Sunday, August 1, 2021
Homeविविध विषयअन्यकोरोना टीकाकरण में भारत ने अमेरिका को भी पीछे छोड़ा, लगातार 46वें दिन नए...

कोरोना टीकाकरण में भारत ने अमेरिका को भी पीछे छोड़ा, लगातार 46वें दिन नए संक्रमितों से अधिक रही ठीक होने वालों की संख्या

भारत में पिछले एक सप्ताह में ही 3.91 करोड़ लोगों को कोरोना वैक्सीन की खुराक दी गई। ये संख्या कनाडा, मलेशिया और सऊदी अरब जैसे देशों की जनसंख्या से भी अधिक है।

लोगों को कोरोना वैक्सीन डोज देने के मामले में भारत ने अमेरिका को भी पीछे छोड़ दिया है। सोमवार (जून 28, 2021) तक के आँकड़ों के अनुसार, भारत ने जनवरी 16, 2021 को टीकाकरण अभियान की शुरुआत की और अब तक देश में कोरोना वैक्सीन की 32.36 करोड़ डोज दी है। अमेरिका में भारत से पहले, यानी दिसंबर 14, 2020 को ही टीकाकरण अभियान शुरू हो गया था और वहाँ वैक्सीनेशन का आँकड़ा 32.33 करोड़ है।

भारत और अमेरिका के बाद इस सूची में यूनाइटेड किंगडम (UK) का स्थान आता है, जहाँ कोरोना टीकाकरण अभियान बाकी देशों से पहले ही शुरू हो गया था। वहाँ दिसंबर 8, 2020 को शुरू हुए वैक्सीनेशन प्रोग्राम के दौरान अब तक कोरोना वैक्सीन की 7.67 करोड़ चुकी है। इसके बाद क्रमशः यूरोप के ही तीनों देशों जर्मनी, इटली और फ्रांस का स्थान आता है, जहाँ वैक्सीनेशन प्रोग्राम दिसंबर 27, 2020 को ही शुरू हुआ था।

इन तीनों ही देशों में क्रमशः 7.14, 5.24 और 4.96 करोड़ लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 46,148 मामले सामने आए हैं। पिछले कुछ सप्ताह से कोरोना के मामलों में कमी आई है, लेकिन विशेषज्ञ अब भी तीसरी लहर की आशंका जता रहे हैं, जिसके लिए तैयारी चालू है। कुछ ही दिनों में बच्चों के लिए भी कोरोना वैक्सीन आने वाली है। इसका ट्रायल अंतिम चरण में है।

पिछले 24 घंटों में भारत में कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या 979 है। भारत में अब तक 3,02,79,331 लोगों को कोरोना अपना शिकार बना चुका है। साथ ही इस संक्रमण ने 3.96 लाख लोगों की जान ली है। भारत में 5.6% वयस्क ऐसे हैं, जिन्हें कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज दी जा चुकी है। हालाँकि, अमेरिका 40% नागरिकों का पूर्ण टीकाकरण कर चुका है। भारत में पिछले एक सप्ताह में ही 3.91 करोड़ लोगों को कोरोना वैक्सीन की खुराक दी गई।

ये संख्या कनाडा, मलेशिया और सऊदी अरब जैसे देशों की जनसंख्या से भी अधिक है। भारत में कोरोना के कुल मामलों के 1.89% केस ही अब सक्रिय बचे हैं। लगातार 46वें दिन ऐसा हुआ है, जब नए कोरोना संक्रमितों की संख्या से ठीक होने वाले लोगों की संख्या से कम रही। ‘डेली पॉजिटिविटी रेट’ 2.94% रहा और लगातार 21वें दिन ऐसा हुआ है जब ये आँकड़ा 5% से कम रहा। ये राहत की बात है।

जहाँ तक कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट की बात है, ये भारत सहित 12 देशों के लिए परेशानी का सबब बन चुका है। ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका जैसे देशों ने तो इससे निपटने के लिए लॉकडाउन भी लगाए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (जून 27, 2021) को ‘मन की बात‘ में लोगों को कोरोना वैक्सीन लेने के लिए जागरूक किया और बताया कि किस तरह 100 वर्ष की उम्र में भी उनकी माँ ने वैक्सीन की डोज ली।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ममता बनर्जी महान महिला’ – CPI(M) के दिवंगत नेता की बेटी ने लिखा लेख, ‘शर्मिंदा’ पार्टी करेगी कार्रवाई

माकपा नेताओं ने कहा ​कि ममता बनर्जी पर अजंता बिस्वास का लेख छपने के बाद से वे लोग बेहद शर्मिंदा महसूस कर रहे हैं।

‘मस्जिद के सामने जुलूस निकलेगा, बाजा भी बजेगा’: जानिए कैसे बाल गंगाधर तिलक ने मुस्लिम दंगाइयों को सिखाया था सबक

हिन्दू-मुस्लिम दंगे 19वीं शताब्दी के अंत तक महाराष्ट्र में एकदम आम हो गए थे। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक इससे कैसे निपटे, आइए बताते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,404FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe