Sunday, July 14, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन'फ्लॉप चरसी, ड्रग्स की गहराइयाँ...': दीपिका पादुकोण-अनन्या पांडे स्टारर 'गहराइयाँ' का सोशल मीडिया में...

‘फ्लॉप चरसी, ड्रग्स की गहराइयाँ…’: दीपिका पादुकोण-अनन्या पांडे स्टारर ‘गहराइयाँ’ का सोशल मीडिया में बॉयकॉट, नेटिजन्स ने उड़ाया मजाक

दीपिका पादुकोण के अलावा अनन्या की तस्वीरें शेयर करके याद कराया जा रहा है कि अगर समीर वानखेड़े को उनकी जाँच पूरी करने दी जाती तो अनन्या पांडे आर्यन खान ड्रग केस में गिरफ्तार होने वाली थीं।

दीपिका पादुकोण और अनन्या पांडे की हाल में रिलीज हुई ‘गहराइयाँ’ फिल्म को हर जगह से आलोचना झेलनी पड़ रही है। हाल में कंगना रनौत ने इस फिल्म पर और इसके कंटेंट पर निशाना साधा था और अब सोशल मीडिया पर नेटिजन्स इसके फ्लॉप होने पर खुशियाँ मना रहे हैं। 

वहीं, इस बीच सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद ट्विटर पर ट्रेंड हुआ हैशटैग ‘बॉयकॉट बॉलीवुड’ फिर से ट्रेंड में है। इस हैशटैग में सुशांत के लिए दोबारा से न्याय माँगने की गुहार तेज हो गई है। एनसीबी जाँच में पूछताछ के लिए बुलाई गईं दीपिका को सोशल मीडिया पर ‘चरसी फ्लॉप्ड’ बताया जा रहा है।

एक यूजर ने बताया कि उन्होंने दीपिका पादुकोण की फिल्म की तुलना ओमिक्रॉन वैरिएंट से की थी। मगर, इसके बाद रणवीर सिंह ने उन्हें ब्लॉक कर दिया।

इसी तरह अनन्या की तस्वीरें शेयर करके याद कराया जा रहा है कि अगर समीर वानखेड़े को उनकी जाँच पूरी करने दी जाती तो अनन्या पांडे आर्यन खान ड्रग केस में गिरफ्तार होने वाली थीं। यूजर्स का कहना है कि ये फिल्म गहराइयाँ नहीं ‘ड्रग्स की गहराइयाँ’ हैं।

हर्ष मेहता लिखते हैं, “ये समय है जब सुशांत सिंह राजपूत आर्मी की ताकत दिखाई जा सकती है। अभी और भी मूवीज के बुरे दिन आने वाले हैं।”

कुछ लोग इस फिल्म पर तंज कसते हुए सोशल मीडिया पर इसका रिव्यू दे रहे हैं और लोगों को सलाह दी जा रही है कि इस फिल्म को कोई गलती से भी न देखे। कुछ यूजर ने अपने ट्वीट में दीपिका द्वारा जेनएयू पहुँचने वाली घटना का जिक्र किया और कहा, “एक ड्रग लेने वाला जो देश तोड़ने वालों के साथ खड़ा होता है उसे हर स्तर पर बॉयकॉट किया जाना चाहिए।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -