Wednesday, May 22, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनअमित शाह के 'ऑफिस' से फोन, जयललिता के परिवार से हूँ... जैकलीन फर्नांडीस को...

अमित शाह के ‘ऑफिस’ से फोन, जयललिता के परिवार से हूँ… जैकलीन फर्नांडीस को ठग सुकेश चंद्रशेखर ने ऐसे फँसाया

"गृह मंत्री अमित शाह के कार्यालय से फोन आया... वह सरकार में एक बहुत ही महत्वपूर्ण व्यक्ति हैं" - इस फर्जी फोन के बाद जैकलीन फर्नांडीस ने सुकेश चंद्रशेखर से दोस्ती की और खुद के अलावा बहन-जीजा तक को बहुत ज्यादा पैसे और महंगे गिफ्ट दिलवाए।

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने 200 करोड़ रुपए की रंगदारी और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में चार्जशीट दाखिल कर दी है। इसमें बॉलीवुड अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडीज का भी जिक्र है। इसमें बताया गया है कि कथित ठग सुकेश चंद्रशेखर ने किस तरह जैकलीन को दोस्ती के लिए अप्रोच किया।

जयललिता के परिवार से!

ईडी के चार्जशीट के मुताबिक, ठग सुकेश चंद्रशेखर ने अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडीज से दोस्ती करने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के कार्यालय नंबर को ‘स्पूफ’ करके फोन किया। उसने यह दावा किया कि वह तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री जे जयललिता के “राजनीतिक परिवार” से है। ईडी ने धनशोधन रोधी कानून (PMLA) के तहत दाखिल आरोपपत्र में यह जानकारी दी है।

क्या होता है कॉल स्पूफ

‘कॉल स्पूफ’ का अर्थ होता है कि फोन की घंटी बजने के दौरान फोन करने वाले का वास्तविक नंबर नहीं, बल्कि किसी और का नंबर दिखता है।

ईडी ने कहा, “दिसंबर, 2020 और जनवरी, 2021 में कई हफ्तों से जैकलीन फर्नांडीस से संपर्क करने की कोशिश चंद्रशेखर कर रहा था। हालाँकि जैकलिन ने उसका जवाब नहीं दिया था क्योंकि उन्हें कई कॉल आए थे और उन्हें यह पता नहीं था कि वह व्यक्ति कौन था।”

एजेंसी ने कहा, “जैकलिन के मेकअप आर्टिस्ट शान मुथाथिल से एक सरकारी कार्यालय के नंबर से संपर्क किया गया और कहा गया कि जैकलीन फर्नांडीस को शेखर से संपर्क करना चाहिए क्योंकि वह एक महत्वपूर्ण व्यक्ति हैं और उनसे बात करना चाहते हैं।”

ईडी ने कहा कि उनके मेकअप आर्टिस्ट को “गृह मंत्री अमित शाह के कार्यालय से फोन आया था, जिसमें उन्हें शेखर उर्फ सुकेश चंद्रशेखर से संपर्क करने के लिए कहा गया क्योंकि वह सरकार में एक बहुत ही महत्वपूर्ण व्यक्ति हैं”। एजेंसी ने कहा, “उक्त कॉल गृह मंत्री अमित शाह के कार्यालय से की गई थी, जो जाँच के अनुसार एक फर्जी कॉल थी और आरोपित सुकेश चंद्रशेखर द्वारा की गई थी।”

आरोप पत्र में कहा गया है कि कई हिंदी फिल्मों में अभिनय कर चुकीं श्रीलंकाई नागरिक जैकलीन फर्नांडीस ने बाद में ठग सुकेश चंद्रशेखर से संपर्क किया। इसके बाद ठग ने सन टीवी के मालिक के रूप में अपना परिचय दिया। उसने (चंद्रशेखर) यह भी कहा कि वह जयललिता के राजनीतिक परिवार से हैं और वे चेन्नई से हैं। चंद्रशेखर ने कहा कि वह उनके बहुत बड़े प्रशंसक हैं और उन्हें दक्षिणी फिल्म उद्योग में फिल्में करनी चाहिए और सन टीवी के पास उनके लिए कई प्रोजेक्ट्स हैं।

जैकलीन से दो बार हो चुकी है पूछताछ

एजेंसी ने इस साल दो बार 36 वर्षीय जैकलीन फर्नांडीज का बयान दर्ज किया, जिसमें उन्होंने कहा कि चंद्रशेखर ने खुद का परिचय “शेखर रत्न वेला” के रूप में दिया था। एजेंसी ने इस महीने की शुरुआत में विशेष धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) अदालत के समक्ष आरोपपत्र दायर किया था और चंद्रशेखर, उसकी पत्नी लीना मारिया पॉल और छह अन्य को नामजद किया था।

ED की चार्जशीट के मुताबिक, सुकेश ने जैकलीन को एक विदेशी घोड़ा, गुच्ची के तीन डिजाइनर बैग, शेनल और गुच्ची (Gucci) के कपड़े, लुई वीटॉन (Louis Vuitton) के शूज, दो डायमंड ईयररिंग, मल्टीस्टोन ईयररिंग और दो हरमेस ब्रेसलेट गिफ्ट किए थे, जिनकी कीमत करोड़ों रुपए में हैं।

सुकेश ने जैकलीन को एक मिनी कूपर कार भी गिफ्ट की थी, जो उन्होंने वापस कर दी थी। सुकेश ने जैकलीन के जीजा वारेन फर्नांडिस के अकाउंट में भी 15,00,000 रुपए ट्रांसफर किए थे, जो ऑस्ट्रेलिया में रहता है। जैकलीन ने बताया कि इसके अलावा सुकेश ने जैकलीन को 15 लाख रुपए कैश भी भेजे थे।

अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडीस ने अपने बयान में इस बात की पुष्टि की है कि वह चंद्रशेखर को शेखर रत्न वेला के रूप में जानती थी और उसने कहा था कि वह सन टीवी का मालिक है। जैकलीन ने इस बात को भी माना कि सुकेश ने यूएसए में जैकलीन की बहन गेराल्डिन फर्नांडीस को 1,50,000 अमरीकी डॉलर उधार दिए थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -