Tuesday, August 3, 2021
Homeहास्य-व्यंग्य-कटाक्षजीत आपकी: हारने के 101 फायदे बताने वाली वीडियो देखते पकड़े गए महागठबंधन के...

जीत आपकी: हारने के 101 फायदे बताने वाली वीडियो देखते पकड़े गए महागठबंधन के सदस्य, तेजस्वी यादव ने बताई वजह

जब महान राजनीतिज्ञ अनंत सिंह जी से प्रश्न किया गया कि क्या उन्होंने भी चुनाव जीतने के लिए कभी किसी मोटिवेशनल स्पीकर की वीडियो का सहारा लिया है? इस पर अनंत सिंह जी ने जवाब दिया - "$#@ का मोटिवेशनल स्पीकर!"

“किसी को कुर्सी मिली किसी के हिस्से सत्ता आई, मैं महागठबंधन था मेरे हिस्से EVM आई”

बिहार चुनावों की चकल्लस को आखिरकार नीतीश कुमार के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही पूर्णविराम लग गया। इस सबके बीच जो चर्चा कहीं नहीं हुई, वह चर्चा थी महागठबंधन और लिबरल्स की नई उम्मीद चाराभक्षी लालू पुत्र तेजस्वी यादव की। उनके हिस्से मशहूर शायर मुनव्वर काणा की ये शायरी ही आ सकी है।

राग EVM, लोकतंत्र की हत्या, और फासीवादी नारों के बावजूद बिहार की सत्ता से दूर रहने के बाद महागठबंधन के नेता निष्पक्ष पत्रकारों के ट्वीट्स और अखबारों की हेडलाइन से अचानक गायब हो गए हैं। लेकिन एक खोजी पत्रकार ने हमें महागठबंधन के बारे में एक चौंकाने वाली जानकारी दी है।

नाम न बताने की शर्त पर महागठबंधन के एक अंदर के ही आदमी ने हमें बताया है कि चुनावी नतीजों के बाद चल रही सर फुटव्वल के बीच तेजस्वी यादव ने समस्त महागठबंधन के नेताओं को महान मोटिवेशनल स्पीकर और लेखक शिव खेड़ा की पुस्तक ‘जीत आपकी’ पढ़ने के सख्त निर्देश दिए हैं। इसके अलावा, संदीप माहेश्वरी की यूट्यूब वीडियो भी रोजाना देखने की सलाह महागठबंधन की बैठक में सर्वसहमति से ली गई। यह फैसला पाँच साल बाद बिहार में अपनी सत्ता स्थापित करने के प्रयासों में पहला कदम बताया जा रहा है।

बिहार के मतदाताओं को हल्के में ना लेते हुए शुरू से ही विभिन्न रूप धरकर मतदाताओं के प्रत्येक वर्ग को रिझाने में कामयाब रहे तेज प्रताप यादव ने भी संदीप माहेश्वरी की मोटिवेशनल वीडियो रोजाना देखने की बात स्वीकार की है।

तेजस्वी यादव ने कहा कि उन्होंने 9वीं से आगे न पढ़ने का मन ही महान मोटिवेशनल स्पीकर संदीप माहेश्वरी की वो वीडियो देखकर बनाया था, जिनमें उन्होंने 10वीं में फेल होने के 101 फायदों के बारे में विस्तार से बताया है। उन्होंने कहा कि फेल होने वाले लोगों का मनोबल बढ़ाने और फेल होने के फायदे गिनने वाले इन भाषणों के बीच में बजने वाली भावुक धुन उन्हें फेल होने के लिए विवश करती आई हैं।

वहीं, तेज प्रताप यादव का कहना है कि उनके पिता लालू प्रसाद यादव भी शिव खेड़ा की पुस्तक ‘जीत आपकी’ ही पढ़ा करते थे, और उन्होंने भारतीय राजनीति में एक बड़ी जगह बनाई। जब महान राजनीतिज्ञ और दूरदर्शी नेता अनंत सिंह जी से प्रश्न किया गया कि क्या उन्होंने भी चुनाव जीतने के लिए कभी किसी मोटिवेशनल स्पीकर की वीडियो का सहारा लिया है? इस पर अनंत सिंह जी ने जवाब दिया – “$#@ का मोटिवेशनल स्पीकर!”

कुछ ख़ुफ़िया रिपोर्टर ने यह जानकारी भी हासिल करने की कोशिश की कि क्या लालू पुत्रों की ही तरह कॉन्ग्रेस के युवराज राहुल गाँधी भी किसी मोटिवेशनल स्पीकर की मदद से ही हर चुनाव हार रहे हैं। इस पर जब राहुल गाँधी से उनके इंटरव्यू का समय माँगा तो उस समय वो चुनाव की तैयारियों के तनाव को दूर करने के लिए चंपक का अध्ययन कर रहे थे।

खबर लिखे जाने तक शिव खेडा की पुस्तक ‘जीत आपकी’ की कुछ प्रतियाँ महागठबंधन के आधे सदस्यों के बीच बाँट दी गई और संदीप माहेश्वरी की वीडियो की कैसेट के ऑर्डर जारी कर दिए गए थे। महागठबंधन के के लिए इनके स्वाध्याय और रीविजन का लक्ष्य 2025 तय किया गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

आशीष नौटियाल
पहाड़ी By Birth, PUN-डित By choice

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अमित शाह ने बना दी असम-मिजोरम के बीच की बिगड़ी बात, अब विवाद के स्थायी समाधान की दरकार

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के प्रयासों के पश्चात दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने जिस तरह की सतर्कता और संयम दिखाया है उसका स्वागत होना चाहिए।

वे POK क्रिकेट लीग के चीयरलीडर्स, इधर कश्मीर पर भी बजाते हैं ‘अमन’ का झुनझुना: Pak वालों से ही सीख लो सेलेब्रिटियों

शाहिद अफरीदी, राहत फ़तेह अली खान और शोएब अख्तर कभी इस्लाम और पाकिस्तान के खिलाफ नहीं जा सकते, गलत या सही। भारतीय सेलेब्स इनसे क्या सीखे, जानिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,775FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe