Sunday, September 26, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनआदित्य ठाकरे का कनेक्शन अभिनेत्रियों के साथ हो सकता है, मगर सुशांत की मौत...

आदित्य ठाकरे का कनेक्शन अभिनेत्रियों के साथ हो सकता है, मगर सुशांत की मौत से उसका कोई लेना-देना नहीं: सुब्रमण्यम स्वामी

"कोई उनके बेटे (आदित्य ठाकरे) के नाम को इस मामले में खींचने की कोशिश कर रहा है, लेकिन मेरे पास मौजूद सबूतों के आधार पर मैं आपको बता सकता हूँ कि उसका बेटा अभिनेत्रियों के साथ हो सकता है, मगर उसका सुशांत की मौत से कोई लेना-देना नहीं है।"

बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी अपने तेज तर्रार अंदाज के लिए जाने जाते हैं। बेबाकी से बोलना उनकी फितरत है। सुशांत सुसाइड केस में भी स्वामी एक सक्रिय भूमिका निभाते नजर आ रहे हैं। 2 अगस्त को “विराट हिंदुस्तान संगम” के साथ एक लाइव प्रश्न और उत्तर सत्र में बात करते हुए, उन्होंने आरोप लगाया कि जो सबूत उन्होंने एकत्र किए हैं, उससे यह स्पष्ट होता है कि कोई सीएम (उद्धव ठाकरे) को डराने की कोशिश कर रहा है।

उन्होंने कहा, “कोई उनके बेटे (आदित्य ठाकरे) के नाम को इस मामले में खींचने की कोशिश कर रहा है, लेकिन मेरे पास मौजूद सबूतों के आधार पर मैं आपको बता सकता हूँ कि उसका बेटा अभिनेत्रियों के साथ हो सकता है, मगर उसका सुशांत की मौत से कोई लेना-देना नहीं है।”

उन्होंने इंटरव्यू में आईपीएल सहित विभिन्न विषयों पर अपने विचार व्यक्त किए। जैसे कि बॉलीवुड में “माफिया” और सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु।

स्वामी ने आरोप लगाया कि जो व्यक्ति इस मामले में शामिल है वह संभवत: किसी और का बेटा है, जिसका नाम लेने की स्थिति में वे नहीं है क्योंकि उनके पास पर्याप्त सबूत नहीं हैं। उन्होंने दावा किया कि उनके पास ऐसे शख्स के बेटे के खिलाफ सबूत है जोकि बहुत पावरफुल है। जिसका नाम बाहर आने पर वह सिस्टम को काफी प्रभावित कर सकता है।

उन्होंने कहा, “हमारे पास एक ऐसी स्थिति है जहाँ राजनेता, गैंगस्टर और सिनेमा के सितारे जिनको लोग सम्मान देते हैं, उन लोगों ने एक कार्टेल बनाया है जो यह सुनिश्चित करना चाहता है कि सबसे खराब इंसान हमारे अभिनेता और अभिनेत्री बनें।

वहीं कोई और शख्श जो अपने साथ कुछ शालीनता, कुछ शैक्षिक पृष्ठभूमि, और कुछ नैतिकता लेकर आता है उन्हें हटा दिया जाता है। उन्हें (फिल्मों में) रोल नहीं दिया जाता है। इसके अलावा उनकी हत्या कर दी जाती है। यह एक ऐसी चीज है जिसे हम अपने लोकतांत्रिक देश में स्वीकार नहीं कर सकते।

स्वामी ने कहा कि वह सुशांत सिंह को न्याय दिलाने के मामले में लोगों द्वारा उठाई जा रही आवाज को देख कर खुश है। खासकर जब उन्होंने घोषणा की कि वह भी इस मामले में पूरा सहयोग देंगे। भाजपा सांसद ने कहा कि, उन्होंने ईशान सिंह को अदालत में सहायता के लिए नामित किया था। इसके साथ ही कानून के तहत जाँच में भी सहयोग की बात कही।

उन्होंने कहा कि सरकार को न केवल केंद्रीय जाँच ब्यूरो (सीबीआई) से मामले की जाँच के लिए कहना चाहिए बल्कि राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) को भी शामिल करना चाहिए क्योंकि इस मामले में दाऊद का एक आतंकवादी एंगल भी है।

सीबीआई द्वारा मामले की जाँच के निर्देश के पहले यह प्रश्न और उत्तर सत्र हुआ था। वहीं जब 5 अगस्त को अटॉर्नी जनरल ने भारत के सर्वोच्च न्यायालय को सूचित किया कि भारत सरकार पहले ही सीबीआई को इस मामले को उठाने का निर्देश दे चुकी है, तो स्वामी ने ट्वीट किया और कहा, “केंद्र ने SC को सूचित किया है कि सुशांत मामले को सीबीआई को सौंप दिया गया है। क्या मैंने अपनी प्रतिबद्धता पूरी कर ली है और मैं स्वतंत्र हूँ? “

सुशांत सिंह राजपूत केस

गौरतलब है कि 14 जून को सुशांत अपने मुंबई स्थित फ्लैट में मृत मिले थे। इस मामले में मुंबई पुलिस की जाँच से असंतुष्‍ट सुशांत के पिता ने पटना में एफआइआर दर्ज कराई। इसमें उन्‍होंने बेटे की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती व उनके परिवार पर धन उगाही, ब्‍लैकमेल, सुसाइड के लिए उकसाने आदि के कई गंभीर आरोप लगाए। इस मामले की जाँच के लिए जब बिहार पुलिस मुंबई पहुँची तो वहाँ उसे असहयोग का सामना करना पड़ा।

फिर, बिहार सरकार की सिफारिश पर केंद्र सरकार ने यह जाँच सीबीआइ को सौंप दी। वहीं अब सोशल मीडिया पर स्टन गन थ्योरी सामने आई है, जिसे एक यूजर ने सोशल मीडिया पर डाला। वहीं इस थ्योरी को मद्देनजर रखते हुए बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने सुशांत सिंह राजपूत मृत्यु मामले की एनआईए जाँच की माँग की है। वहीं शेखर सुमन ने रिया के खिलाफ आवाज बुलंद करते हुए उसकी गिरफ्तारी की माँग की थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केरल: CPI(M) यूथ विंग कार्यकर्ता ने किया दलित बच्ची का यौन शोषण, वामपंथी नेताओं ने परिवार को गाँव से बहिष्कृत किया

केरल में DYFI कार्यकर्ता पर एक दलित बच्ची के यौन शोषण का आरोप लगा है। बच्ची की उम्र मात्र 9 वर्ष है। DYFI केरल की सत्ताधारी पार्टी CPI(M) का यूथ विंग है।

कॉन्ग्रेसियों ने BJP सांसद व भाजपा कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, बरसाए ईंट-पत्थर: 9 बार के कॉन्ग्रेस MLA पर आरोप

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में भाजपा सांसद संगम लाल गुप्ता की पिटाई की गई है। 9 बार के विधायक प्रमोद तिवारी और कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं पर इस घटना को अंजाम देने के आरोप लगे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,375FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe