को निकलवा कर रवाना किया। अत: उक्त ट्वीट भ्रामक एवं असत्य है, जिसका सहारनपुर पुलिस पूर्णरुप से खंडन करती है। और अनुरोध करती है कि बिना सत्यता की जाँच किए इस प्रकार का ट्वीट/खबरें प्रकाशित न करें।”

चप्पे-चप्पे पर थी पुलिस

PM की जनसभा को लेकर दो ADG, दो DIG, पाँच SP, 12 एडिशनल SP, 21 डिप्टी SP, 18 थानों के प्रभारी, 35 निरीक्षक, 235 उपनिरीक्षक, 1150 कॉन्स्टेबल, 16 यातायात पुलिस के उपनिरीक्षक, पाँच कंपनी PAC तैनात थे। ADG राजीव सभरवाल, जिलाधिकारी अखिलेश सिंह, SSP आकाश तोमर के साथ एसपी सिटी राजेश कुमार ने भी रिमाउंट डिपो मैदान में डेरा डाले रखा था।

जनसथा स्थल पर चार हेलिपैड बनाए गए थे। बुधवार सुबह से ही SPG ने सहारनपुर में डेरा डाल दिया था। जनसभा स्थल पर मंच के पास सुरक्षा की कमान SPG के हाथों में थी, जबकि अन्य व्यवस्था अर्द्धसैनिक बलों और PAC के जवानों के अलावा पुलिस संभाल रही थी। प्रधानमंत्री के साथ तीन हेलिकॉप्टर आए थे। इसके अलावा CM योगी आदित्यनाथ के लिए अलग से हेलिपैड बनाया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभिनेत्री के घर पहुँची महाराष्ट्र पुलिस, लैपटॉप-फोन सहित कई उपकरण जब्त किए: पवार पर फेसबुक पोस्ट, एपिलेप्सी से रही हैं पीड़ित

अभिनेत्री ने फेसबुक पर 'ब्राह्मणों से नफरत' का आरोप लगाते हुए 'नर्क तुम्हारा इंतजार कर रहा है' - ऐसा लिखा था। हो चुकी हैं गिरफ्तार। अब घर की पुलिस ने ली तलाशी।

जिसे पढ़ाया महिला सशक्तिकरण की मिसाल, उस रजिया सुल्ताना ने काशी में विश्वेश्वर मंदिर तोड़ बना दी मस्जिद: लोदी, तुगलक, खिलजी – सबने मचाई...

तुगलक ने आसपास के छोटे-बड़े मंदिरों को भी ध्वस्त कर दिया और रजिया मस्जिद का और विस्तार किया। काशी में सिकंदर लोदी और खिलजी ने भी तबाही मचाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,227FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe