Sunday, June 16, 2024
Homeविविध विषयअन्यदेश भर में 47 जगहों पर रोजगार मेला, PM मोदी ने 1 लाख को...

देश भर में 47 जगहों पर रोजगार मेला, PM मोदी ने 1 लाख को दिए नौकरी के लेटर: ;कर्मयोगी भवन’ की रखी आधारशिला, कहा- भर्ती प्रक्रिया अब पूरी तरह पारदर्शी

"पहले की सरकारों में नौकरी के लिए विज्ञापन जारी होने से लेकर नियुक्ति पत्र देने तक बहुत लंबा समय लगता था। इस देरी का फायदा उठाकर उस दौरान रिश्वत का खेल भी जमकर होता था। हमने भारत सरकार में भर्ती की प्रक्रिया को अब पूरी तरह पारदर्शी बना दिया है।"

सोमवार (12 फरवरी 2024) को देश भर में 47 जगहों पर रोजगार मेला का आयोजन किया गया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के जरिए 1 लाख से अधिक युवाओं को नियुक्ति-पत्र दिए। उन्होंने दिल्ली में ‘कर्मयोगी भवन’ के प्रथम चरण की आधारिशला भी रखी। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने भर्ती की प्रक्रिया को पूरी तरह पारदर्शी बना दिया है। भर्ती प्रक्रिया को निश्चित अवधि में पूरा करने पर सरकार का जोर है। इससे हर युवा को अपनी योग्यता साबित करने का समान अवसर मिल रहा है।

पिछली सरकार के मुकाबले डेढ़ गुणा अधिक सरकारी नौकरी देने की बात कहते हुए पीएम मोदी ने कहा, “युवाओं को भारत सरकार में नौकरी देने का अभियान लगातार तेज गति से चल रहा है। पहले की सरकारों में नौकरी के लिए विज्ञापन जारी होने से लेकर नियुक्ति पत्र देने तक बहुत लंबा समय लगता था। इस देरी का फायदा उठाकर उस दौरान रिश्वत का खेल भी जमकर होता था। हमने भारत सरकार में भर्ती की प्रक्रिया को अब पूरी तरह पारदर्शी बना दिया है। इतना ही नहीं सरकार का बहुत जोर है कि भर्ती प्रक्रिया एक तय समय के भीतर पूरी कर ली जाए।”

प्रधानमंत्री ने जिन युवाओं को नियुक्ति पत्र दिए हैं उनकी बहाली, राजस्व, गृह, उच्च शिक्षा, परमाणु ऊर्जा, रक्षा, वित्तीय सेवा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, जनजातीय मामले, रेलवे जैसे विभिन्न मंत्रालयों में होगी। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने हर युवा को अपनी योग्यता साबित करने का समान अवसर मुहैया कराया है। आज हर युवा के मन विश्वास है कि वह कड़ी मेहनत और अपनी प्रतिभा की दम पर अपनी जगह बना सकता है। उन्होंने कहा, “2014 के बाद से ही बीजेपी सरकार का प्रयास रहा है कि युवाओं को भारत सरकार से जोड़कर उन्हें राष्ट्र निर्माण की यात्रा में शामिल करें।”

उल्लेखनीय है कि जिस ‘कर्मयोगी भवन’ की पीएम मोदी ने आधारशिला रखी है, उसका मकसद ‘मिशन कर्मयोगी’ के विभिन्न हिस्सों के बीच सहयोग और तालमेल को बढ़ावा देना है। इस मिशन के जरिए नवनियुक्त कर्मियों को आईजीओटी कर्मयोगी पोर्टल पर एक ऑनलाइन मॉड्यूल ‘कर्मयोगी प्रारंभ’ के जरिए खुद को प्रशिक्षित किया जा रहा है। आईजीओटी कर्मयोगी पोर्टल पर 800 से अधिक ई लर्निंग पाठ्यक्रम मुहैया कराए गए हैं।

कब-कब लगे रोजगार मेले

रोजगार मेले का सिलसिला 22 अक्‍टूबर 2022 से शुरू हुआ था। इस पहले रोजगार मेला में 75 हजार से अधिक नियुक्ति पत्र बाँटे गए थे। इसके बाद 22 नवंबर 2022 को आयोजित दूसरे मेले में 71 हजार से ज्‍यादा युवाओं को जॉइनिंग लेटर मिले थे।

तीसरा मेला 20 जनवरी 2023 और चौथा 13 अप्रैल 2023 को लगा था। इन दोनों में 71-71 हजार से ज्‍यादा युवाओं को नियुक्ति पत्र दिए गए थे। पांचवाँ रोजगार मेला 16 मई, छठा 13 जून और सातवाँ 22 जुलाई 2023 को लगा था। इसमें 70-70 हजार से ज्‍यादा युवाओं को नियुक्ति पत्र सौंपे गए।

वहीं आठवाँ रोजगार मेला 28 अगस्त 2023 को लगा था। इसमें भी 51,000 से ज्‍यादा देश के युवाओं को सरकारी नौकरी के अपॉइंटमेंट लेटर दिए गए। इसके बाद 9वाँ रोजगार मेला 26 सितंबर को हुआ, जिसमें 51 हजार से ज्यादा लोगों को मिला अपॉइंटमेंट लेटर मिले थे। इसी तरह 30 नवंबर 2023 को देश के 37 जगहों पर लगे रोजगार मेले के दौरान 51 हजार से अधिक युवाओं को नियुक्ति पत्र सौंपे गए थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारतीय इंजीनियरों का ‘चमत्कार’, 8वाँ अजूबा, एफिल टॉवर से भी ऊँचा… जिस रियासी में हुआ आतंकी हमला वहीं दुनिया देखेगी भारत की ताकत, जल्द...

ये पुल 15,000 करोड़ रुपए की लागत से बना है। इसमें 30,000 मीट्रिक टन स्टील का इस्तेमाल हुआ है। ये 260 किलोमीटर/घंटे की हवा की रफ़्तार और -40 डिग्री सेल्सियस का तापमान झेल सकता है।

J&K में योग दिवस मनाएँगे PM मोदी, अमरनाथ यात्रा भी होगी शुरू… उच्च-स्तरीय बैठक में अमित शाह का निर्देश – पूरी क्षमता लगाएँ, आतंकियों...

2023 में 4.28 लाख से भी अधिक श्रद्धालुओं ने बाबा अमरनाथ का दर्शन किया था। इस बार ये आँकड़ा 5 लाख होने की उम्मीद है। स्पेशल कार्ड और बीमा कवर दिया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -