Thursday, April 25, 2024
Homeविविध विषयकला-साहित्यबरखा दत्त की बहन बहार की पकड़ी गई चोरी, किताब में टीप डाला जानकी...

बरखा दत्त की बहन बहार की पकड़ी गई चोरी, किताब में टीप डाला जानकी लेनिन का आर्टिकल!

लेनिन के ट्वीट ने साफ कर दिया कि मामला प्लेज्यरिज्म का है। इससे हैरान कुछ यूजर्स ने सोशल मीडिया पर लेनिन को एक्शन लेने की सलाह दी। कुछ ने कहा कि सामग्री 'लगभग' एक जैसी नहीं है, बल्कि पूरी की पूरी 'कॉपी' की गई है।

प्रोपेगेंडा की रानी बरखा दत्त की बहन बहार पर चोरी का आरोप लगा है। यहॉं चोरी का मतलब पैसों से नहीं है। बरख दत्त पर साहित्यिक चोरी यानी प्लेज्यरिज्म का आरोप लगा है। आरोप लगाया है कि फिल्मकार और वन्यजीव लेखिका जानकी लेनिन ने। लेनिन के अनुसार 2007 में उन्होंने ‘The Songs of Ganges Ghariyal’ आर्टिकल लिखा था। बहार ने इस आर्टिकल के अंश का इस्तेमाल अपनी किताब में किया है। लेकिन, इसके लिए लेनिन के आर्टिकल का हवाला नहीं दिया गया है।

जानकी लेनिन ने ट्वीट कर यह जानकारी दी और बहार को सवालों को घेरे में खड़ा किया। उन्होंने बताया कि बहार की ‘रीवाइल्डिंग’ पढ़ते समय उन्हें कछुओं और घड़ियाल पर लिखे पाठ में कुछ शब्द जाने-पहचाने मिले। उन्होंने कहा कि साल 2007 में उन्होंने एक आर्टिकल लिखा थाए जिसके अधिकतर वाक्य उन्हें बहार दत्त की किताब में मिले हैं।

इसके बाद जानकी ने अपने निबंध में लिखे कुछ वाक्यों को शेयर किया। साथ ही बहार की किताब का स्क्रीनशॉट भी ट्वीट में डाला। हैरानी की बात यह थी कि जानकी के आर्टिकल और बहार की किताब में लिखे शब्दों में कोई फर्क नहीं है। दोनों सामग्रियों में वाक्य लगभग एक जैसे थे।

लेनिन के ट्वीट ने साफ कर दिया कि मामला प्लेज्यरिज्म का है। इससे हैरान कुछ यूजर्स ने सोशल मीडिया पर लेनिन को एक्शन लेने की सलाह दी। कुछ ने कहा कि सामग्री ‘लगभग’ एक जैसी नहीं है, बल्कि पूरी की पूरी ‘कॉपी’ की गई है।

इस मामले में बहार दत्त की सफाई भी आई है। आरोपों को खारिज करते हुए बहार ने कहा कि अपनी किताब में इन शब्दों का जिक्र करते हुए उन्होंने उन्होंने रोमूलस विटेकर (वन्यजीव संरक्षणवादी ) को कोट किया है। उनका जिक्र संदर्भ सूची में भी है।

साथ ही बहार ने इन आरोपों पर हैरानी जताते हुए कहा कि रोम और उनके बीच भेजे गए सभी मेल ऑन रिकॉर्ड हैं। उनके मुताबिक हर कथन और कागज जो रोम ने उनके साथ साझा किया, उसका जिक्र उन्होंने अपनी किताब के संदर्भ सूची में किया है।

बहार ने कहा कि उन्होंने अपनी किताब में लेनिन द्वारा जिक्र की गई सामग्री का इस्तेमाल रोम द्वारा इन्हें साझा करने के बाद किया। ऐसे में अगर वो रोम की तरफ से ये सब कह रही हैं, तो उनका नाम क्यों नहीं लिख रहीं।

बता दें कि रोम, जानकी लेनिन के पति हैं। बावजूद इसके विवाद होने की वजह यह है कि बहार ने अपनी किताब में रोम द्वारा मुहैया कराई गई सामग्री का इस्तेमाल करते हुए उसका हवाला नहीं दिया। जब लेनिन ने उनकी चोरी पकड़ी तो उन्होंने रोम के मेल का जिक्र किया। हालाँकि इसके बाद लेनिन ने बहार दत्त से वे सभी मेल भेजने के लिए कहा जो रोम ने उन्हें भेजे थे। सोशल मीडिया में लोग इस हरकत के लिए बहार दत्त की आलोचना कर रहे हैं।

कत्लेआम और 1 लाख हिन्दुओं को घर से भगाने वाले का समर्थन: जामिया की Shero और बरखा दत्त की हकीकत

तू चल मैं आता हूँ: बरखा दत्त माँगे आज का ‘गाँधी’, याद आई लोमड़ी-कौव्वे की कहानी

आप पत्रकार नहीं, दलाल हैं… वह सवाल जिसका जवाब सुन बरखा दत्त बगले झाँकने लगी

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मार्क्सवादी सोच पर काम नहीं करेंगे काम: संपत्ति के बँटवारे पर बोला सुप्रीम कोर्ट, कहा- निजी प्रॉपर्टी नहीं ले सकते

संपत्ति के बँटवारे केस सुनवाई करते हुए सीजेआई ने कहा है कि वो मार्क्सवादी विचार का पालन नहीं करेंगे, जो कहता है कि सब संपत्ति राज्य की है।

मोहम्मद जुबैर को ‘जेहादी’ कहने वाले व्यक्ति को दिल्ली पुलिस ने दी क्लीनचिट, कोर्ट को बताया- पूछताछ में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला

मोहम्मद जुबैर को 'जेहादी' कहने वाले जगदीश कुमार को दिल्ली पुलिस ने क्लीनचिट देते हुए कोर्ट को बताया कि उनके खिलाफ कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe