Wednesday, September 22, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनसवाल- बच्चे की झलक कब, जवाब- उनके पिता से पूछिए: नुसरत जहाँ ने बहुत...

सवाल- बच्चे की झलक कब, जवाब- उनके पिता से पूछिए: नुसरत जहाँ ने बहुत कुछ बताया, पर नहीं खोला बच्चे के पिता का नाम

"यह सवाल आपको उसके पिता से पूछना चाहिए। वह इस समय उसे किसी को देखने नहीं दे रहे हैं।"

बंगाली फिल्मों की अभिनेत्री और पश्चिम बंगाल के बशीरहाट से तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) की सांसद नुसरत जहाँ ने हाल ही में एक बच्चे को जन्म दिया है। उन्होंने बेटे का नाम ‘Yishaan’ रखा है, जिसे हिंदी में कई जगह ‘ईशान’ भी पढ़ा जा रहा है। माँ बनने के बाद पहली बार सार्वजनिक तौर पर नजर आईं नुसरत ने बच्चे, अभिनेता और बीजेपी नेता यश दासगुप्ता को लेकर बात की। लेकिन उस सवाल का जवाब नहीं दिया जिसके बारे में उनके प्रशंसक जानना चाहते हैं।

यह सवाल है कि उनके बच्चे के पिता कौन हैं। बताया जाता है कि पति निखिल जैन से अलगाव के बाद से नुसरत लिव इन में यश के साथ रह रहीं हैं। वहीं निखिल बता चुके हैं कि यह बच्चा उनका नहीं है। इसके बाद से ही बच्चे के पिता को लेकर अटकलें लगती रही है।

नुसरत जहाँ ने बुधवार (8 सितंबर 2021) को यश दासगुप्ता को अपने बच्चे का अभिभावक बताया। उन्होंने कहा कि यश के अभिभावकत्व में अच्छा समय बीत रहा है। नुसरत से जब उनके बेटे की झलक दिखाने को लेकर सवाल किया गया तो अभिनेत्री ने कहा, “यह सवाल आपको उसके पिता से पूछना चाहिए। वह इस समय उसे किसी को देखने नहीं दे रहे हैं।” उन्होंने यह भी कहा कि बच्चे के पिता के चाहने पर ही उसे देखा जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि अभिनेत्री नुसरत जहाँ ने 26 अगस्त को अपने बच्चे को जन्म दिया था। बच्चे के जन्म के बाद निखिल जैन ने शुभकामनाएँ देते हुए कहा था, “हमारे बीच आपसी मतभेद हो सकते हैं, फिर भी मैं नवजात बच्चे और उसकी माँ को शुभकामनाएँ देता हूँ। मैं बच्चे के उज्जवल भविष्य के लिए कामना करता हूँ।” उससे पहले जब नुसरत जहाँ के गर्भवती होने की खबरें सामने आई थीं तो उन्होंने कहा था कि वे बीते 6 महीने से भी अधिक समय से नुसरत के साथ रिलेशन में नहीं थे। ऐसे में यह बच्चा उनका नहीं है।

नुसरत जहाँ और निखिल जैन ने कुछ समय तक डेटिंग करने के बाद 19 जून 2019 को तुर्की में एक निजी शादी समारोह में शादी कर ली थी। इसके बाद जून 2021 में इस शादी को अमान्य बताते हुए कहा था यह तुर्की में हुई थी, इसलिए यह भारतीय कानूनों के मुताबिक, अमान्य है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गुजरात के दुष्प्रचार में तल्लीन कॉन्ग्रेस क्या केरल पर पूछती है कोई सवाल, क्यों अंग विशेष में छिपा कर आता है सोना?

मुंद्रा पोर्ट पर ड्रग्स की बरामदगी को लेकर कॉन्ग्रेस पार्टी ने जो दुष्प्रचार किया, वह लगभग ढाई दशक से गुजरात के विरुद्ध चल रहे दुष्प्रचार का सबसे नया संस्करण है।

‘मुंबई डायरीज 26/11’: Amazon Prime पर इस्लामिक आतंकवाद को क्लीन चिट देने, हिन्दुओं को बुरा दिखाने का एक और प्रयास

26/11 हमले को Amazon Prime की वेब सीरीज में मु​सलमानों का महिमामंडन किया गया है। इसमें बताया गया है कि इस्लाम बुरा नहीं है। यह शांति और सहिष्णुता का धर्म है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,782FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe