Thursday, June 20, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन‘मुल्लों’ की पत्थरबाजी पर किया ट्वीट तो बुजुर्ग ‘कॉमेडियन’ अतुल खत्री ने रंगोली चंदेल...

‘मुल्लों’ की पत्थरबाजी पर किया ट्वीट तो बुजुर्ग ‘कॉमेडियन’ अतुल खत्री ने रंगोली चंदेल को बताया चांडाल

एसिड सर्वाइवर रही रंगोली द्वारा पत्थरबाजी पर आक्रोश जाहिर करने के बाद उन्हें काफी ट्रोल किया गया। अतुल खत्री की तरह ही इस्लामिक कट्टरपंथियों ने उन्हें गालियाँ दीं और कहा कि वो एसिड अटैक की हकदार थी। कुछ ने उन पर एक और एसिड अटैक की कामना की।

खुद को स्टैंड-आप कॉमेडियन बताने वाले अतुल खत्री ने एक बार फिर अभिनेत्री कंगना रनौत की बहन रंगोली चंदेल के लिए अपमानजनक शब्द का इस्तेमाल किया है। उसने गुरुवार (अप्रैल 16, 2020) को रंगोली के लिए ‘चांडाल’ शब्द का इस्तेमाल किया। इस तरह उसने जातिवाद का जहर घोलने का काम किया है।

अतुल खत्री का ट्वीट

खत्री के ट्वीट से ऐसा लगता है कि वे रंगोली के मौलवियों के खिलाफ कथित टिप्पणी से काफी परेशान हो गए थे, इसलिए अपनी नफरत का प्रदर्शन करते हुए उसने कुब्रा सैत नामक एक अभिनेत्री के ट्वीट पर कमेंट किया। कुब्रा सैत ने अपने ट्वीट में कहा था कि उन्होंने रंगोली को ब्लॉक कर दिया है। साथ ही उसने रंगोली चंदेल के खिलाफ मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से ‘आवश्यक कार्रवाई’ की माँग की। 

इसी ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए खत्री ने रंगोली के खिलाफ जातिवाद का जहर उगलते हुए ‘चांडाल’ कहा। बता दें कि चांडाल ऐसा वर्ग है, जिसे सामान्यत: अछूत माना जाता है। इन्हें श्मशान पाल और श्मशान कर्मी आदि नामों से भी पुकारा जाता है। ये लाशों का अंतिम संस्कार भी करते हैं। चांडाल को देश के कम से कम 6 राज्यों में अनुसूचित जाति के रूप में अधिसूचित किया गया है।

बुजुर्ग कॉमेडियन अतुल खत्री की यह शर्मनाक टिप्पणी रंगोली द्वारा किए गए ट्वीट के बाद आया। दरअसल रंगोली ने इन दिनों डॉक्टरों, नर्सों और पुलिस पर हो रहे हमलों को लेकर एक ट्वीट किया था। जिसमें उन्होंने लिखा, “एक जमाती की कोरोना से मौत हो गई, जब पुलिस और डॉक्टर उसके परिवार को चेक करने गए तो उन्होंने उन पर (पुलिस और डॉक्टर) हमला किया और उन्हें मारा। धर्मनिरपेक्ष मीडिया और इन मुल्लाओं को एक पंक्ति में खड़ा कर गोली मार देनी चाहिए। इतिहास में वे हमें नाजी कह सकते हैं, किसे चिंता है, जिदंगी फेक इमेज से ज्यादा जरूरी है।”

एसिड सर्वाइवर रही रंगोली द्वारा पत्थरबाजी पर आक्रोश जाहिर करने के बाद उन्हें काफी ट्रोल किया गया। अतुल खत्री की तरह ही इस्लामिक कट्टरपंथियों ने उन्हें गालियाँ दीं और कहा कि वो एसिड अटैक की हकदार थी। कुछ ने उन पर एक और एसिड अटैक की कामना की।

अतुल खत्री के खिलाफ कार्रवाई की माँग

ट्विटर पर कई लोगों ने SC/ST की भावनाओं को आहत करने के लिए खत्री के खिलाफ कार्रवाई की माँग की और साथ ही जातिवादी गालियों के लिए उनकी निंदा की।

दलित इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (DICCI) के सलाहकार गुरु प्रकाश ने भी खत्री द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली भाषा की निंदा की और इसे ‘बेहद अपमानजनक’ बताया। उल्लेखनीय है कि अतुल खत्री इससे पहले भी रंगोली चंदेल के लिए ‘चांडाल’ शब्द का प्रयोग कर चुके हैं। दरअसल ‘छपाक’ फिल्म के प्रमोशन के समय खत्री ने ट्विटर यूज़र और भाजपा समर्थक अंकित जैन को यह कहकर अपनी कुत्सित सोच का खुला प्रदर्शन किया था कि ABVP कार्यकर्ताओं को ‘रंगोली चांडाल’ से सहानुभूति मिलेगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

UGC-NET जून 2024 परीक्षा रद्द, 18 जून को 11.21 लाख छात्रों ने दी थी परीक्षा: साइबर क्राइम सेल से मिला सेंधमारी का इनपुट,...

परीक्षा प्रक्रिया की उच्चतम स्तर की पारदर्शिता और पवित्रता सुनिश्चित करने के लिए भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने निर्णय लिया है कि यूजीसी-नेट जून 2024 परीक्षा रद्द की जाए।

मंच से उड़ा रहे थे भगवान राम और माता सीता का मजाक, नीचे से बज रही थी सीटी: एक्शन में IIT बॉम्बे, छात्र पर...

भगवान का मजाक उड़ाने वाले छात्रों के खिलाफ 1.20 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया। वहीं कुछ छात्रों को हॉस्टल से निलंबित भी किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -