Wednesday, August 4, 2021
Homeविविध विषयअन्यकोरोना चैलेंज के नाम पर एक और टिकटॉक यूजर ने चाटी टॉयलेट सीट, हुआ...

कोरोना चैलेंज के नाम पर एक और टिकटॉक यूजर ने चाटी टॉयलेट सीट, हुआ संक्रमण

लार्ज नाम का ये 21 वर्षीय लड़का वाकई अपनी इसी हरकत के कारण वायरस से संक्रमित हुआ है या नहीं, इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। लेकिन लोग इस समय सोशल मीडिया पर उसका विडियो शेयर कर उसे गैर जिम्मेदार बता रहे हैं। कुछ लोग तो ये सब देखकर उसका मजाक भी उड़ा रहे हैं।

कोरोना वायरस को एक मजाक समझकर उसे हल्के में लेने वाले और उस पर उल-जुलूल बयान जारी करने वाले धीरे-धीरे इसकी गंभीरता से वाकिफ हो रहे हैं। मगर, अभी भी कुछ सनकी लोग ऐसे हैं जो सब कुछ जानते समझते हुए इसे सिर्फ़ एक ट्रेंड मान रहे हैं और चैलेंज की तरह ले रहे हैं। नतीजतन वे खुद अपनी गलतियों के कारण इसका शिकार हो रहे हैं।

ताजा उदहारण देखिए। शुक्रवार को एक टिकटॉक यूजर ने अपनी एक विडियो डाली। विडियो में वो टॉयलेट सीट को चाटते नजर आया। इस दौरान लोगों ने उसकी बहुत आलोचना की। मगर उस पर कोई फर्क़ नहीं पड़ा। उसने इस विडियो को कोरोना वायरस चैलेंज बताया। लेकिन, इस हरकत के कुछ दिन बाद में मालूम पड़ा कि वो खुद कोरोना से संक्रमित हो गया है और इसकी जानकारी भी उसने विडियो डालकर सबको दी है।

अब हालाँकि, लार्ज नाम का ये 21 वर्षीय लड़का वाकई अपनी इसी हरकत के कारण वायरस से संक्रमित हुआ है या नहीं, इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। लेकिन लोग इस समय सोशल मीडिया पर उसका विडियो शेयर कर खूब आलोचना कर रहे हैं। उसे गैर जिम्मेदार बता रहे हैं। कुछ लोग तो ये सब देखकर उसका मजाक भी उड़ा रहे हैं। ट्विटर ने तो इसका अकाउंट भी सस्पेंड कर दिया है।

गौरतलब है कि कोरोना चैलेंज का नाम पर लापरवाही और बेहूदगी दिखाने वाले शख्स से पहले एवा नाम की टिकटॉक यूजर भी ऐसी हरकत करने के लिए खबरों में आई थीं। एवा ने 15 मार्च को विडियो बनाकर टिकटॉक पर अपलोड की थी और कैप्शन में लिखा था, प्लीज इसे रीट्विट करें, ताकि लोग जान सकें कि विमान में सफाई कैसे की जा सकती है। यहाँ हालाँकि कैप्शन में ऐसा कुछ नहीं था, लेकिन विडियो यदि देखें तो एवा इसमें कोरोना वायरस के नाम पर टॉयलेट की सीट को जीभ से चाटते देखी जा सकती हैं और ऐसी घटिया हरकत करने के बाद वो अपने हाथ से विक्टरी का साइन भी बनाती दिखती हैं।

इस विडियो को भी कुछ समय पहले खूब शेयर किया गया था और एवा की विडियो को देखने के बाद अधिकांश लोगों ने उस पर पॉजिटिव रिएक्ट नहीं किया है, जो कि एक संतोषजनक बात थी। लेकिन उस समय ये सवाल जरूर उठा था कि जरूरी नहीं प्रतिक्रिया देने वाला हर व्यक्ति समझदार ही हो, क्योंकि उन लोगों का क्या भरोसा जो हर डिजिटल चुनौती को पूरा करने के लिए आमादा हो जाते हैं और इसी जुगत में लग जाते हैं कि किसी तरह वह भी ऐसे स्टंट करके टिकटॉक स्टॉर बनें और उनकी विडियो भी वायरल हो जाए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

5 करोड़ कोविड टीके लगाने वाला पहला राज्य बना उत्तर प्रदेश, 1 दिन में लगे 25 लाख डोज: CM योगी ने लोगों को दी...

उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है, जिसने पाँच करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन का आँकड़ा पार कर लिया है। सीएम योगी ने बधाई दी।

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द सीएम हैप्पी एंड गे: केजरीवाल सरकार का घोषणा प्रधान राजनीतिक दर्शन

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द CM हैप्पी एंड गे, एक अंग्रेजी कहावत की इस पैरोडी में केजरीवाल के राजनीतिक दर्शन को एक वाक्य में समेट देने की क्षमता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,863FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe