Monday, July 15, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनजायरा वसीम के मज़हब को आधार बनाकर बॉलीवुड छोड़ने पर शिवसेना-BJP ने की आलोचना

जायरा वसीम के मज़हब को आधार बनाकर बॉलीवुड छोड़ने पर शिवसेना-BJP ने की आलोचना

जो लोग इसकी तुलना नुसरत जहाँ के फतवे से कर रहे हैं, वो बिल्कुत गलत हैं। उन्होंने याद दिलाया कि जायरा ने जब से हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा है, तभी से वो कश्मीरी कट्टरपंथियों के निशाने पर रही हैं।

दंगल और सीक्रेट सुपरस्टार फेम एक्ट्रेस जायरा वसीम के धर्म को आधार बनाकर एक्टिंग छोड़ने का फैसला तूल पकड़ता जा रहा है। धर्म को आधार बनाकर जायरा के ऐक्टिंग छोड़ने के फैसले पर राजनीतिक प्रतिक्रियाओं का दौर भी शुरू हो गया है। जहाँ कुछ लोगों ने इस फैसले को सही बताया है तो वहीं कुछ लोगों ने इस गलत ठहराया है। जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेस के नेता उमर अब्दुल्ला ने जायरा के फैसले का समर्थन करते हुए फैसले का सम्मान करने की सलाह दी है, तो वहीं शिवसेना और भाजपा ने इसकी आलोचना की है। 

शिवसेना ने जायरा के फैसले में धर्म को शामिल किए जाने पर आपत्ति जताई। शिवसेना की प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने एक के बाद कई ट्वीट कर धर्म के आधार पर एक्टिंग छोड़ने के फैसले की आलोचना की। प्रियंका ने ट्वीट कर लिखा, “यदि आपकी आस्था आपको आकर्षित कर रही है, तो आप इसका पालन कर सकते हैं, लेकिन कृपया धर्म को आधार बनाकर अपने करियर का फैसला ना करें। यह आपके धर्म को असहिष्णु बताता है, जबकि हकीकत में ऐसा नहीं है। यह जायरा वसीम के धर्म लिए भी एक बड़ा प्रतिगामी कदम है और इस गलत धारणा को और पुष्ट करता है कि इस्लाम में सहिष्णुता की जगह नहीं है।”

अपने अगले ट्वीट में प्रियंका ने कहा, “हिंदी सिनेमा में इसी आस्था के लोगों ने सफलता के कई कीर्तिमान गढ़े हैं, क्या उन्हें धर्म के बारे में पता नहीं है? कुछ ने जायरा के फैसले की विनोद खन्ना के उस फैसले के साथ बराबरी की है। जब विनोद खन्ना ने कहा था कि उनका धर्म उनके करियर के चुनाव करने के दौरान आड़े आ रहा है?”

इसके अलावा, प्रियंका ने एक और ट्वीट करते हुए कहा कि जो लोग इसकी तुलना नुसरत जहाँ के फतवे से कर रहे हैं, वो बिल्कुत गलत हैं। उन्होंने याद दिलाया कि जायरा ने जब से हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा है, तभी से वो कश्मीरी कट्टरपंथियों के निशाने पर रही हैं।

भाजपा प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने भी धर्म के आधार पर एक्टिंग छोड़ने के फैसले को दबाव में लिया हुआ फैसला बताया। उन्होंने भी इस बात का जिक्र किया कि जायरा लगातार कट्टरपंथी समूहों के निशाने पर थीं। बता दें कि, जायरा वसीम ने रविवार (जून 30, 2019) को अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर पोस्ट लिखकर इस बात की जानकारी दी थी कि वो एक्टिंग छोड़ रही हैं। 5 साल पहले फिल्म इंडस्ट्री में आने का उनका फैसला गलत था। ये उन्हें अल्लाह के रास्ते से दूर ले जा रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -