Saturday, April 20, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनआदित्य ठाकरे के बेस्ट फ्रेंड हैं करण जौहर, उन्हें पूछताछ के लिए नहीं बुलाया...

आदित्य ठाकरे के बेस्ट फ्रेंड हैं करण जौहर, उन्हें पूछताछ के लिए नहीं बुलाया जाएगा: सुशांत सुसाइड केस पर टीम कंगना

"वे उन्हें कभी नहीं बुलाएँगे, क्योंकि वे आदित्य उद्धव ठाकरे के बेस्ट फ्रेंड हैं। यह उनकी सरकार है और उन्होंने कंगना के इंटरव्यू से पहले ही यह केस बंद कर दिया। यह इस बात का सबूत है कि वे अपने दोस्तों को बचा रहे हैं।"

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने उद्धव ठाकरे की शिवसेना-एनसीपी-कॉन्ग्रेस सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है। उनका कहना है कि सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में मुंबई पुलिस फिल्म निर्देशक करण जौहर को कभी पूछताछ के लिए नहीं बुलाएगी, क्योंकि वे आदित्य ठाकरे के बेस्ट फ्रेंड हैं।

यह बात टीम कंगना ने सुमित ठाकुर नाम के ट्विटर यूजर के पोस्ट पर कमेंट करते हुए कही है। कंगना खुद सोशल मीडिया में नहीं हैं और @KanganaTeam नामक ट्विटर हैंडल से वे अपना पक्ष रखती रहती हैं। वहीं आदित्य ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे और राज्य सरकार में मंत्री हैं।

टीम कंगना ने कहा है, “वे उन्हें कभी नहीं बुलाएँगे, क्योंकि वे आदित्य उद्धव ठाकरे के बेस्ट फ्रेंड हैं। यह उनकी सरकार है और उन्होंने कंगना के इंटरव्यू से पहले ही यह केस बंद कर दिया। यह इस बात का सबूत है कि वे अपने दोस्तों को बचा रहे हैं।”

ठाकुर ने करण जौहर की फोटो के साथ ट्वीट किया था, “35 दिन हो गए हैं और अब भी सबसे बड़े संदिग्ध करण जौहर को सुशांत सिंह राजपूत केस में पूछताछ के लिए नहीं बुलाया गया है। मैं एडवोकेट रसपाल सिंह रेणु के जरिए मुंबई पुलिस के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट में पीआईएल दाखिल कर रहा हूॅं ताकि सार्वजनिक हित में स्वतंत्र और निष्पक्ष जॉंच हो सके।”

सोशल मीडिया पर कई लोगों ने टीम कंगना के बयान का समर्थन किया है। इससे पहले यह खबर आई थी कि इस मामले में मुंबई पुलिस ने पूछताछ के लिए करण जौहर के मैनेजर को बुलाया है।

गायक सोनू निगम ने भी कंगना रनौत की सराहना की है। उन्होंने कहा कि कंगना इतनी मजबूत हैं, तभी वो अपने मन की बात इतने सही तरीके से बोल पाती हैं। सोनू निगम ने कहा कि उनके मन में कंगना के लिए काफी सम्मान है, क्योंकि पिछले 4-5 वर्षों से वो जो कर रही हैं, उसके लिए सोच में स्पष्टता होनी ज़रूरी है और साहस भी होना चाहिए। उन्होंने कंगना के उस आरोप का भी समर्थन किया, जिसमें उन्होंने महेश भट्ट पर चप्पल फेंकने का आरोप लगाया था।

बता दें कि फ़रवरी 2020 में कंगना रनौत की बहन रंगोली चंदेल फ़िल्म निर्माता एवं निर्देशक महेश भट्ट से जुड़ा एक वाकया बताया था। महेश भट्ट चाहते थे कि कंगना रनौत उनकी फ़िल्म में फिदायीन यानी आत्मघाती हमलावर का किरदार अदा करें। कंगना को ये रोल पसंद नहीं आया और उन्होंने इनकार कर दिया। महेश इस बात से इतने आग-बबूला हो गए कि उन्होंने कंगना को चप्पल दे मारी।

इधर बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जाँच कर रही मुंबई पुलिस सोमवार (जुलाई 27, 2020) को फिल्म निर्देशक महेश भट्ट को पूछताछ के लिए बुलाएगी। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने इसकी जानकारी दी है। अनिल देशमुख ने जोर देते हुए कहा कि निर्देशक को सुशांत की कथित आत्महत्या के संभावित कारणों की जाँच के तहत पुलिस के सामने गवाही देनी होगी।

इसके अलावा, फिल्म निर्माता करण जौहर के मैनेजर को भी तलब किया गया है। देशमुख ने कहा कि अगर जरूरत लगी तो खुद करण जौहर को भी हाजिर होने को कहा जा सकता है। उन्होंने कहा कि जाँच से पता चलेगा कि क्या फिल्म इंडस्ट्री में गुटबाजी है, जो फिल्म उद्योग में लोगों के उत्पीड़न का कारण बनता है, जैसा कि कंगना ने आरोप लगाया है।

सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में सीबीआई जाँच की माँग भी तेज़ होते जा रही है। पूर्व केंद्रीय मंत्री सुब्रमण्यन स्वामी ने पीएम मोदी को पत्र लिख कर ये माँग रखी है, जिसे प्रधानमंत्री द्वारा रिसीव कर लिया गया है। उन्होंने वकील ईशकरण भंडारी को इस मामले को देखने को कहा है। शेखर सुमन, शेखर कपूर और शत्रुघ्न सिन्हा सहित कई बड़ी फ़िल्मी हस्तियों ने इस माँग को दोहराया है। बिहार में इस घटना को लेकर खासा आक्रोश है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘PM मोदी की गारंटी पर देश को भरोसा, संविधान में बदलाव का कोई इरादा नहीं’: गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- ‘सेक्युलर’ शब्द हटाने...

अमित शाह ने कहा कि पीएम मोदी ने जीएसटी लागू की, 370 खत्म की, राममंदिर का उद्घाटन हुआ, ट्रिपल तलाक खत्म हुआ, वन रैंक वन पेंशन लागू की।

लोकसभा चुनाव 2024: पहले चरण में 60+ प्रतिशत मतदान, हिंसा के बीच सबसे अधिक 77.57% बंगाल में वोटिंग, 1625 प्रत्याशियों की किस्मत EVM में...

पहले चरण के मतदान में राज्यों के हिसाब से 102 सीटों पर शाम 7 बजे तक कुल 60.03% मतदान हुआ। इसमें उत्तर प्रदेश में 57.61 प्रतिशत, उत्तराखंड में 53.64 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe