Friday, December 2, 2022
Homeविविध विषयअन्यकोरोना से देश में गई जो जान उनमें से 30% अकेले महाराष्ट्र से, मौत...

कोरोना से देश में गई जो जान उनमें से 30% अकेले महाराष्ट्र से, मौत के मामले में यूपी से आगे निकल गया केरल

यदि कोरोना वायरस के कुल केस को देखें तो महाराष्ट्र में 66 लाख से अधिक मामले सामने आए हैं। यह देश में सबसे अधिक है। इसके बाद केरल में 44 लाख से अधिक मामले हैं।

कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से भारत में अब तक 4,43,960 मौतें हुई हैं। इनमें से 30 फीसदी से ज्यादा लोगों की जान अकेले महाराष्ट्र्र में गई है। इस महामारी की वजह से महाराष्ट्र में 1,38,277 लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोना संक्रमण से जुड़े आँकड़े

आँकड़ों से पता चलता है कि कर्नाटक, तमिलनाडु, दिल्ली और केरल भी उन राज्यों में हैं जहाँ संक्रमण से ज्यादा मौतें हुई हैं। देश के ज्यादातर हिस्सों में अब महामारी पर काफी हद तक नियंत्रण दिख रहा है। लेकिन, केरल में लगातार मामले बढ़े रहे हैं जो बेहद चिंताजनक है।

केरल में मामले

फिलहाल केरल में नए मामले सामने आने की रफ्तार में कमी आई है। बावजूद इसके संक्रमण के नए मामलों में सबसे ज्यादा योगदान उसका ही है। केरल में वर्तमान में टेस्ट की पॉजिटिविटी रेट 16.5% है। इसका मतलब है कि केरल में प्रत्येक 100 जाँच में 17 लोगों में संक्रमण मिल रहा है।

यदि कोरोना वायरस के कुल केस को देखें तो महाराष्ट्र में 66 लाख से अधिक मामले सामने आए हैं। यह देश में सबसे अधिक है। इसके बाद केरल में 44 लाख से अधिक मामले हैं। इससे पहले अगस्त में केरल ने केवल पाँच दिनों में रिकॉर्ड 1.5 लाख नए मामले दर्ज किए थे। आँकड़े बताते हैं कि केरल में कोरोना के मामले बढ़े हैं, बावजूद इसके केरल के COVID-19 ‘प्रबंधन’ की राष्ट्रीय मुख्यधारा के मीडिया के साथ-साथ कुछ अंतरराष्ट्रीय मीडिया द्वारा लगातार सराहना की जा रही है। अब तक भारत में कुल सक्रिय कोरोना वायरस मामलों में से 56% से अधिक केरल से हैं।

सोमवार (13 सितंबर 2021) को कोरोना से होने वाली मौतों के मामले में उत्तर प्रदेश को पीछे छोड़ते हुए केरल सबसे अधिक मौतों वाला पाँचवाँ राज्य बन गया। बुधवार (15 सितंबर 2021) को केरल में 25,588 मरीज स्वस्थ हुए, जबकि 17,681 नए मामले सामने आए। केरल में बुधवार को ही कोरोना के चलते 208 लोगों की मौत हुई, जो कि भारत में सबसे अधिक है। पूरे देश में में कोरोना के 3,36,007 सक्रिय मामले हैं, जिनमें से अकेले 1,90,790 सक्रिय मामले केरल के हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मंदिर की जमीन पर शव दफनाने की अनुमति नहीं’: मद्रास हाईकोर्ट ने दिया अतिक्रमण हटाने का निर्देश

मद्रास हाईकोर्ट ने कहा कि शवों को दफनाने के लिए मंदिर की जमीनों का उपयोग नहीं किया जा सकता। कोर्ट ने अतिक्रमण हटाने का आदेश दिया है।

हिंदुओं के 40 साल तक अवैध पार्टनर, मुस्लिम फॉर्मूला से 18 साल में लड़की की शादी करो… उपजाऊ जमीन में बीज बोओ: बदरुद्दीन अजमल

"आप उपजाऊ जमीन में बीज बोएँगे तभी खेती अच्छी होगी। 18-20 साल की उम्र में लड़कियों की शादी करा दो और फिर देखो कितने बच्चे पैदा होते हैं।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
236,564FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe