Saturday, July 20, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजननेहा राठौर से 7 सवाल, 72 घंटे में देना होगा जवाब: कानपुर में माँ-बेटी...

नेहा राठौर से 7 सवाल, 72 घंटे में देना होगा जवाब: कानपुर में माँ-बेटी की मौत पर ‘नफरत’ फैलाने वाला गाना, एक्शन में UP पुलिस

कानपुर पुलिस ने नेहा राठौर से पूछा है कि क्या वो अपने गाने से समाज में पड़ रहे असर से वाकिफ हैं या नहीं। इसी सवाल के बाद पुलिस का कहना है कि नेहा के गीत से समाज में न सिर्फ तनाव बल्कि वैमनस्यता के हालात बने हैं।

‘यूपी में का बा’ गाने वाली बिहार की लोकगायिका नेहा सिंह राठौर को उत्तर प्रदेश पुलिस ने नोटिस जारी किया है। यह नोटिस कानपुर देहात में माँ-बेटी की जल कर हुई मौत के बाद गाए गाने के बाद जारी की गई है। इस गाने का नाम सीजन-2 दिया गया था। पुलिस का मानना है कि नेहा राठौर का गाना समाज में नफरत घोलने का काम कर रहा है। पुलिस ने नोटिस में 7 सवालों के जवाब 3 दिनों में माँगे हैं। समय सीमा में जवाब न देने पर कार्रवाई की चेतावनी दी गई है।

यह नोटिस कानपुर देहात जिले के थाना अकबरपुर SHO द्वारा जारी हुई है। इस नोटिस को थाना प्रभारी प्रमोद कुमार ने धारा 160 CRPC के अंतर्गत जारी किया है। बताया जा रहा है कि UP पुलिस ने यह नोटिस नेहा सिंह राठौर के दिल्ली स्थित घर पर मंगलवार (21 फरवरी 2023) को रिसीव करवाया। इस दौरान नेहा सिंह राठौर ने अपने घर के आगे उत्तर प्रदेश पुलिस वालों की एक वीडियो भी शेयर किया। वीडियो में पुलिस वाले नेहा राठौर से नोटिस की रिसीविंग ले रहे हैं।

अकबरपुर थाना पुलिस द्वारा नेहा से जो सवाल किए गए हैं, उसमें पहला सवाल है कि वीडियो में ‘वो खुद हैं या कोई और’। दूसरे सवाल में पुलिस ने वीडियो को नेहा राठौर के यूट्यूब और ट्विटर पर खुद से अपलोड किए जाने या किसी और से करवाने की जानकारी माँगी गई है।

तीसरे सवाल में पुलिस ने पूछा है कि नेहा राठौर अपने नाम से बना यूट्यूब और ट्विटर खुद से चलाती हैं या किसी और द्वारा ऑपरेट किया जाता है। जबकि चौथे सवाल में नेहा राठौर द्वारा गाया गाना खुद से लिखे जाने या किसी और से लिखवाने की जानकारी माँगी गई है।

इसी नोटिस के 5वें सवाल में पुलिस ने नेहा राठौर से पूछा है कि क्या वो अपने द्वारा गाए गए गीत को सर्टिफाइड करती हैं। जबकि छठे सवाल में पुलिस ने ‘का बा’ वाले गीत के किसी और द्वारा लिखे जाने की स्थिति में नेहा द्वारा इसकी प्रमाणिकता की पुष्टि की पड़ताल करने संबंधी जानकारी माँगी गई है।

सातवें और अंतिम सवाल में कानपुर देहात पुलिस ने नेहा राठौर से पूछा है कि क्या वो अपने गाने से समाज में पड़ रहे असर से वाकिफ हैं या नहीं। इसी सवाल के बाद पुलिस का कहना है कि नेहा के गीत से समाज में न सिर्फ तनाव बल्कि वैमनस्यता के हालात बने हैं।

SHO अकबरपुर प्रमोद कुमार शुक्ला द्वारा जारी इस नोटिस में 3 दिनों के भीतर नेहा द्वारा जवाब न मिलने पर उनके खिलाफ उचित धाराओं में FIR दर्ज करके कार्रवाई करने की बात भी कही गई है। कानपुर देहात पुलिस के डिप्टी SP अकबरपुर ने इस नोटिस की पुष्टि करते हुए बताया कि नोटिस का जवाब मिलने पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली हाईकोर्ट ने शिव मंदिर के ध्वस्तीकरण को ठहराया जायज, बॉम्बे HC ने विशालगढ़ में बुलडोजर पर लगाया ब्रेक: मंदिर की याचिका रद्द, मुस्लिमों...

बॉम्बे हाईकोर्ट ने मकबूल अहमद मुजवर व अन्य की याचिका पर इंस्पेक्टर तक को तलब कर लिया। कहा - एक भी संरचना नहीं गिराई जाए। याचिका में 'शिवभक्तों' पर आरोप।

आरक्षण पर बांग्लादेश में हो रही हत्याएँ, सीख भारत के लिए: परिवार और जाति-विशेष से बाहर निकले रिजर्वेशन का जिन्न

बांग्लादेश में आरक्षण के खिलाफ छात्र सड़कों पर उतर आए हैं। वहाँ सेना को तैनात किया गया है। इससे भारत को सीख लेने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -