Monday, September 27, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनडिप्रेशन का धंधा चलानेवालों को पब्‍लिक ने उनकी औकात दिखा दी: दीपिका पर कंगना...

डिप्रेशन का धंधा चलानेवालों को पब्‍लिक ने उनकी औकात दिखा दी: दीपिका पर कंगना का तंज

"यदि दीपिका कहती हैं कि वह 10 साल पहले हुए ब्रेकअप के कारण अचानक अवसाद में चली गईं तो हमने इसे माना। फिर मुझे और सुशांत को भी तो वही सम्मान मिलना चाहिए। यदि मैं कह रही हूँ कि मैं डिप्रेस नहीं हूँ, सुशांत के पिता कह रहे हैं कि उनका बेटा डिप्रेस नहीं था, तो इसे स्वीकार किया जाना चाहिए। हम पर बीमारी क्यों थोपी जा रही है?"

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही कंगना रनौत इस मामले पर मुखर रही हैं। इस मामले की जॉंच अब सीबीआई को सौंपी जा चुकी है। इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद कंगना ने दीपिका पादुकोण को निशाने पर लिया है।

कंगना ने सिलसिलेवार तरीके से कई ट्वीट किए हैं। हालाँकि दीपिका ने कंगना के इन ट्वीट्स का जवाब नहीं दिया है। था। 19 अगस्त को कंगना ने ट्वीट कर कहा, “मेरे साथ दोहराएँ, डिप्रेशन का धंधा चलानेवालों को पब्‍लिक ने उनकी औकात दिखा दी।” 

बता दें कि सुशांत की मौत के बाद दीपिका ने 19 और 20 जून को दो ट्वीट किए थे। इसमें उन्होंने कहा था, “मेरे साथ दोहराएँ, आप अवसाद से भाग नहीं सकते।” साथ ही उन्होंने अवसाद और उदासी के बीच का फर्क भी बताया था।

कंगना के ताजा ट्वीट को दीपिका के इसी ट्वीट के जवाब के तौर पर देखा जा रहा है। कंगना ने इसके अलावा दो और ट्वीट किए हैं। एक में कहा है, “सच्चाई यही है कि मानसिक परेशानी का कोई मेडिकल साक्ष्य नहीं मिला है। यह एक नए तरह का शिकार है जिसमें हुनरमंद को मध्यस्थता के जरिये ख़त्म कर दिया जाता है। हर प्रतिभाशाली व्यक्ति के मामले में हम गलत फैसले सुनाते हैं और उसकी भावनात्मक लिंचिंग करते हैं। उम्मीद करती हूँ यह बंद हो।”    

एक अन्य ट्वीट में कहा है, “यदि दीपिका कहती हैं कि वह 10 साल पहले हुए ब्रेकअप के कारण अचानक अवसाद में चली गईं तो हमने इसे माना। फिर मुझे और सुशांत को भी तो वही सम्मान मिलना चाहिए। यदि मैं कह रही हूँ कि मैं डिप्रेस नहीं हूँ, सुशांत के पिता कह रहे हैं कि उनका बेटा डिप्रेस नहीं था, तो इसे स्वीकार किया जाना चाहिए। हम पर बीमारी क्यों थोपी जा रही है?”   

उल्लेखनीय है कि सुशांत की मौत के बाद कंगना बॉलीवुड में नेपोटिज्म को लेकर हमलावर रही हैं। इसके कारण इंडिया टुडे को दिए साक्षात्कार में नसीरुद्दीन शाह ने कंगना को आधी-अधूरी शिक्षित कलाकार बता डाला। इसके जवाब में कंगना ने कहा, “शुक्रिया नसीर जी! आपने मेरे सभी पुरस्कारों और अवार्ड्स को एक बार में तौल दिया। जो अभी तक नेपोटिज्म से उभरे मेरे प्रतिद्वंद्वी कलाकारों में किसी के पास नहीं है। लेकिन क्या आप मुझे यही बात कहेंगे अगर मैं दीपिका पादुकोण या अनिल कपूर की बेटी होती?” 

इससे पहले कंगना ने उस टैलेंट मैनेजमेंट एजेंसी को भी निशाना बनाया था जो दीपिका और ऋतिक समेत कई कलाकारों का काम देखती है। कंगना ने आरोप लगाया था कि यह एजेंसी उन्हें बदनाम करने के लिए अभियान चलाती है। कंगना ने अपने ट्वीट में कहा था, ‘यह एजेंसी दीपिका, ऋतिक, आमिर समेत इंडस्ट्री के तमाम लोगों का काम देखती है। यह साल 2014 से मुझे बदनाम करने के लिए अभियान चला रहे हैं, लेकिन अब इनका समय आ चुका है।’

पैसे लेकर दीपिका के जेएनयू जाने की बात सामने आने के बाद कंगना ने ट्वीट किया था, “बेचारी स्वरा भास्कर तो आज तक यह सब फ्री फंड में करती थी अब उसे यकीन नहीं हो पा रहा है कि दीपिका को जेएनयू जाने के पैसे मिलते हैं।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

देश से अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता सरमा ने पेश...

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

‘टोटी चोर’ के बाद मार्केट में AC ‘चोर’, कन्हैया ‘क्रांति’ कुमार का कॉन्ग्रेसी अवतार

एक 'आंगनबाड़ी सेविका' का बेटा वातानुकूलित सुख ले! इससे अच्छे दिन क्या हो सकते हैं भला। लेकिन सुख लेने के चक्कर में कन्हैया कुमार ने AC ही उखाड़ लिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,789FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe