Tuesday, May 17, 2022
Homeविविध विषयअन्यपहाड़न है, कितना देती है... यूट्यूबर भुवन बाम की अश्लील कॉमेडी सुनी क्या, नेटिजन्स...

पहाड़न है, कितना देती है… यूट्यूबर भुवन बाम की अश्लील कॉमेडी सुनी क्या, नेटिजन्स बोले- कार्रवाई करे NCW

भुवन बाम की हालिया वीडियो 7 मिनट 15 सेकेंड की है। इसमें पहाड़न महिलाओं पर अश्लील टिप्पणी को 5 मिनट 39 सेकेंड के बाद सुन सकते हैं। यही वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर हो रही है।

यूट्यूब के जरिए पूरी दुनिया में मशहूर हो चुके भुवन बाम की हालिया वीडियो पर विवाद हो गया है। आरोप है कि भुवन ने वीडियो में पहाड़न महिलाओं पर अश्लील टिप्पणी करते हुए हास्य परोसा। अब उनकी इस वीडियो की छोटी क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल है और लोग इसे देखकर उनके ऊपर कानूनी कार्रवाई से लेकर उनके चैनल को बंद कराने की माँग कर रहे हैं।

भुवन बाम की विवादित वीडियो

बता दें कि 25 मार्च 2022 को बीबी की वाइन्स नाम के अपने यूट्यूब चैनल पर भुवन बाम ने यह वीडियो अपलोड की थी। ‘ऑटोमैटिक गाड़ी’ वाले टाइटल के साथ अपलोड की गई इस वीडियो को अब तक 1 करोड़ से ज्यादा लोगों ने देख लिया है। वहीं इसे 1.9 मिलियन लाइक्स मिल चुके हैं। भुवन बाम का चैनल भी भारत के जाने माने यूट्यूब चैनल्स में से एक है। उनके खुद 25.3 मिलियन सब्सक्राइबर हैं। हालिया वीडियो उनकी 7 मिनट 15 सेकेंड की है। इसमें पहाड़न महिलाओं पर अश्लील टिप्पणी को 5 मिनट 39 सेकेंड के बाद सुन सकते हैं। यही वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर हो रही है।

वीडियो में भुवन बाम को पिता के कैरेक्टर में गाड़ी के नाम पर दुअर्थी बातें करते सुना जा सकता है। वे कहते हैं- “दो लाख का बजट है मेरा। कोई मॉडल बढ़िया बताइए।” इसके बाद सामने से सवाल -जवाब होते हैं और पहाड़न शब्द आता है और फिर वीडियो में ‘कितना देती है’… ‘पीछे से भी ले सकते हैं’ … ‘जिगोलो’ जैसे शब्द यूज करते सुना जा सकता है।

भुवन बाम की NCW में शिकायत

पहाड़ी पांडा चैनल के आशीष नौटियाल ने इस क्लिप को साझा करते हुए महिला आयोग अध्यक्ष रेखा शर्मा से सवाल किया है कि क्या वो इस तरह महिला विरोधी टिप्पणी करने वाले भुवन बाम के ख़िलाफ़ कार्रवाई के निर्देश दे सकती हैं। उनकी माँग है कि ऐसे लोगों को युवाओं तक पहुँचने से रोका जाए और संभव हो तो चैनल भी डिलीट हो।

पहाड़ी लोग और उनकी अस्मिता पर बात करते हुए उत्तराखंड के नवयुवक आशीष ने कहा, “जिस तरह से कॉमेडियन आजकल ‘रशियन’ लिख या बोल देने का अर्थ सिर्फ ‘पोर्न’ मानने लगते हैं, क्या कल के दिन भुवन बाम जैसे लोगों के ऐसे कारनामों से ‘पहाड़न’ शब्द भी एक गाली नहीं बन जाएगा? और जिस तरह से कॉमेडीयंस की एक पूरी जमात ही आज ‘संस्कारी’ होने को गाली बना चुकी है, इस बात की क्या गारंटी है कि भुवन बाम ऐसा ही करने का प्रयास नहीं कर रहा है?” 

उनके अलावा तमाम अन्य यूजर्स भी इस तरह कॉमेडी के नाम पर पहाड़ी महिलाओं को निशाना बनाए जाने से नाराज हैं। बॉलीवुड लेखिका अद्वैता काला ने इस संबंध में आपत्ति दर्ज कराते हुए रेखा शर्मा को टैग किया है। उन्होंने वीडियो में इस्तेमाल शब्दों को लिखते हुए कहा- “कितना देती है- कहाँ से लेती है जैसे शब्द पहाड़ी या अन्य महिलाओं के लिए अस्वीकार्य हैं और रेप कल्चर को बढ़ावा देते हैं।” उन्होंने इस तरह की कॉमेडी को घटिया और नारीविरोधी बताया है।

पत्रकार किशोर जोशी ने इस वीडियो को घटिया बताते हुए कहा निहायत ही घटिया वीडियो और टिप्पणी है। कभी ऐसे लोगों को भी विल स्मिथ जैसा घूंसा पड़ेगा। इस तरह के बेहूदा वीडियो बनाने पर। सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर खुद पहाड़ी राज्य से आते हैं उनसे ऐसे लोगों के चैनल और कंटेंट पर पर ऐक्शन लेने की अपेक्षा तो रख ही सकते हैं।

गौरतलब है ट्विटर पर जाहिर किए जा रहे विरोध पर अभी तक यूट्यूबर की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। इसके अलावा जो शिकायत महिला आयोग से की गई है उस पर भी संज्ञान लेना अभी बाकी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभिनेत्री के घर पहुँची महाराष्ट्र पुलिस, लैपटॉप-फोन सहित कई उपकरण जब्त किए: पवार पर फेसबुक पोस्ट, एपिलेप्सी से रही हैं पीड़ित

अभिनेत्री ने फेसबुक पर 'ब्राह्मणों से नफरत' का आरोप लगाते हुए 'नर्क तुम्हारा इंतजार कर रहा है' - ऐसा लिखा था। हो चुकी हैं गिरफ्तार। अब घर की पुलिस ने ली तलाशी।

जिसे पढ़ाया महिला सशक्तिकरण की मिसाल, उस रजिया सुल्ताना ने काशी में विश्वेश्वर मंदिर तोड़ बना दी मस्जिद: लोदी, तुगलक, खिलजी – सबने मचाई...

तुगलक ने आसपास के छोटे-बड़े मंदिरों को भी ध्वस्त कर दिया और रजिया मस्जिद का और विस्तार किया। काशी में सिकंदर लोदी और खिलजी ने भी तबाही मचाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,268FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe