Thursday, May 6, 2021
Home हास्य-व्यंग्य-कटाक्ष इंटरनेट की तरह हर दिन खत्म करना होगा 100 ग्राम सैनिटाइजर (खुद की बोतल...

इंटरनेट की तरह हर दिन खत्म करना होगा 100 ग्राम सैनिटाइजर (खुद की बोतल से): WHO ने जारी की चेतावनी

आशुतोष ने कोरोना वायरस के दौरान एक भी दिन अपने बैग में रखे हैंड-सैनिटाइजर का इस्तेमाल नहीं किया। हाँ, सरकारी सैनिटाइजर और दोस्तों से माँग कर वो इसका भरपूर उपयोग कर लेते हैं। आशुतोष की यह हरकत CCTV कैमरे में भी कैद हो चुकी है। इसलिए WHO ने सुओ मोटो संज्ञान लेते हुए...

विश्व में जारी कोरोना वायरस महामारी के बीच WHO ने नई चेतावनी जारी की है। WHO ने सुओ मोटो संज्ञान लेते हुए सख्त चेतावनी जारी की है कि अब लोगों को अपने दैनिक डेढ़ GB इंटरनेट की तर्ज पर ही अपना 100 ग्राम हैंड-सैनिटाइजर और हैंड वॉश भी रोजाना खर्च करना आवश्यक होगा।

WHO ने यह सख्त निर्देश दिल्ली बेस्ड अनपेड ट्रोल हार्ट हैकर आशुतोष सिंह की हरकतों को देखकर दिए हैं। दरअसल, हार्ट हैकर आशुतोष सिंह, जो कि पेशे से अनपेड ट्रोल हैं, ने कोरोना वायरस के दौरान एक भी दिन अपने बैग में रखे हैंड-सैनिटाइजर का इस्तेमाल नहीं किया।

लेकिन आशुतोष सिंह जब भी किसी सार्वजनिक स्थान पर अपना मोबाइल चार्ज करने को जाते हैं तो वो वहाँ पर लगे सरकारी सैनिटाइजर का भरपूर उपयोग कर लेते हैं। प्रत्यक्षदर्शियों ने हार्ट हैकर आशुतोष को कुछ हैंड सैनिटाइजर खुद पर छिड़कते हुए और दो घूँट पीते हुए भी देखा।

यह सिलसिला मार्च के माह में शुरू हुए देशव्यापी बंद के बाद से लेकर अब तक लगभग हर रोज ही दोहराया गया। आशुतोष सिंह की यह हरकत CCTV कैमरे में भी कैद हो चुकी है।

इस बारे में एक दिन आशुतोष के ही मित्र हैंडसम धनेश सिसोदिया ने नाराजगी भी व्यक्त की। हैंडसम सिसोदिया ने कहा कि आशुतोष सिंह ने अपना हैंड सैनिटाइजर भी खरीदा था लेकिन उस 100 ग्राम की बोतल में जितना हैंड सैनिटाइजर मार्च के माह था, जुलाई के आखिर तक भी उतना ही बचा हुआ है। हैंडसम सिसोदिया ने इस पर कड़ी आपत्ति दर्ज करते हुए एक दिन कहा – “हम क्या यहाँ पागल बैठे हैं?”

हार्ट हैकर आशुतोष सिंह के इस कारनामे के सामने आने के बाद स्वरा घासकर और कुणाल सेहरा ने ट्विटर पर इसे लेकर ऑनलाइन कैम्पेन भी चलाया। इस मुहिम से जुड़े और युवाओं ने बताया कि यह समस्या सिर्फ दिल्ली बेस्ड हार्ट हैकर आशुतोष की ही नहीं बल्कि देश के और भी कई हिस्सों में लोगों के साथ देखी गई है।

लोगों ने कहा कि जो लोग पहले अपने दोस्त से फ्री वाई-फ़ाई माँगा करते थे, वही लोग अब दोस्ती का वास्ता देकर हैंड सैनिटाइजर माँगने लगे हैं। इस पर WHO ने नई गाइडलाइंस जारी करते हुए कहा – “अबे (अपशब्द) कुछ तो शर्म करो। अगर तुम्हारे 5 महीने पुराने 100 ग्राम सैनिटाइजर से पहले कोरोना की महामारी खत्म हो गई तो दुनिया को क्या मुँह दिखाओगे?”

अब WHO इस निष्कर्ष पर पहुँचा है कि यदि जनसाधारण के बीच तालमेल रखना चाहते हैं तो हर व्यक्ति को रोजाना अपना 100 ग्राम सैनिटाइजर किसी भी सूरत में खत्म करना ही होगा।

हालाँकि, WHO के इस फैसले के विरोध में एक जनहित याचिका यह कहते हुए डाल दी गई है कि जो लोग अल्कोहल यानी, मदिरा को ही सैनिटाइजर मानकर इस्तेमाल कर रहे थे, वो रोजाना 100 ग्राम से अधिक खर्च कर सकते हैं या नहीं?

इस पर अभी WHO के आधिकारिक बयान का इंतजार है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

आशीष नौटियाल
पहाड़ी By Birth, PUN-डित By choice

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

असम में भाजपा के 8 मुस्लिम उम्मीदवारों में सभी की हार: पार्टी ने अल्पसंख्यक मोर्चे की तीनों इकाइयों को किया भंग

भाजपा से सेक्युलर दलों की वर्षों पुरानी शिकायत रही है कि पार्टी मुस्लिम सदस्यों को टिकट नहीं देती पर जब उसके पंजीकृत अल्पसंख्यक सदस्य ही उसे वोट न करें तो पार्टी क्या करेगी?

शोभा मंडल के परिजनों से मिले नड्डा, कहा- ‘ममता को नहीं करने देंगे बंगाल को रक्तरंजित, गुंडागर्दी को करेंगे खत्म’

नड्डा ने कहा, ''शोभा मंडल के बेटों, बहू, बेटी और बच्चों को (टीएमसी के गुंडों ने) मारा और इस तरह की घटनाएँ निंदनीय है। उन्होंने कहा कि बीजेपी और उसके करोड़ों कार्यकर्ता शोभा जी के परिवार के साथ खड़े हैं।

‘द वायर’ हो या ‘स्क्रॉल’, बंगाल में TMC की हिंसा पर ममता की निंदा की जगह इसे जायज ठहराने में व्यस्त है लिबरल मीडिया

'द वायर' ने बंगाल में हो रही हिंसा की न तो निंदा की है और न ही उसे गलत बताया है। इसका सारा जोर भाजपा द्वारा इसे सांप्रदायिक बताए जाने के आरोपों पर है।

TMC के हिंसा से पीड़ित असम पहुँचे सैकड़ों BJP कार्यकर्ताओं को हेमंत बिस्वा सरमा ने दो शिविरों में रखा, दी सभी आवश्यक सुविधाएँ

हेमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट करके जानकारी दी कि पश्चिम बंगाल में हिंसा के भय के कारण जारी पलायन के बीच असम पहुँचे सभी लोगों को धुबरी में दो राहत शिविरों में रखा गया है और उन्हें आवश्यक सुविधाएँ मुहैया कराई जा रही हैं।

5 राज्य, 111 मुस्लिम MLA: बंगाल में TMC के 42 मुस्लिम उम्मीदवारों में से 41 जीते, केरल-असम में भी बोलबाला

तृणमूल कॉन्ग्रेस ने 42 मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया था, जिसमें से मात्र एक की ही हार हुई है। साथ ही ISF को भी 1 सीट मिली।

हिंसा की गर्मी में चुप्पी की चादर ही पत्रकारों के लिए है एयर कूलर

ऐसी चुप्पी के परिणाम स्वरूप आइडिया ऑफ इंडिया की रक्षा तय है। यह इकोसिस्टम कल्याण की भी बात है। चुप्पी के एवज में किसी कमिटी या...

प्रचलित ख़बरें

बंगाल में हिंसा के जिम्मेदारों पर कंगना रनौत ने माँगा एक्शन तो ट्विटर ने अकाउंट किया सस्पेंड

“मैं गलत थी, वह रावण नहीं है... वह तो खून की प्यासी राक्षसी ताड़का है। जिन लोगों ने उसके लिए वोट किया खून से उनके हाथ भी सने हैं।”

बेशुमार दौलत, रहस्यमयी सेक्सुअल लाइफ, तानाशाही और हिंसा: मार्क्स और उसके चेलों के स्थापित किए आदर्श

कार्ल मार्क्स ने अपनी नौकरानी को कभी एक फूटी कौड़ी भी नहीं दी। उससे हुए बेटे को भी नकार दिया। चेले कास्त्रो और माओ इसी राह पर चले।

बंगाल हिंसा के कारण सैकड़ों BJP वर्कर घर छोड़ भागे असम, हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा- हम कर रहे इंतजाम

बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद उपजी राजनीतिक हिंसा के बाद सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ताओं ने बंगाल छोड़ दिया है। असम के मंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने खुद इसकी जानकारी दी है।

सुप्रीम कोर्ट से बंगाल सरकार को झटका, कानून रद्द कर कहा- समानांतर शासन स्थापित करने का प्रयास स्वीकार्य नहीं

ममता बनर्जी ने बुधवार को लगातार तीसरी पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली। उससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने बंगाल सरकार को बड़ा झटका दिया।

‘द वायर’ हो या ‘स्क्रॉल’, बंगाल में TMC की हिंसा पर ममता की निंदा की जगह इसे जायज ठहराने में व्यस्त है लिबरल मीडिया

'द वायर' ने बंगाल में हो रही हिंसा की न तो निंदा की है और न ही उसे गलत बताया है। इसका सारा जोर भाजपा द्वारा इसे सांप्रदायिक बताए जाने के आरोपों पर है।

भारत में मिला कोरोना का नया AP स्ट्रेन, 15 गुना ज्यादा ‘घातक’: 3-4 दिन में सीरियस हो रहे मरीज

दक्षिण भारत में वैज्ञानिकों को कोरोना का नया एपी स्ट्रेन मिला है, जो पहले के वैरिएंट्स से 15 गुना अधिक संक्रामक हो सकता है।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,364FansLike
89,363FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe